--Advertisement--

पिकनिक मनाने सुक्ता डेम गए दो युवकों की डूबने से मौत

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2018, 02:20 AM IST


भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

बोहरा समाज के दो युवकों की गुरुवार को खंडवा जिले के सुक्ता डेम में डूबने से मौत हो गई। दोनों के शव निकाल लिए हैं। रात हो जाने से पोस्टमार्टम नहीं हो सका। पंधाना थाना क्षेत्र के सरकारी अस्पताल में दोनों युवकों के शव रखे हैं। शुक्रवार सुबह पोस्टमार्टम होगा। मरने वाले युवक अपने दोस्तों के साथ ईद की पार्टी मनाने के लिए सुक्ता डेम गए थे। घुटने-घुटने पानी में नहाते समय मस्ती करते हुए युवक अचानक ही गहरे गड्‌ढे में जा फंसा जिससे यह हादसा हुआ।

अब्बास पिता फैयाज साइकिलवाला (23), हुसैन अली पिता असगर अली लाइटवाला (23) दोनों निवासी दाऊदपुरा व हुसैन पिता एहतेशाम भट्‌टीवाला(22) अपने सात दोस्तों के साथ गुरुवार दोपहर तीन बजे सुक्ता डेम पहुंचे। यहां खाना खाने के बाद शाम 5 बजे नहाने के लिए डेम में उतरे डेम का जलस्तर भी कम था। बोरगांव पुलिस चौकी प्रभारी जगदीश सिद्यया ने बताया घुटने-घुटने पानी में नहाने के लिए अब्बास, हुसैन लाइटवाला व हुसैन भट्‌टीवाला डेम में उतरे नहाते हुए तीनों अचानक आगे बढ़े इस दौरान अब्बास का पैर फिसल गया उसे पानी में डूबते हुए देख हुसैन ने बचाने का प्रयास किया। इस दौरान हुसैन भट्‌टीवाला भी अपने दोस्त अब्बास व हुसैन को बचाने का प्रयास करने लगा। यह देख अन्य दोस्तों ने भट्‌टीवाला को बाहर खींचा जबकि अब्बास व हुसैन को युवक बचा नहीं पाए। वह गड्ढे में फंस गए। युवकों को तैरते नहीं आता था। एसआई जगदीश सिद्यया ने बताया प्रारंभिक जानकारी अनुसार युवकों की मौत डूबने से हुई है। हुसैन भट्‌टीवाला को साथियों ने समय पर बचा लिया। क्षेत्र में शोक की लहर है। परिजनाें का रो-रोकर हाल बुरा हो गया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच कर रही है।

गम में डूबा बाेहरा समाज

गुरुवार को बोहरा समाज की ईद थी। सभी अपने रिश्तेदारों व दोस्तों को घर पर पार्टी के लिए बुला रहे थे। कई जगह शाम के कार्यक्रम तय किए गए थे। जैसे ही युवकों के डूबने की खबर परिजन तक पहुंची माहौल गमगीन हो गया। दाऊदपुरा, लोधीपुरा सहित समाज में जहां भी ईद मिलन कार्यक्रम होने वाले थे उन्हें निरस्त कर परिजन के साथ समाजजन सुक्ता डेम पर पहुंचे। शुक्रवार को युवकों को दफनाया जाएगा।

कम्प्यूटर इंजीनियर थे अब्बास और हुसैन

अब्बास और हुसैन दोनों एक ही मोहल्ला और समाज के होने से भाई समान रहते थे। दोनों कम्प्यूटर हार्डवेयर इंजीनियर थे। प्रकाश टॉकिज के पास अब्बास की दुकान है। हुसैन भी कम्प्यूटर हार्डवेयर मास्टर था। अब्बास का एक भाई जबकि हुसैन अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..