Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» जीएसटी के बाद 8 हजार करदाता बढ़े, लक्ष्य से 27 करोड़ ज्यादा आया कर

जीएसटी के बाद 8 हजार करदाता बढ़े, लक्ष्य से 27 करोड़ ज्यादा आया कर

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 04, 2018, 03:20 AM IST

मुख्य आयकर आयुक्त ने संपर्क अभियान चलाया। छोटे व मझोले व्यापारियों से संपर्क कर उन्हें आयकर भरने के लिए प्रेरित किया।

जीएसटी लागू होने के बाद नए खरीदी-बिक्री के लिए अधिकांश व्यापारियों को पंजीयन कराना पड़ा। आयकर विभाग ने इन्हें खंगाला तो नए आयकर दाता बने।

बैंकों में जमा व निकासी पर नजर रखी गई। इन आंकड़ों को आयकर विभाग भेजा। जांच में आयकर छुपाने वाले सामने आए। इन्हें आयकर दाता बनाया।

क्योंकि... व्यापार के लिए जीएसटी पंजीयन जरूरी, नहीं छुपाई जा सकती खरीदी-बिक्री व आय

दो साल में ही दोगुना से ज्यादा हो गया आय कर

भास्कर संवाददाता| खंडवा

नाेटबंदी फिर जीएसटी लागू करने के बाद भले इसे असफल बताया जा रहा है, लेकिन आयकर विभाग के लिए यह दोनों कदम फायदे के साबित हुए। इन दो सालाें में आयकर दोगुना से ज्यादा बढ़ा है। 20 हजार आयकरदाता भी बढ़े हैं। इस साल जीएसटी लागू होने के बाद 8 हजार करदाता बढ़े हैं। लक्ष्य से 27 करोड़ ज्यादा आयकर आया है। एक साल पहले नोट-बंदी होने पर 2016-17 में निमाड़ में 12 हजार आयकर दाता बढ़े थे और लक्ष्य 78 करोड़ था, 26 करोड़ ज्यादा आयकर आया था।

जीएसटी लागू होने के बाद आयकरदाता बढ़ने की संख्या कम हुई, लेकिन आयकर में कमी नहीं आई है। आयकर की बढ़ोतरी एक करोड़ ज्यादा ही हुई है। 2017-18 में 108 कराेड़ रुपए आयकर जुटाने का लक्ष्य विभाग ने निमाड़ के चारों जिलों खंडवा, खरगोन, बड़वानी व बुरहानपुर को दिया था। एक साल पहले मात्र 98 करोड़ ही आया था। यह आयकर भी तब आया था जब नोट-बंदी के कारण सभी लोगों के दबे हुए रुपए बाहर आकर बैंकों में जमा हुए थे। ऐसे में विभाग के अफसरों के सामने नया लक्ष्य पूरा करने की चुनौती थी।

मुख्य आयकर आयुक्त अजयकुमार चौहान द्वारा बनाई योजना पर काम किया। बैंकों, जीएसटी पंजीयन व अन्य स्रोतों से मिली जानकारी को खंगाला। नोटिस भेजकर जवाब मांगा। निमाड़ में साल भर में 23 सर्वे किए। इस कारण लक्ष्य तो पूरा हुआ ही, आयकर बढ़ोतरी का रिकार्ड भी बना। इस साल लक्ष्य 108 करोड़ से बढ़कर 27 करोड़ ज्यादा यानी 135 करोड़ रुपए आया। यह 2016-17 में जमा हुए आयकर से 34 प्रतिशत ज्यादा है।

ऐसे बढ़ा कर और आयकर दाता

73 हजार हो गए करदाता

आयकर बढ़ोतरी के साथ ही करदाता भी बढ़े। अब तक चारों जिलों में 65 हजार आयकर दाता थे, अब 8 हजार नए करदाता इसमें जुड़ गए हैं। यानी कुल 73 हजार आयकर दाता हो गए हैं। चारों जिलों में 1500 से 2500 तक आयकर दाता बढ़े हैं।

2017-18 में 8 हजार नए करदाता जुड़े

2017-18 में आयकर भरने वालों की संख्या में 8 हजार तक बढ़ी है। इसमें छोटे व्यापारी शामिल हैं। इस साल कुल 135 करोड़ आयकर जमा हुआ है। -वीजे वोरिचा, संयुक्त कमिश्नर, आयकर

सालाना 10 से 15% बढ़ाकर देते हैं लक्ष्य

आयकर विभाग को सालाना 10 प्रतिशत से 15 प्रतिशत आयकर बढ़ाने का लक्ष्य दिया जाता है। अब 2018-19 में 150 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य मिलेगा।

5 सालों में बढ़ा आयकर

2013-14 38 करोड़

2014-15 45 करोड़

2015-16 60 करोड़

2016-17 98 करोड़

2017-18 135 करोड़

2017-18 में जिला वार आया आयकर

खंडवा 87.05 करोड़

बुरहानपुर 10.95 करोड़

सेंधवा 15.80 करोड़

खरगोन 21.95 कराेड़

कुल आयकर 135.75 करोड़

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×