--Advertisement--

धर्म... संपत्ति व समय के सदुपयोग का है महत्व

बुरहानपुर | सीलमपुरा स्थित श्रीराधा वल्लभ मंदिर में कथा की पूर्णाहुति पर मुखिया पंडित शैलेंद्र त्रिवेदी ने कथा...

Danik Bhaskar | Jun 03, 2018, 02:30 AM IST
बुरहानपुर | सीलमपुरा स्थित श्रीराधा वल्लभ मंदिर में कथा की पूर्णाहुति पर मुखिया पंडित शैलेंद्र त्रिवेदी ने कथा का रसपान कराया। उन्होंने कहा जीवन पानी में उठे बुलबुले की तरह क्षण भंगुर है। इसलिए मानव को चाहिए की शरीर, संपत्ति और समय का सदुपयोग कर लें। इनका महत्व बड़ा है। कथा के महत्व को समझकर जीवन में उतारें। भव सागर से हम पार हो सकते हैं। हम संसार में रहे वह ठीक है। हमें संसार से मोह नहीं रहना चाहिए। पैसा, जीवन का साध्य नहीं साधन है। उसे साधन की तरह ही लेना चाहिए। मानव अपने जीवन को 4 हिस्सों में बांट ले। दिन का कुछ हिस्सा काम के लिए, कुछ हिस्सा आराम के लिए, कुछ हिस्सा भोजन के लिए और कुछ हिस्सा भजन के लिए। कथा में नर्मदानंदगिरीजी महाराज, चंपालाल रघुवंशी, हेमकिरण भाई पटेल, चंदूभाई पटेल, सुरेशभाई पटेल, उमेशभाई पटेल सहित सैकड़ों श्रद्धालु शामिल हुए।