• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • बिन ब्याही मां बनी युवती, खाने के पड़ गए लाले, अस्पताल में बच्चा गोद लेने वालों की मची होड़
--Advertisement--

बिन ब्याही मां बनी युवती, खाने के पड़ गए लाले, अस्पताल में बच्चा गोद लेने वालों की मची होड़

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर शाहपुर के सरकारी अस्पताल में बालक को जन्म देने के बाद प्रेमी की गलत करतूत का अंजाम...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:35 AM IST
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

शाहपुर के सरकारी अस्पताल में बालक को जन्म देने के बाद प्रेमी की गलत करतूत का अंजाम युवती को भुगतना पड़ रहा है। युवती मजदूर परिवार से है। प्रसव के बाद उसकी हालत बिगड़ गई है। युवती के खानपान से लेकर बच्चे की देखभाल नहीं हो पा रही है।

वार्ड में भर्ती महिलाएं खाना खिला देती तो कभी भूखा ही सोना पड़ रहा है। युवती ने कहा- मेरे ही खाने के लाले है, इस बच्चे का पेट कहां से भरूंगी। सबकुछ अनजाने में हो गया। पीड़िता इच्छापुर के पास एक गांव की रहने वाली है। उसी के गांव का युवक नागोराव पिता रामा लकड़िया (20) और युवती (19) खेत के पास रहते हैं। खेत में काम करते हुए दो साल से दोनों की दोस्ती हो गई। दोस्ती प्यार में बदल गई। इस दौरान नागोराव ने युवती से कहा अपन दोनों शादी कर लेते हैं। शादी के नाम पर आरोपी ने युवती के साथ गंदा काम किया। पांच माह बीत जाने के बाद युवती को पेट दर्द व उल्टी की शिकायत होने पर डॉक्टर से जांच कराई। तब पता चला वह गर्भवती है। इस दौरान युवती के परिजन ने गांव में पंचायत बैठाई। पहली बार पंचायत होने पर युवक शादी करने को राजी हो गया। इसके बाद करीब चार बार पंचायत बैठाने के बाद भी युवक मना करता रहा। इधर डॉक्टर डिलीवरी की तारीख दे दी। शाहपुर पुलिस मामले में लगातार लापरवाही करती रही। 15 दिन पहले ही आरोपी को गिरफ्तार कर दुष्कर्म की धारा 376 के तहत केस दर्ज कर जेल भेजा। युवती ने शुक्रवार को बालक को जन्म दिया। बिन ब्याही युवती ने बालक को जन्म देने की खबर पता चलते ही शाहपुर के सरकारी अस्पताल में बालक को गोद लेने वालों की लाइन लग गई। कई लोगों ने रुपए का लालच देकर गुपचुप तरीके से बालक को देने की बात कही लेकिन मामला पुलिस तक पहुंचने के बाद युवती और उसके परिजन बच्चा नहीं दे सकते।

इच्छापुर के नागोनी गांव में शादी का लालच देकर युवक ने दुष्कर्म किया, पंचायत बैठाने के बाद भी शादी को राजी नहीं हुआ

युवती और उसके परिजन को नहीं पता है उम्र

युवती की उम्र क्या है परिजन भी नहीं बता पाए। उसकी मां ने कहा- मैं भी पढ़ी-लिखी नहीं हूं। मेरी पांच लड़कियां और दो लड़के हैं। हम मजदूरी करते हैं। बेटी की उम्र पता नहीं कितनी है। कद काठी से नाबालिग नजर आ रही है। शाहपुर पुलिस के अनुसार युवती के स्कूल सर्टिफिकेट से उम्र का पता किया है। एसडीओपी करणसिंह रावत ने बताया मामला पुराना है। जांच के बाद प्रकरण दर्ज किया था।