--Advertisement--

चांद दिखने तक रात 12 बजे बाद भी खुला रहेगा बाजार

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 03:20 AM IST

Burhanpur News - भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर ईद-उल-फितर पर्व को अब सिर्फ चार दिन रह गए हैं। दिनभर तिलावत कर मुस्लिमजन देर शाम से...

चांद दिखने तक रात 12 बजे बाद भी खुला रहेगा बाजार
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

ईद-उल-फितर पर्व को अब सिर्फ चार दिन रह गए हैं। दिनभर तिलावत कर मुस्लिमजन देर शाम से खरीदी के लिए बाजार में उमड़ रहे हैं। जिलेभर के लाखों मुस्लिमजन की मांग को देखते हुए प्रशासन ने रात 12 बजे के बाद भी बाजार खुले रखने का निर्णय लिया है। इसके तहत ईद का चांद दिखने तक दुकानें देर रात तक खुली रख सकेंगे। उसके बाद सामान्य दिनों की तरह बाजार रात 11 बजे से बंद होगा।

मंगलवार शाम 5 बजे कलेक्टोरेट में ईद पर्व को लेकर शांति समिति की बैठक हुई। इसमें पठानवाड़ी के अकरम पठान ने सुझाव दिया कि ईद से एक दिन पहले तक तक बाजार रात 12 बजे के बाद भी खुले रहने दिया जाए, क्योंकि लोग दिनभर कामकाज करते हैं। देर शाम को इफ्तारी के बाद ही उन्हें समय मिल पाता है। मजदूर वर्ग के लिए विशेष पर्व होता है। इसलिए उसे मनाने के लिए रुपयों की जरुरत होती है। इसके बाद रात में खरीदारी करने निकलते हैं। ऐसे में उनके लिए देर रात तक समय चाहिए होता है। सुझाव को कलेक्टर डॉ. सतेंद्रसिंह ने माना और देर रात तक बाजार खुले रहने पर सहमति जताई। कलेक्टर ने कहा नगर निगम सभी नमाज स्थलों के आसपास साफ-सफाई, पेयजल, लाइट व्यवस्था कराएं। पुलिस कंट्रोल रूम में राजस्व, डॉक्टर, बिजली और निगमकर्मी तैनात रहे। एक एम्बुलेंस की व्यवस्था करें जिसे सिंधीबस्ती की ईदगाह के पास खड़ी रखना है। निगम और लोक निर्माण विभाग के अफसर सभी नमाज स्थलों का निरीक्षण कर लें, ताकि पहुंच मार्गों को दुरुस्त किया जा सके। यातायात व्यवस्था पुलिस संभालें। बिजली कंपनी आपूर्ति निरंतर जारी रखें। एसपी पंकज श्रीवास्तव ने कहा- इस बार भी पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। नमाज के समय मार्ग डायवर्ट किए जाएंगे। निगम अमला सड़कों पर घूम रहे पशुओं को पकड़े और उसे कांजी हाउस पर छोड़ें। महापौर अनिल भोसले ने कहा- सभी नमाज स्थलों पर निगम पानी और साफ व्यवस्था रखेगी।

शांति समिति सदस्यों के सुझाव पर कलेक्टर ने लिया निर्णय, 26वें राेजे पर भी बाजार में दिखी चहल-पहल

15 को चांद दिखा तो 16 को मनेगी ईद

17 मई से शुरू हुआ रमज़ान का मुकद्दस महीना मंगलवार की रात 27वीं शब (रात) पार कर अपनी आखिरी मंजिल की तरफ पहुंच गया है। मस्जिदों में समाजजन ने अल्लाह अपने गुनाहों की माफी मांगकर अपने इल्म में, रिज्क में बरकत व शहर व देश में अमन और शांति की दुआएं मांगी। इशा की नमाज बाद रातभर इबादत करने के बाद अक़ीदतमंदो ने तहज्जुद व फजर की नमाज पढ़कर 27वां रोजा पूरा किया। शनवारा मस्जिद के पेश इनाम मौलाना कलीम अशरफी व शाही जामा मस्जिद के पेश इआम मौलाना इकरामउल्ला साहब ने रमजान व ईद का महत्व पर बयान पेश किए। अलविदा रमजान के साथ ही मस्जिदों में एक महीने तक कुरान पाक का कंठस्थ पाठ सुनाने वाले हाफिज व आलिमों को नजराना पेश किया गया। सभी जगह बुधवार को 27 रोजे होंगे तो कई जगह 28 रोजे होंगे चांद के कारण कुछ लोगों ने एक दिन पहले रोजा रख लिया था अगर 15 मई को चांद दिखाई देता है तो 16 की ईद होगी

X
चांद दिखने तक रात 12 बजे बाद भी खुला रहेगा बाजार
Astrology

Recommended

Click to listen..