Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» पुरुषोत्तम मास भगवान श्री हरि को बहुत प्रिय- चौहान

पुरुषोत्तम मास भगवान श्री हरि को बहुत प्रिय- चौहान

पुरुषोत्तम मास भगवान श्री हरि को बहुत प्रिय- चौहान भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर इतवारा स्थित उदासीन आश्रम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 03:30 AM IST

पुरुषोत्तम मास भगवान श्री हरि को बहुत प्रिय- चौहान

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

इतवारा स्थित उदासीन आश्रम में पुरुषोत्तम मास के तहत चल रही कथा का बुधवार को समापन हुआ। स्वामी योगेश्वरानंदजी, पुष्करानंदजी महाराज का सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने पुष्पमाला पहनाकर शाॅल, श्रीफल से सम्मान किया। सांसद चौहान ने कहा हर तीन वर्ष बाद आने वाला पुरुषोत्तम जिसे अधिक मास से जाना और पुकारा जाता है। यह मास भगवान श्री हरि को बहुत प्रिय है। इस मास में की गई भक्ति, आराधना के साथ पुरुषोत्तम मास की कथा का श्रवण करते हो तो इससे हमारे जीवन में पूण्य लाभ देता है।

पटवारियों की हड़ताल से रुके काम

सिरपुर |
1 जून से पटवारियों की हड़ताल जारी है। खकनार क्षेत्र के लोगाें ने कहा हल्के पटवारियो ने तहसील कार्यालय में जमा कर दिए है। लोगों के नामांतरण, सीमांकन, बंटवारे सहित अन्य काम नहीं हो पा रहे है। खकनार क्षेत्र में एक पटवारी के पास चार हल्को का प्रभार है। काम का दबाव ज्यादा है। काम प्रभावित हो रहे हैं।

पुलिस आने पर बैल छोड़कर भागे आरोपी

निंबोला |
निंबोला पुलिस ने ग्राम चुलखान के पास से चार बैल जब्त किए हैं। पुलिस से प्राप्त जानकारी के मुताबिक आरोपी ग्राम चुलखान होते हुए चार बैल लेकर जा रहे थे। लोगों ने पूछताछ की तो आरोपी जवाब नहीं दे सके। इस पर लोगों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पुलिस पहुंचने से पहले आरोपी बैल छोड़कर भाग गए। बैलों को जब्त कर निंबोला थाने लाया गया। कार्रवाई में एएसआई एसएस चौहान, आरक्षक कुंदन पवार, राजकुमार वर्मा शामिल थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Burhanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: पुरुषोत्तम मास भगवान श्री हरि को बहुत प्रिय- चौहान
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×