• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • एक ही चरण में खोली जाएगी ऑनलाइन लॉटरी इसलिए विकल्प में 10 स्कूलों का चयन करने की छूट रखी
--Advertisement--

एक ही चरण में खोली जाएगी ऑनलाइन लॉटरी इसलिए विकल्प में 10 स्कूलों का चयन करने की छूट रखी

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत प्राइवेट स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश के लिए सिर्फ...

Danik Bhaskar | Jun 08, 2018, 03:15 AM IST
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत प्राइवेट स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश के लिए सिर्फ एक ही चरण में ऑनलाइन लॉटरी खोली जाएगी। इसलिए इस बार सरकार ने विकल्प में 10 स्कूलों का चयन करने की छूट रखी है। ताकि किसी न किसी एक स्कूल में जरुरतमंद को प्रवेश मिल सके।

जिले की कुल 140 प्राइवेट स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश दिया जाएगा। जिसके लिए एजुकेशन पोर्टल पर सीटें दर्ज की जा चुकी है। जिन स्कूलों की मान्यता नहीं है, उन्हें फिलहाल होल्ड पर रखा है। गुरुवार रात 12 बजे तक उन्हें समय दिया गया। इसके 25 प्रतिशत सीट आरक्षित नहीं करने पर कार्रवाई होगी। बुरहानपुर विकासखंड से 111 स्कूलों ने अपनी सीटें आरक्षित कर पोर्टल पर दर्ज की। बुधवारा की सरदार पटेल स्कूल, लालबाग की देवचंद सपकाले स्कूल और नवलनगर की एक स्कूल ने मान्यता नहीं होने से सीटें नहीं बताई है। खकनार विकासखंड की कुल 29 निजी स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश होगा। दोनों विकासखंड की स्कूलों में 1 हजार से ज्यादा सीटों पर प्रवेश होगा। जिसके आवेदन की प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू हो रही है।

कम से कम तीन स्कूल के विकल्प दर्ज कर सकते है और ज्यादा से ज्यादा 10 स्कूलों का नाम विकल्प के रूप में दर्ज कर सकते है। ऐसे में किसी भी एक स्कूल में जरुरतमंद को प्रवेश मिल सकेगा।

जिले की 140 निजी स्कूलों में नि:शुल्क प्रवेश के लिए आवेदन की प्रक्रिया आज से शुरू

ऐसे चलेगी प्रवेश प्रक्रिया






यहां से डाउनलोड कर, उसी पर जमा करें फार्म

आवेदन पत्र का प्रारूप आरटीई पोर्टल www.educationportal.mp.gov.in/rteportal पर भी उपलब्ध है। जिसे डाउनलोड कर भरकर उसी पोर्टल पर जमा करना है। संबंधी जिला शिक्षा अधिकारी, विकासखं ड समन्वयक, ब्लॉक समन्वयक कार्यालय से भी नि:शुल्क फार्म ले सकते हैं।

स्कूलों के सीमांकन पर आज से लेंगे दावे-आपत्ति

पात्र 140 स्कूलों का सीमांकन कर लिया गया है। जिसकी सूची डीएफओ ऑफिस पहुंची चुकी है। यहां से अनुमोदन के लिए कलेक्टर कार्यालय भेजेंगे। हस्ताक्षर करने के बाद शिक्षा विभाग के सभी कार्यालयों पर सूची चस्पा होगी। जिस पर स्कूलों से सीमांकन के संबंधन में दावे-आपत्तियां बुलाई जाएगी। जिसके बाद संशोधित सीमांकन अनुसार प्रवेश दिया जाएगा। अफसरों के अनुसार आज से दावे-आपत्ति लिए जाएंगे।