Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» बैंक के कर्ज से तंग किसान ने कीटनाशक पीया, तीसरे दिन तोड़ा दम

बैंक के कर्ज से तंग किसान ने कीटनाशक पीया, तीसरे दिन तोड़ा दम

फसल के अलावा थ्रेसर, ट्रैक्टर, रोटावेटर खरीदने के लिए लिया था लोन, हो गया 25 लाख का कर्ज भास्कर संवाददाता |...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 04:20 AM IST

  • बैंक के कर्ज से तंग किसान ने कीटनाशक पीया, तीसरे दिन तोड़ा दम
    +1और स्लाइड देखें
    फसल के अलावा थ्रेसर, ट्रैक्टर, रोटावेटर खरीदने के लिए लिया था लोन, हो गया 25 लाख का कर्ज

    भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

    बैंक के लगभग 25 लाख रुपए से ज्यादा के कर्ज से तंग आकर एक और किसान ने कीटनाशक दवा पीकर आत्महत्या कर ली। करीब डेढ़ महीने से कर्ज चुकाने को लेकर परेशान था। दिनरात रुपए जुटाने में लगा रहता था।

    खैराती बाजार निवासी गणेश पिता रामदास पटेल (45)। जैनाबाद गुप्तेश्वर मंदिर के पास 10 एकड़ खेत है, जिससे अब तक परिवार का पालन-पोषण चल रहा था। पहले फसल लगाने के लिए कर्ज उठाया। तीन-चार माह पहले उसकी कपास फसल खराब हो गई। एक माह पहले फिर से मौसम ने साथ नहीं दिया, जिससे सोयाबीन फसल खराब हो गई। घर में बड़ा होने के नाते सारी जिम्मेदारियां थी। इसलिए आय बढ़ाने का नया तरीका अपनाया। एक ट्रैक्टर, एक थ्रेशर मशीन, रोटावेटर, स्प्रिंक्लर सहित अन्य संसाधन खरीदे। किराए पर देने के लिए चलाए भी लेकिन कुछ खास आमदनी नहीं हुई। बैंक और फायनेंस मिलाकर 25 लाख का कर्ज था। इसकी हर छह माह में चुकाने की किस्त आती थी। इसके लिए पहले से रुपए जुटाने पड़ते थे। इस बार किस्त की तारीख पास आ गई और कर्ज चुकाने के लिए रकम नहीं जुटा पाया। बुधवार देर रात तक गणेश घर नहीं लौटा। लगभग 9.30 बजे प|ी गायत्री को फोन आया। तुरंत जिला अस्पताल में पति को देखने पहुंच गए। यहां पता चला उन्होंने कीटनाशक पी लिया। रात 8 बजे कीटनाशक पीकर खेत में पड़े थे। आसपास के लोग उन्हें अस्पताल लाए थे लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें गंभीर बताकर रेफर कर दिया। यहां से परिजन उन्हें जलगांव ले गए। जहां शुक्रवार सुबह 8.30 बजे दम तोड़ दिया।

    गणेश

    पुत्र अजय िबलखता हुआ।

    शहर पहुंचने पर परिजन को मौत की खबर दी

    इधर दोपहर 2.30 बजे तक प|ी और बच्चों को खबर नहीं की। शाहपुर तक शववाहिनी से शव लाने पर परिजन को मौत की खबर दी। जिसके बाद पूरे क्षेत्र में मातम पसर गया। शाम 4 बजे घर से शवयात्रा निकाली गई। 12 साल के छोटे बेटे अजय ने मुखाग्नि दी। उन्हें बेटी हर्ष और नेहा हैं। किसान का छोटा भाई महेंद्र है जो अभी-अभी खेती काम करने लगा है। परिजनों में शोक व्याप्त है।

    पीड़ित परिवार को मिलना चाहिए आर्थिक सहायता

    किसान के आत्महत्या के मामले में कांग्रेस ने पीड़ित परिवार को सहायता दिए जाने की मांग की है। शनिवार को कांग्रेसी पीड़ित परिवार से मिलेंगे। मामले की पूरी जानकारी लेंगे। आर्थिक सहायता दिलाने के लिए शासन, प्रशासन तक आवाज उठाएंगे। शहर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजयसिंह रघुवंशी ने कहा- घर, परिवार का माहौल गमगीन होने के कारण पीड़ित परिवार से बात नहीं हो पाई है। परिजन से मिलकर पूरी जानकारी लेंगे। पीड़ित परिवार को शासन से अार्थिक सहायता मिलना चाहिए। इसके लिए हम खुद प्रयास करेंगे। कलेक्टर से मुलाकात कर मामले में कार्रवाई की मांग करेंगे। किसान के आत्महत्या के मामले में शनिवार दोपहर 12 बजे कांग्रेस की प्रेस कांफ्रेंस होगी। श्री रघुवंशी ने कहा एक महीने में जिले में दो किसानों ने आत्महत्या कर ली है। भोलाना में किसान की आत्महत्या के मामले को शासन, प्रशासन ने दबा दिया। अब दूसरे मामले में ऐसा नहीं होने देंगे। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को किसानों की चिंता है तो वह बुरहानपुर आकर पीड़ित परिवारों से मिले। उनकी परेशानी सुने। अार्थिक सहायता दिलाए। सरकार की सभी योजनाएं जमीन पर फेल हो रही है। पूरे प्रदेश में किसान कर्ज में डूबे हैं।

  • बैंक के कर्ज से तंग किसान ने कीटनाशक पीया, तीसरे दिन तोड़ा दम
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Burhanpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बैंक के कर्ज से तंग किसान ने कीटनाशक पीया, तीसरे दिन तोड़ा दम
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×