Hindi News »Madhya Pradesh »Burhanpur» 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास

80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास

भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड की हायर सेकंडरी में 80.13 प्रतिशत अंक से 4.79% की बढ़ोतरी के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 04:25 AM IST

  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

    माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड की हायर सेकंडरी में 80.13 प्रतिशत अंक से 4.79% की बढ़ोतरी के कारण संभाग में इस बार हमारा पहला स्थान आया है। हाईस्कूल में पिछले साल की तुलना में 73.95% अंक के साथ 14.04 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ हम तीसरे स्थान पर रहे लेकिन पिछले पांच साल की तुलना में हमारा शिक्षा का प्रतिशत काफी अच्छा बढ़ा है। इसमें जिले से हाईस्कूल व हायर सेकंडरी के चार-चार टॉपर रहे। इसमें से एक भी सरकारी स्कूल का विद्यार्थी स्थान नहीं बना पाया है।

    सोमवार सुबह 11.30 बजे तक सरकारी वेबसाइट पर परिणाम नहीं आया। जबकि मप्र की दूसरी वेबसाइट्स पर 10.30 बजे से परिणाम जारी हो गए थे। इसमें कक्षा 12वीं और 10वीं के परीक्षा परिणाम ने सबको चौका दिया। पिछले पांच सालों की तुलना में इस बार का परिणाम बहुत अच्छा रहा है, क्योंकि बेस्ट ऑफ फाइव योजना लागू होने से इस बार 10वीं में पूरक वालों की संख्या घटी है। इसमें छह में से एक विषय फेल वाले को भी पास माना गया है। इस कारण जिले से 579 ही पूरक में आए है, जिसमें 262 बालिका और 317 बालक हैं। पिछले साल के आकड़ों की तुलना में 65 फीसदी कम विद्यार्थी पूरक में है लेकिन 1052 फेल हुए हैं। इसमें 338 बालिका व 714 बालक हैं। जो कि पिछले साल की तुलना में 24 फीसदी फेल की संख्या बढ़ गई है।

    आयुषी पिता चंद्रशेखर शाह

    98.6% (10वीं)

    चितवन पिता रवींद्र नाइक

    98.6% (10वीं)

    हिमांशी पिता विनोद पवार

    98.4% (10वीं)

    अधिवक्ता, कारपेंटर, फेरी वाले की बेटी, मजदूर व आटा चक्की वाले के बेटे ने किया जिले में टॉप

    दिमाग शांत रख शेड्यूल बनाकर पढ़ो

    प्रथम राबिया के पिता मोहम्मद फारूख अधिवक्ता है। उन्होंने कहा मैं सुबह-शाम बिना ट्यूशन सिर्फ तीन-तीन घंटे पढ़ती थी। दादा कहते है पढ़ाई के बीच समय निकालकर मनोरंजन करना चाहिए। जिससे पढ़ाई में मन लगा रहता है। यही तरीका अपनाया और प्रतिशत: 96.8 अंक ले आई।

    विषयों को समझना ही सफलता

    तृतीय सिंदखेड़ा की शिवानी के पिता सुनील महाजन वैन से जनरल स्टोर्स पर सामान पहुंचाते है। पारिवारिक स्थिति को बदलने के लिए पढ़ने का तरीका समझा। विषयों को समझकर तैयारी की। स्कूल में पुरानी वार्षिक परीक्षा के प्रश्न पत्र हल कराए। इस कारण 96.2 प्रतिशत अंक ला पाई।

    विषय वार रिजल्ट पर नजर

    साक्षी पिता विजय महाजन

    98.4% (10वीं)

    साइंस में पास होने वाले 8.89% और कॉमर्स में 3.59 प्रतिशत छात्र-छात्राएं ज्यादा पास हुए है लेकिन ह्युमिनिटी वाले 2.93, एग्रीकल्चर के 0.24 और होम साइंस 4.76 प्रतिशत विद्यार्थी कम पास हुए है।

    सानिका पिता ईश्वर पाटील

    98.2% (10वीं)

    प्रथमेश पिता सुनील टीकले

    97.6% (10वीं)

    विषय पढ़ने-लिखने का तरीका सीखा

    द्वितीय स्थान पर लेबर कॉलोनी वैष्णवी के पिता कृष्णा जाधव कारपेंटर है। उन्होंने कहा परिवार की दयनीय परिस्थिति ने मुझे आगे बढ़ने के लिए पढ़ाई में रूचि पैदा की। मैने मेरिट आने के लिए परीक्षा में लिखना, पढ़ने का तरीका अपनाया। विषय को समझा और आज 96.4 प्रतिशत अंक लाई।

    पिता से प्रेरित हो पहला स्थान पाया

    12वीं में न्यू सरस्वती स्कूल सारोला की छात्रा निदा के पिता िफरोज कुरैशी कादरिया कॉलेज से एमएससी तक पढ़े। उन्हीं से प्रेरित होकर पढ़ाई की और 93.2 प्रतिशत अंक प्राप्त कर जिले में प्रथम स्थान पाया। पिता खेती करते हैं। माता गृहिणी हैं।

    साइंस

    2018 79.68

    2017 70.79

    अंतर +8.89

    जिले के टॉप 10 में ये आए

    कॉमर्स

    2018 86.79

    2017 83.20

    अंतर +3.59

    राबिया पिता मो. फारूख फारुकी

    96.8% (10वीं)

    ह्युमिनिटी

    2018 77.31

    2017 80.24

    अंतर -2.93

    वैष्णवी पिता कृष्णा जाधवे

    96.4% (10वीं)

    दीदी की प्रेरणा से मिली सफलता

    रास्तीपुरा के तुषार के पिता जगन्नाथ महाजन खेत मजदूरी करते हैं। फिर भी दीदी बीसीए कर रही है। उन्हें देख प्रेरणा मिली और पढ़ाई कर राज्य की मेरिट लिस्ट में आने का मन बनाया, लेकिन आर्थिक स्थित कमजोर होने से ज्यादा समय नहीं दे पाए। फिर 96.2 प्रतिशत से जिले के टॉप तीन में आए।

    शिक्षक की बेटी दूसरे स्थान पर

    प्रगति नगर के शिक्षक नरेंद्र जाधव की बेटी अभिलाषा ने 92.8 प्रतिशत अंक से जिले में द्वितीय स्थान पाया। वो बताती है पढ़ाई के समय दिमाग पर जोर न दे। खान-पान का ध्यान रखे, नींद सात से आठ घंटे ले ताकि पढ़ाई में मन लगा रहे। ये तरीका अपनाकर 10वीं में तीसरा स्थान पाया था।

    एग्रीकल्चर

    2018 76.68

    2017 76.92

    अंतर -0.24

    तुषार जगन्नाथ महाजन

    96.2% (10वीं)

    होम साइंस

    2018 90.47

    2017 95.23

    अंतर -4.76

    शिवानी सुनील महाजन

    96.2% (10वीं)

    ये परिणाम चिंताजनक - यह दूसरा वर्ष है सरकारी स्कूल से 12वीं का टॉप नहीं निकला है। शिक्षा विभाग के दावों की पोल खुल रही है।

    निदा पिता फिरोज

    93.2% (12वीं)

    10वीं

    6266 कुल छात्र परीक्षा में शामिल हुए वर्ष 2017-18

    4632कुल पास, जिसमें 2287 बालिका व 2345 बालक

    579को पूरक, इसमें 262 छात्राएं व 317 छात्र

    1052स्टूडेंट्स जिले में फेल

    12वीं

    3871 कुल छात्र परीक्षा में शामिल हुए वर्ष 2017-18

    3102कुल पास, 1587 बालिका व 1515 बालक

    400को पूरक, इसमें 185 छात्राएं व 215 छात्र

    369स्टूडेंट्स जिले में फेल

    निकेश- पिता नरेश वर्मा सिलेंडर सप्लाय करते है। बेटे निकेश ने 92.8 प्रतिशत अंक से जिले में दूसरा स्थान पाया।

    अभिलाषा पिता नरेंद्र जाधव

    92.8% (12वीं)

    संभाग से 10वीं में हम तीसरे

    खंडवा 75.12

    खरगोन 75.09

    बुरहानपुर 73.95

    बड़वानी 72.47

    इंदौर 70.36

    धार 70.14

    अलीराजपुर 64.77

    निकेश पिता नरेश वर्मा

    92.8% (12वीं)

    5 साल का परिणाम

    वर्ष 10वीं 12वीं

    2018 73.95 80.13

    2017 59.91 75.34

    2016 58.67 74.48

    2015 54.61 69.86

    2014 52.11 74.00

    10वीं: प्रथम, द्वितीय और तृतीय छात्र

    वर्ष प्रथम द्वितीय तृतीय

    2018 50.94 40.37 08.67

    2017 47.63 45.55 06.80

    2016 44.16 46.09 09.73

    2015 39.97 49.65 10.36

    2014 43.30 45.04 11.64

    12वीं: प्रथम, द्वितीय और तृतीय छात्र

    वर्ष प्रथम द्वितीय तृतीय

    2018 64.02 31.88 04.09

    2017 67.01 28.61 04.36

    2016 52.70 39.28 08.01

    2015 55.30 3892 05.76

    2014 52.58 40.17 07.23

    कृष्णा पिता निवृत्ति पाटील

    92.2% (12वीं)

    संभाग से 12वीं में हम पहले

    बुरहानपुर 80.13

    खंडवा 79.71

    इंदौर 75.16

    खरगोन 74

    बड़वानी 65.90

    धार 63.07

    अलीराजपुर 54.64

  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
  • 80.13% के साथ 12वीं में संभाग में हमारा पहला स्थान, बेस्ट ऑफ 5 के कारण 10वीं में पिछले साल से 14.04% ज्यादा पास
    +8और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Burhanpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×