--Advertisement--

जिंदा जली महिला के पति व सास को 3 साल की जेल

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 03:20 AM IST

Burhanpur News - बैरी मैदान का मामला, पति व सास ने इतना तंग किया कि महिला ने केरोसिन डालकर लगाई थी आग भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर...

जिंदा जली महिला के पति व सास को 3 साल की जेल
बैरी मैदान का मामला, पति व सास ने इतना तंग किया कि महिला ने केरोसिन डालकर लगाई थी आग

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

पति और सास की प्रताड़ना से तंग आकर खुद के शरीर पर केरोसिन डालकर जिंदा जलने वाली महिला के पति और सास को प्रताड़ना के आरोपी में सत्र न्यायाधीश एसबी वर्मा ने दोषी पाते हुए तीन साल जेल की सजा व जुर्माने से दंडित किया है।

मामले की पैरवी कर रहे लोक अभियोजक श्याम देशमुख के अनुसार 6 सितंबर 2016 को नवविवाहिता शबीना उसकी सास शहनाज बी पति रज्जाक (49), पति शेख रईस पिता शेख रज्जाक (25) निवासी बड़वाली दरगाह बैरी मैदान बुरहानपुर की प्रताड़ना से तंग आकर शरीर पर केरोसिन डालकर आग लगा ली थी। गंभीर हालत में आरोपी पति ने शहर के नेहरू अस्पताल ले गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद जलगांव ले गए, जहां 10 सितंबर की रात मौत हो गई। तहसीलदार को दिए बयान में शबीना ने बताया कि उसके पति व सास दहेज व छोटी-मोटी बातों को लेकर प्रताड़ित करते थे। खुद के शरीर पर केरोसिन डालकर आग लगा ली। जांच में यह बात भी सामने आई कि सास और पति शबीना को काफी प्रताड़ित करते थे। शबीना की मौत के बाद आरोपी पति और सास को पुलिस ने धारा 498 ए, 304 बी/34 विकल्प में धारा 302/34, 306/34 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया। कोर्ट में चले प्रकरण में आरोपियों को दहेज प्रताड़ना व आत्महत्या के लिए उकसाने शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का दोषी पाया। बचाव पक्ष में आरोपियों के वकील ने तर्क दिया कि दोनों का पहला अपराध है। महिला ने खुद आत्महत्या की है। लोक अभियोजक श्याम देशमुख ने अदालत से कड़ी सजा देने की मांग की। सत्र न्यायाधीश ने टिप्पणी में लिखा कि महिलाअों के प्रति इस तरह के अपराधों में वृद्धि हो रही है। उक्त अपराध की गंभीरता को देखते हुए आरोपियों को परीवीक्षा विधान का लाभ देकर व अंडरगोन करके छोड़ना उचित नहीं समझता हूं। इससे आपराधिक प्रवृत्ति को बढ़ावा मिलेगा। धारा 306 में आरोपियों के तीन-तीन साल, धारा 498 में एक-एक साल जेल की सजा व छह हजार रुपए जुर्माने से दंडित किया है। घटना के बाद आरोपी डेढ़-दो महीने जेल में रहे। तीन साल की सजा होने पर जमानत का लाभ मिल गया।

इधर, बहू-बेटे ने बेघर किया, दादा-दादी के घर से चार गुल्लक चोरी

बुरहानपुर | कुछ माह पहले बहू और बेटे ने संपत्ति से बेदखल कर बुजुर्ग दंपत्ती को घर से बाहर निकाल दिया। दंपत्ति किराए के मकान में रहने आए तो यहां से दो पाेते खेल-खेल में चार गुल्लक चुरा ले गए। मंदिर का शंख चोरी पर वारदात का पता चला। बहू की अलमारी में से रकम निकल आई। मौके पर पुलिस भी पहुंची लेकिन समझौता होने से शिकायत नहीं की।

X
जिंदा जली महिला के पति व सास को 3 साल की जेल
Astrology

Recommended

Click to listen..