• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Burhanpur
  • 10 राज्यों की स्पर्धा में प्रदेश को मिले 6 सूचकांक व 9.60 करोड़
--Advertisement--

10 राज्यों की स्पर्धा में प्रदेश को मिले 6 सूचकांक व 9.60 करोड़

Burhanpur News - भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर स्निप योजना के तहत 10 राज्यों के बीच हुई प्रतिस्पर्धा में मप्र को पहला स्थान मिला...

Dainik Bhaskar

May 28, 2018, 03:25 AM IST
10 राज्यों की स्पर्धा में प्रदेश को मिले 6 सूचकांक व 9.60 करोड़
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

स्निप योजना के तहत 10 राज्यों के बीच हुई प्रतिस्पर्धा में मप्र को पहला स्थान मिला है। प्रदेश को 7 में से 6 सूचकांक मिले हैं। साथ ही 9.60 करोड़ रुपए का पुरस्कार पाया है। अंतर्राष्ट्रीय विकास संघ समर्थित एकीकृत बाल विकास परियोजना के सुदृढ़ीकरण और पोषण सुधार के लिए जारी स्निप योजना में बेहतर काम किया गया। इसमें अन्य राज्य मप्र से पीछे रह गए।

महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस ने बताया मध्यप्रदेश को निर्धारित 7में से 6सूचकांक के लक्ष्य प्राप्त करने पर 9 करोड़ 60 लाख रुपए की प्रतिस्पर्धा राशि प्रोत्साहन स्वरूप प्राप्त हुई है। यह राशि और प्रमाण-पत्र दिल्ली में भारत सरकार के सचिव राकेश श्रीवास्तव से प्रदेश के महिला एवं बाल विकास आयुक्त, डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने प्राप्त की। स्पर्धा में छत्तीसगढ़ को द्वितीय, झारखंड, आंध्रप्रदेश को संयुक्त रूप से तीसरा स्थान मिला है। प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। स्निप कार्यक्रम इन राज्यों के साथ बिहार, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र गुजरात, उड़ीसा में चलाया जा रहा है। स्निप कार्यक्रम में सभी राज्यों को सात सूचकांक प्राप्त करने का लक्ष्य दिया गया था। प्रत्येक की प्राप्ति पर भारत सरकार द्वारा 1 करोड़ 60 लाख रुपये प्रतिस्पर्धा राशि प्रदाय किए जाने का प्रावधान था।

पुरस्कार मिलने पर मंत्री चिटनीस ने अफसरों से विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की।

इन कार्यों में आगे रहे हम

योजना में प्रतिस्पर्धा के तहत आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को आंगनवाड़ी गतिविधियों की स्मार्ट फोन के माध्यम से रियल टाइम मॉनिटरिंग, रिर्पोटिंग के लिए जिला, विकासखंड, आंगनवाड़ी स्तर तक तकनीकी और व्यवहारिक प्रशिक्षण देने, आंगनवाड़ी स्तर पर सामुदायिक गतिविधियों और नवाचार के सूचकांक तय थे। हार्डवेयर क्रय, मोबाइल, टेबलेट उपयोग के प्रशिक्षण, समुदाय आधारित गतिविधियों के संचालन और नवाचार संबंधी सूचकांकों को समय सीमा में पूरा किया गया। इन बिंदूओ पर बेहतर काम किया गया।

जिलो में यह कराई गई गतिविधियां

जिलों की 57 हजार 859 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को पोषण और स्वास्थ्य कार्यक्रम में क्षमता बढ़ाने के लिए सामुदायिक गतिविधियों के तहत आंगनवाड़ी केंद्रों में गोदभराई, अन्नप्राशन, मंगल दिवस के आयोजन में जन-भागीदारी, परामर्श सत्रों का आयोजन किया गया। आगर जिले में घरों पर पोषण वाटिका की स्थापना का नवाचार किया गया। परियोजना की सफलता देखते हुए सरकार ने कुछ और कार्यक्रमों और गतिविधियों को जोड़कर हाल ही में आगामी समय के लिए पोषण अभियान (राष्ट्रीय पोषण मिशन) देश भर में चलाए जाने की घोषणा की है। इस निर्णय के तहत वर्ष 2018-19 में प्रदेश के सभी 51 जिलों में पोषण अभियान का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

X
10 राज्यों की स्पर्धा में प्रदेश को मिले 6 सूचकांक व 9.60 करोड़
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..