• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Burhanpur
  • Burhanpur - पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के विरोध में शहरवासियों ने बंद को दिया समर्थन, कांग्रेस ने बैलगाड़ी-साइकिल पर निकाली रैली
--Advertisement--

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के विरोध में शहरवासियों ने बंद को दिया समर्थन, कांग्रेस ने बैलगाड़ी-साइकिल पर निकाली रैली

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर बढ़ती पेट्रोल-डीजल की कीमत के विरोध में सोमवार को शहर बंद रहा। कांग्रेस के आह्वान पर...

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2018, 02:22 AM IST
Burhanpur - पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के विरोध में शहरवासियों ने बंद को दिया समर्थन, कांग्रेस ने बैलगाड़ी-साइकिल पर निकाली रैली
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

बढ़ती पेट्रोल-डीजल की कीमत के विरोध में सोमवार को शहर बंद रहा। कांग्रेस के आह्वान पर हुए बंद को शहरवासियों का भी पूरा समर्थन मिला। लोगों ने स्वेच्छा से अपनी दुकानें बंद रखी, क्योंकि आम आदमी लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल की कीमत से परेशान हो। साल 2018 में ही पेट्रोल के दाम 11.53 रुपए और डीजल 14.31 रुपए महंगा हुआ है। वहीं गैस सिलेंडर 140 रुपए तक महंगा हो गया है। इसके विरोध में कांग्रेस ने बैलगाड़ी-साइकिल पर रैली निकाली। शहर बंद के लिए कांग्रेस पदाधिकारी सुबह 8 बजे इकबाल चौक में एकत्र हो गए। यहां से बाइक रैली और युवा अलग-अलग क्षेत्रों में दुकानें बंद करने निकले। कांग्रेस पदाधिकारी इकबाल चौक में ही खड़े रहे। 10.30 बजे इकबाल चौक से िवरोध रैली निकाली, जो मंडी बाजार क्षेत्र से होकर गुजरी और खुली दुकानों को बंद कराया। दोपहर 12 बजे बैलगाड़ी पर रैली निकाली। रैली सुभाष चौक, फव्वारा चौक से होते हुए गांधी चौक पहुंची और यहां एसडीएम प्रगति वर्मा को ज्ञापन दिया।

बढ़ते कीमत का आम आदमी पर प्रभाव

पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ने का सीधा असर आम आदमी की जेब पर होता है। पेट्रोल के दाम बढ़ने से बाइक सवारों को महंगा पेट्रोल खरीदना पड़ता है लेकिन इससे ज्यादा असर डीजल के दाम बढ़ने से होता है। डीजल के दाम बढ़ने पर बसों का यात्री किराया, सामान परिवहन का भाड़ा बढ़ता है। माल भाड़ा बढ़ने से ट्रांसपोर्ट की जाने वाली वस्तुओं के दाम भी बढ़ते हैं और लोगों तक पहुंचने वाला सामान और महंगा हो जाता है।

क्रूड आइल की कीमत आधी

कांग्रेस अध्यक्ष अजयसिंह रघुवंशी ने बताया यूपीए सरकार के समय 63 रुपए पेट्रोल होने पर देशभर में आंदोलन हुए। तब क्रूड आइल 140 डालर प्रति बेलर था। भाजपा शासन काल में दाम 67 डालर हो गए हैं लेकिन पेट्रोल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं। रसोई गैस की कीमतें भी बढ़ी है। इसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ा है।

कांग्रेसियों ने गैस सिलेंडर को फूलमाला पहनाकर शवयात्रा निकाली

कांग्रेस ने बंद के दौरान विरोध किया, सिलेंडर की शवयात्रा निकाली।

लालबाग : नहीं खुला बाजार, चाय-नाश्ते के लिए परेशान हुए लोग

उपनगर लालबाग में भी बंद का असर दिखा। कॉरोनेशन बाजार के साथ लालबाग स्टेशन के बाहर चाय की गुमटियां भी बंद रही। सुबह चाय-नाश्ते के लिए भी लोग परेशान हुए। कई लोगों को रेलवे परिसर के केंटीन में जाकर चाय-नाश्ता करना पड़ा।

चौराहों पर पुलिस

बल तैनात

शहर में बंद के दौरान सुरक्षा के लिए चौराहों पर पुलिस बल तैनात रहा। बंद के लिए निकली बाइल रैली और बैलगाड़ी रैली के साथ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। दिनभर शहर में पुलिस ने गश्त की।

असर नहीं: यहां बंद का नहीं पड़ा प्रभाव, परिवहन सेवा जारी रही

बंद के असर से परिवहन सेवा और स्कूल-कॉलेजों को दूर रखा। एससी-एसटी एक्ट के विरोध में हुए भारत बंद में बस परिवहन भी बंद थी लेकिन इस बार बसों का संचालन पर कोई प्रभाव नजर नहीं आया। निजी स्कूल और कॉलेज भी प्रतिदिन की तरह खुले रहे।

प्रभाव : बाजार बंद, जो खुली थी भीड़ को देखकर गिरा दिए शटर

बंद के प्रभाव से बाजार पर नजर आया। शहर में सुबह से ही मुख्य बाजार बंद रहे। गुजराती समाज मार्केट, गांधी चौक, कमल चौक, फव्वारा चौक क्षेत्र में दुकानें बंद रही। इकबाल चौक व मंडी बंद कराने के लिए सुबह से कांग्रेसी वहीं खड़े थे। दुकानें न खुले इस लिए साइकिल, बाइक और तांगे पूरे शहर में घूमते रहे।

12 साल में पेट्रोल 35.78 और डीजल 39.41 रु. हुआ महंगा

देश में जुलाई 2006 में पेट्रोल 51.69 व डीजल 38.22 रुपए था। सितंबर 2018 में पेट्रोल 87.42 व डीजल 77.63 रुपए लीटर हो गया है। यानी 12 साल में पेट्रोल 35.78 व डीजल 39.41 रुपए कीमत बढ़ी है। डीजल के दाम तो दो गुना से भी ज्यादा हो गए हैं। जनवरी 2018 को पेट्रोल 75.89 व डीजल 63.32 रुपए था। सितंबर को पेट्रोल 87.72 व डीजल 77.63 रुपए है। गैस सिलेंडर जनवरी 2018 में 730 रुपए की था, जो सितंबर में 870 रुपए हो गया है।

बंद के दौरान कांग्रेस ने निकाली विरोध रैली।

अंचल में भी बंद रहे बाजार

नेपानगर | व्यापारियों ने दोपहर 12 बजे तक दुकानें बंद रखी। सुबह 11 बजे कांग्रेसियों ने नगर भ्रमण के लिए रैली निकाली। कार्यकर्ताओं ने भाजपा तेरी तानाशाही नहीं चलेगी। कांग्रेसियों ने चूल्हे पर रोटी बनाई। महिला कार्यकर्ताओं ने कहा कि गैस की बढ़ती कीमतों के कारण घर की अर्थ व्यवस्था बिगड़ती जा रही है।

शाहपुर | नगर में भी दुकानदारों ने बंद का समर्थन किया। इसी के साथ आसपास के ग्रामीण क्षेत्राें में भी दुकानें बंद रही। कांग्रेस नगर अध्यक्ष कार्यकर्ताओं के साथ दुकानें बंद कराने सुबह से निकले। कुछ दुकानें खुली मिलने पर कार्यकर्ताओं ने हाथ जोड़कर बंद कराई।

निंबोला | गांव में ग्रामीणों ने बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों के विरोध में सोमवार को सुबह से दोपहर तीन बजे तक अपनी दुकानें बंद रखी। बंद शांतिपूर्ण सफल रहा। सभी ग्रामीण दुकानदारों ने बंद का समर्थन किया।

X
Burhanpur - पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम के विरोध में शहरवासियों ने बंद को दिया समर्थन, कांग्रेस ने बैलगाड़ी-साइकिल पर निकाली रैली
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..