Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» प्रदेश के सभी जिलों के लिए वन स्टाप सेंटर स्वीकृत

प्रदेश के सभी जिलों के लिए वन स्टाप सेंटर स्वीकृत

बुरहानपुर| महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस ने बताया हिंसा से पीडि़त महिलाओं और बालिकाओं को एक ही छत के नीचे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 11, 2018, 03:30 AM IST

बुरहानपुर| महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस ने बताया हिंसा से पीडि़त महिलाओं और बालिकाओं को एक ही छत के नीचे सभी आवश्यक सहायता उपलब्ध करवाने के लिए प्रदेश के शेष 25 जिलों में भी वन स्टाप सेंटर स्थापित किए जाएंगे। भारत सरकार के इस निर्णय से अब प्रदेश के सभी जिलों में वन स्टाप सेंटर स्थापित हो जाएंगे। वन स्टाप सेंटर में किसी भी प्रकार की हिंसा से पीड़ित महिलाओं और बालिकाओं को पुलिस की मदद, चिकित्सा, विधिक सहायता, मनो-वैज्ञानिक सांत्वना और सामजिक परामर्श उपलब्ध कराए जाते हैं। वर्ष 2016-17में 18 और 2017-18 में 8 जिलों के लिए वन स्टाप सेंटर स्वीकृत किए गए थे। महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस प्रदेश के सभी जिलों में सेंटर स्थापित करने के लिए निरंतर प्रयासरत थीं। मई 2018 में केंद्र सरकार द्वारा प्रदेश के शेष 25 जिले, जिसमें आगर-मालवा, अलीराजपुर, अनूपपुर, अशोकनगर, बालाघाट, बड़वानी, बैतूल, भिंड, छतरपुर, दमोह, डिंडोरी, गुना, झाबुआ, मंडला, मंदसौर, नरसिंहपुर, नीमच, रायसेन, राजगढ़, सीहोर, शाजापुर, श्योपुर, सीधी, टीकमगढ़ और उमरिया के लिए वन स्टाप सेंटर स्वीकृत किए गए हैं। वर्ष 2016-17 में इंदौर, ग्वालियर, रीवा, सतना, देवास, उज्जैन, खंडवा, रतलाम, बुरहानपुर, भोपाल, सागर, जबलपुर, कटनी, सिंगरौली, छिंदवाड़ा, मुरैना, शहडोल और होशंगाबाद और वर्ष 2017-18 में धार, हरदा, पन्ना, दतिया, खरगौन, शिवपुरी, सिवनी और विदिशा के लिए वन स्टाप सेंटर स्वीकृत किए गए थे। वर्ष 2017 में प्रदेश के वन स्टाप सेंटर एमआईएस प्रोजेक्ट को स्काच सिल्वर अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Burhanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: प्रदेश के सभी जिलों के लिए वन स्टाप सेंटर स्वीकृत
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×