• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Burhanpur News
  • महाराष्ट्र से बेचने लाए 293 क्विं. चना, खसरा दिखाया केला का, 65 हजार रु. टैक्स लगा
--Advertisement--

महाराष्ट्र से बेचने लाए 293 क्विं. चना, खसरा दिखाया केला का, 65 हजार रु. टैक्स लगा

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर तीन अलग-अलग ट्रकों में महाराष्ट्र के विभिन्न क्षेत्रों से लाए 293 क्विंटल चना...

Danik Bhaskar | May 25, 2018, 03:30 AM IST
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

तीन अलग-अलग ट्रकों में महाराष्ट्र के विभिन्न क्षेत्रों से लाए 293 क्विंटल चना समर्थन पर बेचने से पहले की मंडी की जांच चौकियों पर पकड़ा गया। इनमें से दो ट्रक स्थानीय व्यापारियों ने बुलाए थे। जबकि एक का खुलासा नहीं हो पाया है।

दरियापुर और निंबोला सोसायटी पर महाराष्ट्र का भी चना बिक रहा है। इसे महाराष्ट्र के नहीं जिले के व्यापारी बुलवा रहे हैं। ट्रकों से भरकर अलग-अलग नाम पर 20-20 क्विंटल ला रहे हैं, जिसकी मंडी के अफसरों को शिकायत मिली। मंडी सचिव रामवीर किरार ने जांच सख्त कर दी। बहादरपुर, इच्छापुर जांच चौकी पर निगरानी बढ़ाई गई। इसमें तीन दिन में मंडी कर्मियों ने तीन ट्रक पकड़े। जांच में खुलासा हुआ कि ये स्थानीय व्यापारी बुला रहे। मंडी ने तीनों पर पांच-पांच गुना मंडी टैक्स, निराश्रित और समझौता शुल्क के रूप में 65 हजार 405 रुपए जुर्माना लगाया। ये टैक्स नहीं देने पर मामला न्यायालय में कार्रवाई के लिए भेज दिया जाएगा। कार्रवाई में मंडी निरीक्षक जयराम वानखेड़े, सहायक उपनिरीक्षक श्रीकांत गंगराड़े, जांच चौकी कर्मी शेख मेहमूद, महेश बोराड़े शामिल थे। बुधवार रात रावेर के कुम्हारखेड़ा से तुलाई कर ट्रक क्रमांक एमपी-68 जी-0216 में 113 क्विंटल चना लेकर निकले थे। जिसे बुरहानपुर में सरकारी सोसायटी पर समर्थन मूल्य में बेचा जाना था लेकिन बहादरपुर की जांच चौकी पर ट्रक पकड़ा गया। ट्रक ड्राइवर आजाद नगर का सादिक बैग था। पूछताछ पर उसने किसान का चना बताया। उससे दस्तावेज मांगे। उसने खसरा निकालकर दिखाया। इसमें केला और कपास का दर्शाया हुआ था। चने के कोई दस्तावेज नहीं मिले। कोई किसान भी देखने नहीं आया। दोपहर 1.30 बजे पाताेंड़ा पंडित सीताराम आया, जो चने को अपने दामाद का बताने लगा लेकिन उसने नाम नहीं बताया। जिस पर 48505 रुपए जुर्माना लगाया। इसमें निर्धारित 2% मंडी टैक्स का पांच गुना यानी 39550 रुपए, निराश्रित शुल्क 3955, समझौता शुल्क 5 हजार रुपए लगाया। ट्रक का पंचनामा बनाकर चना शिकारपुरा पुलिस के सुपुर्द किया।

इधर... नजूल पट्‌टे का बाकी नहीं तो 30 साल के लिए होगा नवीनीकरण

बुरहानपुर | नजूल के स्थायी पट्‌टों के नवीनीकरण की नयी नीति तय हुई है। अब स्थायी पट्‌टों की शर्तों के उल्लंघन प्रकरणों का त्वरित निराकरण होने के साथ ही पट्‌टों का नवीनीकरण भी जल्द होगा यह काम कलेक्टर या उनके द्वारा नियुक्त अधिकारी करेंगे। अधिकारी नवीनीकरण के पहले वार्षिक भू-भाटक का 6 गुना होगा।

जांच चौकी से अवैध परिवहन कर ला रहे चने से भरा ट्रक रेणुका कृषि उपज मंडी लाकर खड़ा किया। अफसरों ने जांच की।

कोर्ट भेजने की तैयारी से पहले सामने आया व्यापारी

21 मई की सुबह शिकारपुरा थाना के पास ट्रक क्रमांक एमएच-04 एचपी-1224 से जांच चौकी पर 100 क्विंटल चना पकड़ाया था। पंचनामा बनाकर न्यायालय भेजने की तैयारी से पहले पंजीकृत व्यापारी पार्श्वनाथ ट्रेडिंग के शुभम जैन पहुंच गए। उन्होंने चना अपना बताकर समझाैता कर लिया। मंडी अफसरों ने उस पर मंडी टैक्स 9240 रुपए लगाया। पहले चना और ट्रक की जब्ती दर्ज की। बाद में व्यापारियों को लौटा दिया। ये चना शिर्डी से बुलवाया था।

मंडी शुल्क लेकर छोड़ा चने से भरा ट्रक

उसी दिन सुबह निधि ट्रेडर्स के शैलेष जैन का 80 क्विंटल चना ट्रक में रेणुका कृषि उपज मंडी में प्रवेश करने से पहले ही जांच के दौरान पकड़ में आया। ड्राइवर द्वारा उपज के दस्तावेज नहीं बताने पर कार्रवाई से पहले व्यापारी सामने आने पर जांच चौकी के अफसरों ने मंडी शुल्क के रूप में 7700 रुपए वसूल कर लिया। इसके बाद ट्रक सहित चना व्यापारी के हवाले कर दिया। इसका भी चालक बुरहानपुर का रहने वाला निकला।