बुरहानपुर

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • पाइप लाइन लीकेज हुई तो कंट्रोल रूम में दिखेगी फोटो, सेंसर पकड़ेगा पानी की चोरी
--Advertisement--

पाइप लाइन लीकेज हुई तो कंट्रोल रूम में दिखेगी फोटो, सेंसर पकड़ेगा पानी की चोरी

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर शाहपुर में जल प्रदाय योजना के तहत जल्द काम शुरू हाेगा। इस योजना में पूरा काम हाईटेक...

Dainik Bhaskar

Jun 05, 2018, 02:30 AM IST
पाइप लाइन लीकेज हुई तो कंट्रोल रूम में दिखेगी फोटो, सेंसर पकड़ेगा पानी की चोरी
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

शाहपुर में जल प्रदाय योजना के तहत जल्द काम शुरू हाेगा। इस योजना में पूरा काम हाईटेक होगा। नई तकनीक से पाइप बिछाने के साथ सप्लाय किया जाएगा। पाइप लाइन में कहीं भी लीकेज होता है तो लीकेज हुई लाइन का फोटो कंट्रोल में दिख जाएगा। पानी का प्रेशर कम, ज्यादा होते ही सेंसर इसकी जानकारी दे देगा। यही नहीं पाइप लाइन में कोई गड़बड़ी करता है तो तुरंत इसकी जानकारी कंट्रोल रूम को मिल जाएगी। कुल मिलाकर किसी भी तरह की खराबी होने पर तुरंत कर्मचारियों को पता लग जाएगा। इससे वह समय पर सुधार कर सकेंगे।

जल प्रदाय योजना के तहत डिस्क्रिप्ट मीटर एरिया(डीएमए), सब साइडिंग सुपर फिशियर कंट्रोल ऑफ डाटा(स्काडा) तकनीक का उपयोग किया जाएगा। इसके अलावा बल्कफ्लो मीटर लगाया जाएगा। इन तीनों तकनीक से पूरा सिस्टम ऑपरेट होगा। एक से दूसरे सिस्टम में जानकारी अपलोड होगी। अफसर, कर्मचारियों को पानी सप्लाय करने में आसानी होगी। तीनों सिस्टम के अलग-अलग काम हैं। कंट्रोल रूम से पूरा सिस्टम ऑपरेट किया जाएगा। इसके लिए कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। नगरवासियों को बिना किसी परेशानी के पानी सप्लाय होगा। राइजिंग लाइन में कोई भी किसी तरह की गड़बड़ी नहीं कर सकेगा।

घरों में पर्याप्त मात्रा में पानी सप्लाय हो रहा है

वर्तमान में यह है पानी सप्लाय की व्यवस्था

शाहपुर | शाहपुर की आबादी लगभग 20000 है। 15 वार्ड हैं। ट्यूबवेल से नगर में पानी सप्लाय होता है। हर दिन सुबह 5 से 6 बजे और शाम को कुछ वार्डों में 4 से 5 और 5 से शाम 6 बजे तक पानी सप्लाय किया जा रहा है। शाहपुर में जलसंकट के हालात नहीं है। क्षेत्र में जलस्तर बना रहने से पर्याप्त पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है। जल प्रदाय योजना के लिए 20.97 करोड़ रुपए की स्वीकृति मिली है। इसके अलावा 50 लाख रुपए में विभिन्न निर्माण कार्य होंगे।

ऐसे काम करेगा बल्कफ्लो मीटर

बल्कफ्लो मीटर से राइजिंग लाइन में लीकेज या पानी चोरी का पता चलेगा। यह मीटर यह भी बता देगा किस जगह से कितनी मात्रा में पानी की चोरी हो रही है। कंट्रोल रूम के सेंसर से इसकी जानकारी मिलेगी। इसके लिए पाइप लाइन में प्रेशर के सेंसर लगाए जाएंगे। बल्कफ्लोमीटर से ही प्रेशर भी मेंटेन होगा। इसके अलावा कितने गैलन पानी सप्लाय हो रहा है, कितना उपयोग किया जा रहा है कि जानकारी मिलती रहेगी। इस मीटर के कारण अवैध कनेक्शन नहीं कर सकेंगे।

यह है डीएमए सिस्टम

डिस्क्रिप्ट मीटर एरिया सिस्टम में लीकेज का पता चलेगा। लीकेज होगा तो पानी का प्रेशर कम हो जाएगा। यह सिस्टम बता देगा कि किस जगह पर किस तरह का लीकेज है। साथ ही पानी का प्रेशर कितना है, मीटर रीडिंग और पानी सप्लाय की मानिटरिंग करेगा। किस क्षेत्र में कितने प्रेशर से पानी जा रहा है। किसी क्षेत्र में प्रेशर कम या जरूरत से ज्यादा होगा तो वॉल्व की सहायता से इसे ठीक किया जा सकेगा।

स्काडा सिस्टम

सब साइडिंग सुपर फिशियर कंट्रोल ऑफ डाटा बल्कफ्लोमीटर और डीएमए सिस्टम को कंट्रोल करेगा। इन दोनों सिस्टम की मॉनिटरिंग होगी। वॉटर ट्रीटमेंट, डिस्ट्रीब्यूशन के चैनल को कंट्रोल और मानिटरिंग करेगा।

टाटा कंसलटेंसी करेगी काम

जल प्रदाय योजना के तहत नई तकनीक से टाटा कंसलटेंसी द्वारा काम किया जाएगा। रविवार शाहपुर नगर परिषद में पीआईयू इंदौर कीं पीआरओ सपना दुबे, टाटा कंसलटेंसी की कंसलटेंट हर्षा अहिरवार, सब इंजीनियर संदीप साजनानी ने महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस की मौजदूगी में जनप्रतिनिधियों के सामने तकनीक को प्रदर्शित किया था।

X
पाइप लाइन लीकेज हुई तो कंट्रोल रूम में दिखेगी फोटो, सेंसर पकड़ेगा पानी की चोरी
Click to listen..