--Advertisement--

पहले विरोध, आश्वासन पर महापौर जिंदाबाद के नारे लगाए

पानी की समस्या को लेकर गुरुनानक वार्ड और शनवारा क्षेत्र से निगम आए लोग भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर पानी की...

Danik Bhaskar | May 25, 2018, 03:30 AM IST
पानी की समस्या को लेकर गुरुनानक वार्ड और शनवारा क्षेत्र से निगम आए लोग

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

पानी की समस्या को लेकर गुरुनानक वार्ड और शनवारा क्षेत्र के लोगों ने नगर निगम कार्यालय में घुसकर खूब विरोध किया। अफसर-कर्मचारियों को खरी-खोटी सुनाई और आश्वासन मिलने पर महापौर जिंदाबाद के नारे लगाए।

कांग्रेस पार्षद पति असलम अंसारी क्षेत्रवासियों के साथ गुरुवार दोपहर 1.30 बजे निगम निगम कार्यालय पहुंच गए। पार्षद पति और शेख वहाब ने कहा हमारे वार्ड में जय स्तंभ पर इतनी बड़ी टंकी लेकिन क्षेत्रवासियों के किसी काम की नहीं है। क्षेत्र में रखी टंकी का पानी एक दिन में खत्म हो जाता है। कभी-कभी टैंकर आता है वो भी पूर्ति नहीं कर पाता। निगम कर्मचारी एक ट्यूबवेल खोदकर चले गए। उसके बाद से न पाइप लाइन बिछी न उसे बिजली कनेक्शन से जोड़ा गया। गर्मी खत्म होने का आ गई है, क्या अब अगले साल ही काम कराओगे। महापौर अनिल भोसले ने कहा आज ही दिखवाता हूं। मेरी ओर से निश्चिंत रहो, जल्द तुम्हारी समस्या हल हो जाएगी। जिसके बाद लोगों ने महापौर जिंदाबाद के नारे लगाए और चले गए। गुरूनानक वार्ड की महिलाओं ने कहा दो महीने से घरों में भरपूर पानी नहीं मिला है। जल स्तर गिर गया है, सिंधीबस्ती और इंदिरा कॉलोनी से पानी लाना पड़ रहा है। महापौर ने उन्हें भी आश्वासन देकर भेज दिया।

पांच अफसरों को सौंपी जिम्मेदारी- शहर की पेयजल व्यवस्था काे सुचारू रूप से संचालित करने के लिए महापौर ने क्षेत्रवार तकनीकी अधिकारियों की जवाबदेही सुनिश्चित की। उन्हें अलग-अलग क्षेत्र का उत्तरदायित्व देकर जल संकट से निपटने के निर्देश दिए। जिसमें राजस्व अधिकारी मोहनलाल सोलंकी को सिंधीबस्ती, धीरेंद्रसिंह सिकरवार को लालबाग, अशोक पाटील को ताप्ती पंप, अनिल गंगराड़े को उतावली पंपीग स्टेशन, गोपाल महाजन को शहर के संपवले की जिम्मेदारी सौंपी। महापौर ने उन्हें क्षेत्रवार जलसंकट के प्रति जिम्मेदार बताया।