Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» शेगांव का बिल, नागपुर की बिल्टी, चिखली का बीज बताया और जांच में मिला चना

शेगांव का बिल, नागपुर की बिल्टी, चिखली का बीज बताया और जांच में मिला चना

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर 2500 रुपए तक किसानों से खरीदा अतिरिक्त चना महाराष्ट्र के कारोबारी ऊंचे दाम पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 01, 2018, 03:25 AM IST

शेगांव का बिल, नागपुर की बिल्टी, चिखली का बीज बताया और जांच में मिला चना
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

2500 रुपए तक किसानों से खरीदा अतिरिक्त चना महाराष्ट्र के कारोबारी ऊंचे दाम पर मध्यप्रदेश के व्यापारियों को देकर समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए सप्लाय कर रहे थे, जिसे भोटा बेरियर पर मंडी के अफसरों ने रोक लिया। जांच में उनमें से 2178.05 क्विंटल चना निकला। 13 ट्रकों सहित अफसरों ने बेरियर पर खड़ा किया। इनमें से दो के चालान बनाकर न्यायालय भेज दिए। दोषी पाने पर पांच गुना मंडी व निराश्रित शुल्क लगेगा।

सप्ताहभर पहले महाराष्ट्र से समर्थन मूल्य पर बिकने के लिए रेणुका कृषि उप मंडी में पकड़ाए चने से भरे ट्रक से प्रशासन के होश उड़ गए थे। इसके बाद कलेक्टर सतेंद्रसिंह ने प्रदेश की सभी सीमाओं पर सख्ती बढ़ाई और खुद भी आधी रात से सुबह तक अवैध चना परिवहन की जांच करने निकले थे। इसके बाद कुछ दिन मामला शांत रहा। दो दिन से फिर अवैध परिवहन शुरू हो गया था। भोटा बेरियर पर मंडी अफसरों ने 13 ट्रक रोके, जो बुलढाणा, हिंगोली, नांदेड़, परभणी से आए थे। चना भरकर इंदौर, देवास, खंडवा के व्यापारी को बेचने जा रहे थे। इसमें से 11 ट्रकों के ड्राइवरों ने दस्तावेज बताए। जबकि दो ट्रक ड्रावइरों के दस्तावेज गड़बड़ मिले। इनके खिलाफ मंडी अधिनियम 1972 की धारा 23 के तहत कर अपवंचन, धारा 6, 19, 36 और 31 के उल्लंघन पर चालान बनाकर न्यायालय भेज दिया। मंडी सचिव रामवीर किरार के अनुसार प्रति सेकड़ा 2% के मान से पांच गुना मंडी शुल्क और 20 पैसे प्रति सेकड़ा निराश्रित शुल्क जुर्माना के रूप में लगाया जाएगा। जांच में निरीक्षक श्रीकांत गंगराड़े सहित कृषि अफसर साथ रहे।

चने के जब्त ट्रकों के साथ मंडी अधिकारी।

बिल, बिल्टी सहित अन्य दस्तावेजों में मिली गड़बड़ी

ट्रक क्रमांक एमपी-09 एचजी-4434 का 208.65 क्विंटल चना सुजित बायोटेक उज्जैन जा रहा था। इसे कृष्णा सिड्स चिखली जिला गुलढाणा के व्यापारी ने बीज लिखा था। दूसरा ट्रक क्रमांक एमपी-09 एचएच-1353 का 218.25 क्विंटल चना शेगांव के राजेंद्र नवीनचंद भायानी नागपुर से भरकर मंदसौर के जटेलिया एंड कंपनी को बेचा था। जांच में उनके पास शेगांव के बिल और बिल्टी नागपुर की मिली। टैक्स चोरी के संदेह में दोनों ट्रक सहित चना जब्त किया। ट्रक सहित चना शाहपुर थाना पुलिस को सुपुर्द कर दिए।

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

2500 रुपए तक किसानों से खरीदा अतिरिक्त चना महाराष्ट्र के कारोबारी ऊंचे दाम पर मध्यप्रदेश के व्यापारियों को देकर समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए सप्लाय कर रहे थे, जिसे भोटा बेरियर पर मंडी के अफसरों ने रोक लिया। जांच में उनमें से 2178.05 क्विंटल चना निकला। 13 ट्रकों सहित अफसरों ने बेरियर पर खड़ा किया। इनमें से दो के चालान बनाकर न्यायालय भेज दिए। दोषी पाने पर पांच गुना मंडी व निराश्रित शुल्क लगेगा।

सप्ताहभर पहले महाराष्ट्र से समर्थन मूल्य पर बिकने के लिए रेणुका कृषि उप मंडी में पकड़ाए चने से भरे ट्रक से प्रशासन के होश उड़ गए थे। इसके बाद कलेक्टर सतेंद्रसिंह ने प्रदेश की सभी सीमाओं पर सख्ती बढ़ाई और खुद भी आधी रात से सुबह तक अवैध चना परिवहन की जांच करने निकले थे। इसके बाद कुछ दिन मामला शांत रहा। दो दिन से फिर अवैध परिवहन शुरू हो गया था। भोटा बेरियर पर मंडी अफसरों ने 13 ट्रक रोके, जो बुलढाणा, हिंगोली, नांदेड़, परभणी से आए थे। चना भरकर इंदौर, देवास, खंडवा के व्यापारी को बेचने जा रहे थे। इसमें से 11 ट्रकों के ड्राइवरों ने दस्तावेज बताए। जबकि दो ट्रक ड्रावइरों के दस्तावेज गड़बड़ मिले। इनके खिलाफ मंडी अधिनियम 1972 की धारा 23 के तहत कर अपवंचन, धारा 6, 19, 36 और 31 के उल्लंघन पर चालान बनाकर न्यायालय भेज दिया। मंडी सचिव रामवीर किरार के अनुसार प्रति सेकड़ा 2% के मान से पांच गुना मंडी शुल्क और 20 पैसे प्रति सेकड़ा निराश्रित शुल्क जुर्माना के रूप में लगाया जाएगा। जांच में निरीक्षक श्रीकांत गंगराड़े सहित कृषि अफसर साथ रहे।

ये ट्रक पकड़ाए

मेहकर के दिनेश ट्रेडिंग कंपनी से 255.95 क्विंटल चना एमपी-09 एचएस-5530 से पुनित प्रोटिन लिमिटेड देवास, खामगांव के रिद्ध-सिद्धी ट्रेडिंग से 214.10 क्विंटल चना एमपी-13 एच-0358, अर्धापुर के गणेश ट्रेडिंग से 166.80 क्विंटल चनप एमपी-09 एचएफ-4840 से अक्षय ट्रेडिंग इंदौर, बाढ़ापुर के श्री भवानी ट्रेडर्स से 170.30 क्विंटल चना एमपी-09 एचएफ-5157 से इंदौर पीपी ट्रेडर्स, देगलोर के लक्की इंटरप्राइजेस से 210 क्विंटल चना एमपी-09 एचजी-9517 से इंदौर आरके ट्रेडिंग, सेनगांव के एएसपीआर एग्रोवेल्यु से 258.30 क्विंटल चना आरजे-27 जीसी-6106 से नरसुल्लागंज के घनश्यामदास पिता महेशकुमार, खामगांव के रिद्ध-सिद्धी ट्रेडिंग से 165.50 क्विंटल चना एमपी-09 एचएफ-5228 से खंडवा के सेठी इंटरप्राइजेस, जिंतूर के हरिओम ट्रेडिंग से 166 क्विंटल चना एमपी-09 एचजी-2701 से देवास के मे. जय श्री महाकाल ट्रेडर्स, चिखली के मे. शंकरलाल भेरूबगस कोठारी से 172.35 क्विंटल चना एमपी-09 एचजी-1292 से देवास के अंिकता ट्रेडर्स, एमपी-09 एचजी-4780 से 231.75 क्विंटल चना देवास के स्वास्तिक ट्रेडिंग, परभणी के राजेश ट्रेडिंग से 167 क्विंटल चना एमपी-09 एचएफ-9894 से देवास के मे. श्री गजानन ट्रेडर्स जा रहा था।

इसलिए हो रहा अवैध परिवहन

प्रदेशभर में समर्थन मूल्य पर चना 4400 रुपए प्रति क्विंटल बिक रहा। जबकि बाजार में 3200 से 3400 रुपए भाव मिल रहा है। महाराष्ट्र में चना प्रति क्विंटल 3300 रु. बिक रहा, जो कि प्रदेश से 1100 रुपए दाम कम है। लाभ कमाने के लिए व्यापारी महाराष्ट्र से चना खरीद रहे हैं। 9 जून खरीदी का अंतिम दिन है। इसलिए अवैध परिवहन भी तेजी से बढ़ गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Burhanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: शेगांव का बिल, नागपुर की बिल्टी, चिखली का बीज बताया और जांच में मिला चना
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×