• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • मकान खाली कराने गए भाजपा नेता ने साथियों के साथ पूर्व एसडीएम को पीटा
--Advertisement--

मकान खाली कराने गए भाजपा नेता ने साथियों के साथ पूर्व एसडीएम को पीटा

भाजपा नेता के रिश्तेदार के मकान का ढाई साल से किराया नहीं दे रहा था एसडीएम का भाई, खाली कराने को लेकर हुआ विवाद ...

Danik Bhaskar | May 11, 2018, 03:25 AM IST
भाजपा नेता के रिश्तेदार के मकान का ढाई साल से किराया नहीं दे रहा था एसडीएम का भाई, खाली कराने को लेकर हुआ विवाद

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

मकान खाली कराने की बात पर गुरुवार रात 10 बजे द्वारकापुरी में नेपानगर पूर्व एसडीएम अनिल सपकाले और भाजयुमो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गजेंद्र पाटील का विवाद हो गया। सपकाले ने गजेंद्र पाटील और उसके 5 से 6 साथियों पर मारपीट का आरोप लगाया। गजेंद्र पाटील ने कहा- मारपीट नहीं की है एसडीएम खुद गिर गए थे।

गजेंद्र पाटील भाजयुमो प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य होने के साथ ही मप्र पावरलूम फेडरेशन अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटील का भतीजा है। लालबाग रोड पर ताप्ती अस्पताल के सामने गजेंद्र पाटील के रिश्तेदार रूपचंद्र अग्रवाल का मकान है। यह मकान रूपचंद ने एसडीएम के भाई संजय सपकाले को किराए पर दिया है। गजेंद्र पाटील ने कहा संजय ढाई साल से मकान का किराया नहीं दे रहा है। रूपचंद मकान खाली करवाना चाहते हैं, क्योंकि यह मकान उन्होंने बेच दिया है। पैसों का लेनदेन अनिल सपकाले करते हैं। इसलिए बातचीत करने के लिए अनिल के द्वारकापुरी स्थित निवास पर गए थे। आवाज देने पर अनिल गुस्से में नीचे आए और विवाद करने लगे। अनिल सपकाले ने कहा- मैं खाना खा रहा था। गजेंद्र पाटील अपने साथियों के साथ आया और मकान खाली करवाने की बात पर मारपीट शुरू कर दी। सिर में चोट लगी। मामला लालबाग थाने पहुंचा। दोनों पक्षों के लोग थाने पर जमा हो गए। पुलिस ने भीड़ को अंदर घुसने से रोका।

थाने पर पूर्व एसडीएम और टीआई के बीच बहस हुई।

शराब पीने की बात कहने पर थाने में हुआ विवाद

थाने पर कार्रवाई के दौरान टीआई डीएस चौहान ने अनिल सपकाले पर शराब के नशे में होने की शंका जताई। यह बात उन्होंने जवान को रिपोर्ट में लिखने के लिए कही। इस पर अनिल सपकाले आक्रोशित हो गए और टीआई से कहा- मैंने शराब नहीं पी है। आज तक शराब मुंह से नहीं लगाई है। आप बार-बार मत कहो कि मैंने शराब पी है। आपकी बातों से ऐसा लग रहा है आप दूसरे पक्ष को सपाेर्ट कर रहे हो। आप यह बात नहीं करोगे कि मैंने शराब पी है। यह एफआईआर डीआईजी तक भी जा सकती है। इस पर टीआई ने कहा- मेडिकल में सब स्पष्ट हो जाएगा। शराब की बात पर एसडीएम ने कहा- मैं शराब नहीं पीता हूं। शुगर बढ़ी हुई है। इसलिए आंखों में सूजन है।

एसडीएम का सागर हो चुका ट्रांसफर

नेपानगर एसडीएम रहते हुए अनिल सपकाले का ट्रांसफर 5 माह पहले सागर हो चुका है लेकिन वे वहां पदस्थ नहीं हुए। सपकाले ने कहा- मैंने ट्रांसफर के मामले में कोर्ट में केस लगाया है। इसलिए अभी पदभार नहीं लिया है।