बुरहानपुर

--Advertisement--

अब फिर से मिलेगी आयुर्वेदिक कॉलेेज में प्रवेश की मान्यता

सांसद और महिला बाल विकास मंत्री के प्रयास से दोबारा शुरू होगा जिले का इकलौता आयुर्वेदिक कॉलेज भास्कर संवाददाता...

Dainik Bhaskar

May 30, 2018, 03:25 AM IST
सांसद और महिला बाल विकास मंत्री के प्रयास से दोबारा शुरू होगा जिले का इकलौता आयुर्वेदिक कॉलेज

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

व्याख्याता और प्रोफेसरों की कमी से छिनी स्वशासी शासकीय पंडित शिवनाथ शास्त्री आयुर्वेदिक कॉलेज में विभिन्न विषयों में प्रवेश की मान्यता 12 साल बाद अब फिर से बहाल होने की संभावना बढ़ गई है। आयुर्वेदिक कॉलेज की मान्यता दोबारा पाने के लिए सांसद नंदकुमारसिंह चौहान और महिला बाल विकास मंत्री अर्चना ने बहुत प्रयास किए।

इसके बाद 6 करोड़ रुपए से ज्यादा लागत पर मोहम्मदपुरा स्थित तीन मंजिला नया भवन बनकर तैयार हुआ। उसके बाद व्याख्याता और प्रोफेसरों के रिक्त पदों की पूर्ति के लिए प्रयास तेज किए। बार-बार आयुष विभाग से पत्राचार करते रहे। समय-समय पर तत्कालीन आयुष मंत्री रूस्तमसिंह से मिलकर समस्या बताते रहे। उनके बाद आयुष मंत्री बने जालमसिंह और प्रमुख सचिव शिखा दुबे से मिलकर चर्चा की। दोनों जनप्रतिनिधियों ने अलग-अलग समय मिलकर रिक्त पदों की पूर्ति की मांग की। मंत्री चिटनीस ने बताया कॉलेज में कुल 30 पद होना चाहिए लेकिन सिर्फ 8 ही प्रोफेसर और व्याख्याता हैं। समस्या को गंभीरता से लेकर आयुष मंत्रालय से 28 मई को आदेश जारी किया गया। इसमें 16 व्याख्यता और प्रोफेसरों पदस्थापना की जाना है। संविदा आधार पर नियुक्ति की स्वीकृति के लिए मंत्री की ओर से मंत्रिमंडल भेजा जाएगा।

X
Click to listen..