• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • 2 लाख रु. क्लेम के लिए बेटे ने मृतक पिता की उम्र 13 साल कम बताई; दावा खारिज
--Advertisement--

2 लाख रु. क्लेम के लिए बेटे ने मृतक पिता की उम्र 13 साल कम बताई; दावा खारिज

Danik Bhaskar | Jun 05, 2018, 02:35 AM IST


भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

पिता की मौत के बाद खाते से दो लाख रुपए निकालने के लिए बेटे ने पिता की उम्र 13 साल कम बताई और उपभोक्ता फोरम में बैंक व बीमा कंपनियों के खिलाफ दावा पेश किया। सुनवाई के दौरान फोरम ने फरियादी का दावा खारिज करते हुए कहा कि यह सेवा में कमी का मामला नहीं बनता।

अधिवक्ता संतोष देवताले ने बताया सोहनलाल मराठे (78) निवासी बोहड़ला ने 23 फरवरी 05 को बैंक ऑफ इंडिया शाखा बहादरपुर में बचत खाता खुलवाकर प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत बीमा करवाया था। इस योजना में 12 रुपए की वार्षिक प्रीमियम अदा करना होती थी जो कि सीधे खाते से कट जाते थे। योजना में बीमित व्यक्ति की मौत होने पर 2 लाख रुपए व स्थायी विकलांगता होने पर एक लाख रुपए सहायता प्रदान करने का प्रावधान है। शर्त यह भी है कि मृतक की उम्र मौत के समय 70 साल से अधिक न हो लेकिन खाताधारक सोहनलाल मराठे की 19 मई 16 को 78 साल की उम्र में मौत हो गई। इसके बाद उनके बेटे सुनील मराठे ने नाॅमिनी की हैसियत से बीमा राशि निकालने का आवेदन बैंक व बीमा कंपनियों को दिया। बैंक द्वारा उम्र संबंधी दस्तावेज बुलवाने पर उसने उम्र संबंधी दस्तावेज पेश नहीं किए। रुपए प्राप्त करने के लिए उसने पोस्टमार्टम रिपोर्ट व पुलिस रिपोर्ट व क्लेम आवेदन में भी उम्र 78 की जगह 65 साल लिखाई। तर्क के दौरान अधिवक्ता संतोष देवताले ने बैंक की तरफ से पक्ष रखते हुए मृतक सोहनलाल मराठे का निर्वाचन परिचय पत्र प्रस्तुत किया जिसके अनुसार सोहनलाल की मौत के समय उनकी उम्र 70 साल से अधिक होना पाया गया। इसी आधार पर कोर्ट ने मृतक के बेटे का दावा खारिज कर फोरम सदस्य सुमित्रा हाथीवाला व मेघा भिड़े ने कहा कि यह मामला सेवा में कमी का नहीं आता है। मृतक के पुत्र ने मृत्यु प्रमाण पत्र भी पेश नहीं किया। बीमा कंपनी की ओर से दिनेश कोरावाला ने पैरवी की।