• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Burhanpur
  • 10% बढ़े किराए से असंतुष्ट बस संचालकों की हड़ताल आज से, नहीं चलेंगी 250 बसें
--Advertisement--

10% बढ़े किराए से असंतुष्ट बस संचालकों की हड़ताल आज से, नहीं चलेंगी 250 बसें

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर तीन साल में प्रति लीटर डीजल में 18 रुपए, मेंटेनेंस, वेतन सहित अन्य खर्च बढ़ने पर 40...

Dainik Bhaskar

May 21, 2018, 03:30 AM IST
10% बढ़े किराए से असंतुष्ट बस संचालकों की हड़ताल आज से, नहीं चलेंगी 250 बसें
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

तीन साल में प्रति लीटर डीजल में 18 रुपए, मेंटेनेंस, वेतन सहित अन्य खर्च बढ़ने पर 40 प्रतिशत किराया बढ़ाने की मांग पर अड़े बस संचालक सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे। ऐसे में 250 बसें नहीं चलेगी। इससे 20 हजार यात्री प्रभावित हो जाएंगे।

एक दिन पहले रविवार रात 12 बजे से संचालकों ने अपनी-अपनी बसों को पुष्पक बस स्टैंड से हटा दिया। बसों पर हड़ताल का बैनर लगाकर अपने-अपने घरों के पास सूने इलाकों में खड़ी कर दी। राष्ट्रीय बस ऑनर्स के आह्वान पर आज से मध्यप्रदेश सहित महाराष्ट्र, राजस्थान और गुजरात की बसें नहीं आएगी। पुष्पक बस स्टैंड पर रोजाना चारों जिलों की 250 से ज्यादा बसों का संचालन होता है। इसमें से 125 बसें स्थानीय और 125 अन्य शहर व राज्य से चलती है। इसमें रोजाना बस स्टैंड से 20 हजार यात्रियों का आना-जाना होता है। ऐसे में बस संचालकों को रोजाना 20 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान होगा। सबसे ज्यादा यात्रियों को आने-जाने में परेशानी होगी। माजदा, क्रूजर, ऑटो, टेम्पो, तांगे सहित अन्य वाहन चलेंगे लेकिन मनमाने किराए से यात्रियों की परेशानी बढ़ जाएगी। ऐसे में कोई विवाद होता है, इसका जिम्मेदार प्रशासन रहेगा। बस एसोसिएशन अध्यक्ष योगेश चौकसे ने कहा- तीन साल पहले डीजल के दाम बढ़ने पर किराया 97 पैसे प्रति किमी निर्धारित किया था। इसके तुरंत बाद डीजल के दाम 54 रुपए होने पर परिवहन विभाग ने दो पैसे घटाकर किराया 92 पैसे प्रति किमी कर दिया था। इसके बाद से अब तक डीजल के दाम में 18 रुपए की बढ़ोतरी हो गई है। मेंटेनेंस, कर्मचारी का वेतन और बीमा का खर्च बढ़ गया है लेकिन हम पुराने दर पर किराया ले रहे हैं। इससे संचालकों को बचत नहीं हो रही है। खर्च पर खर्च बढ़ता जा रहा है।

रोजाना 20 हजार यात्री करते हैं सफर, होंगे परेशान, वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं

अनिश्चितकालीन हड़ताल से एक दिन पहले रविवार को बस स्टैंड पर संचालक, ड्राइवर और कंडक्टर ने हड़ताल का अह्वान किया।

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

तीन साल में प्रति लीटर डीजल में 18 रुपए, मेंटेनेंस, वेतन सहित अन्य खर्च बढ़ने पर 40 प्रतिशत किराया बढ़ाने की मांग पर अड़े बस संचालक सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे। ऐसे में 250 बसें नहीं चलेगी। इससे 20 हजार यात्री प्रभावित हो जाएंगे।

एक दिन पहले रविवार रात 12 बजे से संचालकों ने अपनी-अपनी बसों को पुष्पक बस स्टैंड से हटा दिया। बसों पर हड़ताल का बैनर लगाकर अपने-अपने घरों के पास सूने इलाकों में खड़ी कर दी। राष्ट्रीय बस ऑनर्स के आह्वान पर आज से मध्यप्रदेश सहित महाराष्ट्र, राजस्थान और गुजरात की बसें नहीं आएगी। पुष्पक बस स्टैंड पर रोजाना चारों जिलों की 250 से ज्यादा बसों का संचालन होता है। इसमें से 125 बसें स्थानीय और 125 अन्य शहर व राज्य से चलती है। इसमें रोजाना बस स्टैंड से 20 हजार यात्रियों का आना-जाना होता है। ऐसे में बस संचालकों को रोजाना 20 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान होगा। सबसे ज्यादा यात्रियों को आने-जाने में परेशानी होगी। माजदा, क्रूजर, ऑटो, टेम्पो, तांगे सहित अन्य वाहन चलेंगे लेकिन मनमाने किराए से यात्रियों की परेशानी बढ़ जाएगी। ऐसे में कोई विवाद होता है, इसका जिम्मेदार प्रशासन रहेगा। बस एसोसिएशन अध्यक्ष योगेश चौकसे ने कहा- तीन साल पहले डीजल के दाम बढ़ने पर किराया 97 पैसे प्रति किमी निर्धारित किया था। इसके तुरंत बाद डीजल के दाम 54 रुपए होने पर परिवहन विभाग ने दो पैसे घटाकर किराया 92 पैसे प्रति किमी कर दिया था। इसके बाद से अब तक डीजल के दाम में 18 रुपए की बढ़ोतरी हो गई है। मेंटेनेंस, कर्मचारी का वेतन और बीमा का खर्च बढ़ गया है लेकिन हम पुराने दर पर किराया ले रहे हैं। इससे संचालकों को बचत नहीं हो रही है। खर्च पर खर्च बढ़ता जा रहा है।

हड़ताल के निर्णय से डरकर 10% किराया बढ़ाया

राष्ट्रीय स्तर पर मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल के निर्णय के बाद परिवहन विभाग ने मात्र 10 प्रतिशत किराए में बढ़ोतरी का आदेश जारी किया लेकिन बस संचालक इससे संतुष्ट नहीं हो पाए। उन्होंने 30 प्रतिशत और किराया बढ़ाने पर हड़ताल टालने की चेतावनी दी है।

ये5 रूट होंगे प्रभावित

ग्रीष्मकालीन अवकाश के कारण बसों में भीड़ चल रही थी। अनिश्चितकालीन हड़ताल से महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात सहित मध्यप्रदेश के इंदौर, खरगोन, बड़वानी, देड़तलाई, इच्छापुर के रूट प्रभावित होंगे, क्योंकि यहां जाने के लिए ट्रेन की सुविधा नहीं है।

यहां ट्रेन से पहुंच सकेंगे यात्री

खंडवा, जलगांव, भुसावल, रावेर, सावदा, औरंगाबाद, सूरत सहित अन्य क्षेत्रों में ट्रेन सुविधा होने से यात्री रेलवे से सफर कर सकेंगे। ट्रेनों में पहले से भीड़ है, ऐसे में और संख्या बढ़ने से परेशानी होगी।

यह है मांग

वर्तमान में प्रति किलोमीटर 92 पैसे किराया निर्धारित है। अब संचालक प्रति किलोमीटर 1.35 रुपए मांग रहे हैं।

X
10% बढ़े किराए से असंतुष्ट बस संचालकों की हड़ताल आज से, नहीं चलेंगी 250 बसें
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..