Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» कलेक्टर से मिलने से रोका तो चालक ने खुद पर डाला केरोसिन

कलेक्टर से मिलने से रोका तो चालक ने खुद पर डाला केरोसिन

लालबाग थाना में धारा 151 के तहत केस दर्ज करने से था नाराज, शिकायत के लिए जनसुनवाई में पहुंचा भास्कर संवाददाता |...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 13, 2018, 03:20 AM IST

कलेक्टर से मिलने से रोका तो चालक ने खुद पर डाला केरोसिन
लालबाग थाना में धारा 151 के तहत केस दर्ज करने से था नाराज, शिकायत के लिए जनसुनवाई में पहुंचा

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

कलेक्टोरेट में जनसुनवाई में कलेक्टर से मिलने के लिए पहुंच ऑटो चालक को सभागार में कर्मचारियों ने जाने से रोका तो उसने कुछ ही देर बाद परिसर में ही खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाने का प्रयास किया। हालांकि अफसर-कर्मचारियों ने उसके हाथ से माचिस छीन ली और उसे समझाइश देकर उसकी समस्या जानी।

लोहारमंडी निवासी मोहम्मद जफर ऑटो चालक है। चार महीने से जिला अस्पताल से शहर तक मरीज और अटेंडर लाने-ले जाने का काम कर रहा है। इससे बहादरपुर रूट के एपे चालकों का सवारियों को लेकर उनसे आए दिन विवाद होता आ रहा है। सोमवार को जफर का मोहम्मदपुरा के एपे चालक विनायक सोनवणे से सवारियां बैठाने को लेकर विवाद हो गया था। दोनों में हाथा-पाई तक की नौबत आ गई थी। इस बीच किसी ने डायल 100 को सूचना की। पुलिस तुरंत दोनों को थाने ले आई, यहां दोनों के खिलाफ धारा 151 में केस दर्ज किया। दोनों को दिनभर थाने में बैठाकर शाम को एसडीएम कोर्ट पेश किया। जहां से दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया। जफर ने कहा- रमजान माह चल रहा है। रोज यात्रियों को ढोकर दो जून की रोटी जुगाड़ता हूं। ऐसे में पूरा दिन थाने में बैठाकर रखने से मेरा नुकसान हुआ। जबकि विनायक ने मुझसे जबरन विवाद किया। मैं कलेक्टर से मिलने पहुंचा। अंदर जाने लगा तो कर्मचारी ने मुझे रोक लिया। मैंने समझाया मुझे भी एपे चालक की शिकायत करना है तो वो माने नहीं। मैंने खुद पर केरोसिन डालकर जलाने का प्रयास किया लेकिन अफसरों ने मेरे हाथ से माचिस छीन ली। मैं चार महीने से परेशान हूं। बहादरपुर रूट के एपे चालकों का कहना है हम सवारियां नहीं बैठा सकते। वो बहादरपुर से सवारियां लाते हैं। हम तो अस्पताल से शहर ऑटो चला रहे।

उसे लगा मेरी कोई सुन नहीं रहा। वो आहत हुआ इसलिए केरोसिन छिड़क लिया। कर्मचारियों ने उसे रोक लिया। -सोहन कनाश, एसडीएम

मोहम्मद जफर कुरोसिन छिड़कने के बाद अफसरों के पास पहुंचा।

लालबाग थाना में धारा 151 के तहत केस दर्ज करने से था नाराज, शिकायत के लिए जनसुनवाई में पहुंचा

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

कलेक्टोरेट में जनसुनवाई में कलेक्टर से मिलने के लिए पहुंच ऑटो चालक को सभागार में कर्मचारियों ने जाने से रोका तो उसने कुछ ही देर बाद परिसर में ही खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाने का प्रयास किया। हालांकि अफसर-कर्मचारियों ने उसके हाथ से माचिस छीन ली और उसे समझाइश देकर उसकी समस्या जानी।

लोहारमंडी निवासी मोहम्मद जफर ऑटो चालक है। चार महीने से जिला अस्पताल से शहर तक मरीज और अटेंडर लाने-ले जाने का काम कर रहा है। इससे बहादरपुर रूट के एपे चालकों का सवारियों को लेकर उनसे आए दिन विवाद होता आ रहा है। सोमवार को जफर का मोहम्मदपुरा के एपे चालक विनायक सोनवणे से सवारियां बैठाने को लेकर विवाद हो गया था। दोनों में हाथा-पाई तक की नौबत आ गई थी। इस बीच किसी ने डायल 100 को सूचना की। पुलिस तुरंत दोनों को थाने ले आई, यहां दोनों के खिलाफ धारा 151 में केस दर्ज किया। दोनों को दिनभर थाने में बैठाकर शाम को एसडीएम कोर्ट पेश किया। जहां से दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया। जफर ने कहा- रमजान माह चल रहा है। रोज यात्रियों को ढोकर दो जून की रोटी जुगाड़ता हूं। ऐसे में पूरा दिन थाने में बैठाकर रखने से मेरा नुकसान हुआ। जबकि विनायक ने मुझसे जबरन विवाद किया। मैं कलेक्टर से मिलने पहुंचा। अंदर जाने लगा तो कर्मचारी ने मुझे रोक लिया। मैंने समझाया मुझे भी एपे चालक की शिकायत करना है तो वो माने नहीं। मैंने खुद पर केरोसिन डालकर जलाने का प्रयास किया लेकिन अफसरों ने मेरे हाथ से माचिस छीन ली। मैं चार महीने से परेशान हूं। बहादरपुर रूट के एपे चालकों का कहना है हम सवारियां नहीं बैठा सकते। वो बहादरपुर से सवारियां लाते हैं। हम तो अस्पताल से शहर ऑटो चला रहे।

उसे लगा मेरी कोई सुन नहीं रहा। वो आहत हुआ इसलिए केरोसिन छिड़क लिया। कर्मचारियों ने उसे रोक लिया। -सोहन कनाश, एसडीएम

लालबाग थाना में धारा 151 के तहत केस दर्ज करने से था नाराज, शिकायत के लिए जनसुनवाई में पहुंचा

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

कलेक्टोरेट में जनसुनवाई में कलेक्टर से मिलने के लिए पहुंच ऑटो चालक को सभागार में कर्मचारियों ने जाने से रोका तो उसने कुछ ही देर बाद परिसर में ही खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाने का प्रयास किया। हालांकि अफसर-कर्मचारियों ने उसके हाथ से माचिस छीन ली और उसे समझाइश देकर उसकी समस्या जानी।

लोहारमंडी निवासी मोहम्मद जफर ऑटो चालक है। चार महीने से जिला अस्पताल से शहर तक मरीज और अटेंडर लाने-ले जाने का काम कर रहा है। इससे बहादरपुर रूट के एपे चालकों का सवारियों को लेकर उनसे आए दिन विवाद होता आ रहा है। सोमवार को जफर का मोहम्मदपुरा के एपे चालक विनायक सोनवणे से सवारियां बैठाने को लेकर विवाद हो गया था। दोनों में हाथा-पाई तक की नौबत आ गई थी। इस बीच किसी ने डायल 100 को सूचना की। पुलिस तुरंत दोनों को थाने ले आई, यहां दोनों के खिलाफ धारा 151 में केस दर्ज किया। दोनों को दिनभर थाने में बैठाकर शाम को एसडीएम कोर्ट पेश किया। जहां से दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया। जफर ने कहा- रमजान माह चल रहा है। रोज यात्रियों को ढोकर दो जून की रोटी जुगाड़ता हूं। ऐसे में पूरा दिन थाने में बैठाकर रखने से मेरा नुकसान हुआ। जबकि विनायक ने मुझसे जबरन विवाद किया। मैं कलेक्टर से मिलने पहुंचा। अंदर जाने लगा तो कर्मचारी ने मुझे रोक लिया। मैंने समझाया मुझे भी एपे चालक की शिकायत करना है तो वो माने नहीं। मैंने खुद पर केरोसिन डालकर जलाने का प्रयास किया लेकिन अफसरों ने मेरे हाथ से माचिस छीन ली। मैं चार महीने से परेशान हूं। बहादरपुर रूट के एपे चालकों का कहना है हम सवारियां नहीं बैठा सकते। वो बहादरपुर से सवारियां लाते हैं। हम तो अस्पताल से शहर ऑटो चला रहे।

उसे लगा मेरी कोई सुन नहीं रहा। वो आहत हुआ इसलिए केरोसिन छिड़क लिया। कर्मचारियों ने उसे रोक लिया। -सोहन कनाश, एसडीएम

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×