1976 में शहर में रहे थे रसेल पीटर्स, बैलगाड़ी से पहुंचे थे बंगला

Burhanpur News - भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर उत्तरी अमेरिका स्थित कनाडा के रसेल पीटर्स। वे आज विश्व विख्यात हास्य कलाकार हैं।...

Jun 14, 2019, 07:00 AM IST
Burhanpur News - mp news in 1976 russell peters who was in the city arrived from the bullock cart
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

उत्तरी अमेरिका स्थित कनाडा के रसेल पीटर्स। वे आज विश्व विख्यात हास्य कलाकार हैं। उनके दादा पीटर्स बुरहानपुर में रेलवे अफसर थे। उनका लालबाग के चिंचाला स्थित कुंडी भंडारा रोड पर बंगला था। यहां 1976 में रसेल ने दादा-दादी के घर कुछ दिन बिताए थे। इसका जिक्र रसेल ने अपने निजी चैनल पर दिए इंटरव्यू में किया है। इसमें उन्होंने कहा है कि दादा जंगल में शिकार करने जाते थे। तब उन्हें बैलगाड़ी पर साथ लेकर घूमा करते थे। उन्होंने कहा- यहां बिताया बचपन और यहां गुजारे पल सबसे सुनहरी यादों में से एक हैं। इसमें उन्होंने बंगले के साथ बचपन का फोटो भी दिखाया।

चिंचाला स्थित खेत में रसेल के दादा का बंगला आज भी है लेकिन अब यह खंडहर हो चुका है। उनकी बुआ या पिता ने यह बंगला और जमीन बेच दी थी। यह अब पूर्व विधायक हमीद काजी की संपत्ति है। हमीद काजी ने बताया पीटर्स साहब सेंट्रल रेलवे मैनेजर थे। कुंडी भंडारा रोड पर उनकी 50 से 60 एकड़ जमीन थी। करीब 2 हजार वर्गफीट में बंगला था। 1980 के आसपास उनका निधन हुआ। तब पूरा परिवार कनाडा शिफ्ट हो गया था। रसेल की दादी यहां से कभी नहीं गईं। एक-एक संपत्ति बेचकर उन्होंने अपना जीवन-यापन किया। 2003 या 2004 में उनका भी निधन हो गया। उस समय रसेल की मां बुरहानपुर आईं थीं। रसेल के पिता या बुआ ने बंगला बेचा था। इसे एक प्रिंटिंग प्रेस संचालक ने खरीदा था। उनसे हमीद काजी ने पांच एकड़ जमीन सहित बंगला खरीदा। इंटरव्यू देखकर पूर्व विधायक ने रसेल से उनके दादा-दादी के स्मारक के लिए बंगला देने की पेशकश की है। इसके लिए सरकार के जरिए वे रसेल तक ये बात पहुंचाएंगे और उन्हें बुरहानपुर आने का न्यौता देंगे।

रसेल पीटर्स

कुंडी भंडारा राेड स्थित रसेल पीटर्स के दादा का बंगला खंडहर में तब्दील हो गया है।

पूर्व डिप्टी कलेक्टर सपकाले की दादी का उनके घर आना-जाना था

पूर्व डिप्टी कलेक्टर और सागर नगर निगम के आयुक्त अनिल सपकाले ने बताया उनकी दादी सेवंताबाई का उनके घर आना-जाना था। 2003-04 में रसेल की मां दादी सेवंताबाई से मिलने उनके घर आईं थीं। उस समय मैं उनकी मां से मिला था। सुनकर खुशी हुई कि पीटर साहब का पोता विश्वविख्यात हास्य कलाकार बन चुका है। बंगले को पीटर का बंगला नाम से जाना जाता है।

Burhanpur News - mp news in 1976 russell peters who was in the city arrived from the bullock cart
X
Burhanpur News - mp news in 1976 russell peters who was in the city arrived from the bullock cart
Burhanpur News - mp news in 1976 russell peters who was in the city arrived from the bullock cart
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना