विज्ञापन

सीईओ ने पंचायत में रखवाया रजिस्टर, जांच करने आने वाले अधिकारी दर्ज करेंगे उल्लेख

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 04:06 AM IST

Burhanpur News - जनपद पंचायत सीईओ आरबीएस दंडोतिया ने बुधवार को अंबाड़ा पंचायत कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण...

Nepanagar News - mp news ceos mention in the panchayat kept register officers coming to investigate
  • comment
जनपद पंचायत सीईओ आरबीएस दंडोतिया ने बुधवार को अंबाड़ा पंचायत कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण रजिस्टर मांगा लेकिन सहायक सचिव संजय मांजरेकर रजिस्टर नहीं दिखा नहीं पाए। उन्होंने नियमित रूप से पंचायत में निरीक्षण रजिस्टर रखने के निर्देश दिए। सीईओ ने कहा गांव में कोई भी अधिकारी निरीक्षण के लिए आता है तो वह इस रजिस्टर में जानकारी लिखे। इससे कार्यों की प्रगति का पता चल सकेगा। इसके बाद सीईओ ने विभिन्न कार्यों की जानकारी ली। सचिव हीरालाल नायके सुबह 11 बजे पंचायत पहुंचे। सीईओ ने उन्हें समय पर पंचायत पहुंचने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी पंचायतों इसी तरह निरीक्षण रजिस्टर बनाने की बात कही।

सीईओ दंडोतिया सुबह 11 अंबाड़ा पंचायत पहुंचे। उन्होंने पंचायत में बैठकर सचिव से कार्यों की जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने कहा पंचायत में निरीक्षण के लिए रखा गया रजिस्टर बताओ। इस पर सहायक सचिव ने जवाब दिया सर रजिस्टर बना लिया है, लेकिन अभी रखा नहीं है। इस पर सीईओ ने नाराजगी जताते हुए कहा रजिस्टर को पंचायत में रखना है।

जायजा : सहायक सचिव को रजिस्टर रखने के दिए निर्देश

अंबाड़ा पंचायत में निरीक्षण के दौरान ग्रामीणों की समस्या सुनते जनपद सीईओ आरबीएस दंडोतिया।

सीईओ ने 20 मिनट तक ग्रामीणों की समस्याएं सुनी

गांव में कोई भी अधिकारी निरीक्षण के लिए आता है तो वह अपने द्वारा किए गए निरीक्षण की जानकारी रजिस्टर में दर्ज करेंगे। उन्होंने तत्काल सहायक सचिव को रजिस्टर रखने के निर्देश दिए। करीब 20 मिनट तक उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। ग्रामीणों से शासन की योजना के तहत बनाए जा रहे शौचालयों की जानकारी ली। ग्रामीणों ने भी उन्हें योजना का लाभ लेने घरों में शौचालय बनाए जाने की बात कही।

विकास की प्रगति का हो सकेगा आकलन

ग्रामीणों के अनुसार क्षेत्र में विकास कार्यों और योजनाओं को लेकर कई कमियां हैं। शिकायतों के बाद अफसर जांच के लिए पहुंचते हैं। लेकिन सरपंच, सचिव और सहायक सचिवों की मिलीभगत के कारण मामला ठंडे बस्ते और जांच तक ही रह जाता है। पंचायत स्तर पर अगर इस प्रकार के निरीक्षण रजिस्टर को नियमित रूप से भरा जाए। जो भी दल अथवा अधिकारी संबंधित पंचायत या क्षेत्र में निरीक्षण करने के बाद की गई जांच का रजिस्टर में उल्लेख करें तो दूसरी बार के निरीक्षण में कार्यों की गति और समस्या समाधान का पता लगा सकते हैं।

मौका मुआयना और रिपोर्ट में आता है अंतर

शासन की योजनाओं के तहत ग्रामीण क्षेत्र में कई योजनाओं का संचालन होता है। इनकी देखरेख और प्रगति के लिए विभागीय स्तर पर दलों का गठन कर निरीक्षण के लिए भेजा जाता है। लेकिन संबंधित अधिकारियों द्वारा मामले में सिर्फ खानापूर्ति की जाती है। मौके पर किया गया मुआयना और विभागीय अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत जांच रिपोर्ट में कई बार अंतर मिलता है। ऐसे में हितग्राहियों को आने वाली परेशानियों का समाधान शिकायत तक ही सीमित रह जाता है।

ग्रामीणों ने कहा-हर पंचायत में हो इस प्रकार का काम

ग्रामीणों ने बताया सीईओ ने रजिस्टर को हर पंचायत में सख्ती से लागू करने को कहा है। उन्होंने ग्रामीणों की समस्याओं के समाधान के लिए भी कार्य करने पर जोर दिया। कई बार पंचायत स्तर पर कार्यों को लेकर लापरवाही बरती जाती है। कई स्थानों पर योजनाओं का संचालन भी नियमानुसार नहीं होता। सरपंच, सचिव मनमाने ढंग से काम करते हैं। इसका खामियाजा ग्रामीणों को उठाना पड़ता है।

X
Nepanagar News - mp news ceos mention in the panchayat kept register officers coming to investigate
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन