शहर में 2009 से टूटी रात के मेले की परंपरा, लालबाग में अब भी वही रौनक, रात को निकली 20 प्रतिमाएं, छोटे पुल से की विसर्जित

Burhanpur News - भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर अनंत चतुर्दशी पर शहरभर में वर्ष 2009 से रात के मेले की परंपरा टूट गई है लेकिन उपनगर...

Bhaskar News Network

Sep 13, 2019, 07:00 AM IST
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
भास्कर संवाददाता | बुरहानपुर

अनंत चतुर्दशी पर शहरभर में वर्ष 2009 से रात के मेले की परंपरा टूट गई है लेकिन उपनगर लालबाग क्षेत्र में अब भी वही रौनक कायम है। रात को यहां चल समारोह में करीब 20 प्रतिमाएं निकलीं। अलसुबह 3 बजे से शहरभर की प्रतिमाओं का कारवां बाजार में आया। 3.30 बजे से ताप्ती नदी के छोटे पुल से बड़ी प्रतिमाओं का विसर्जन शुरू हुआ।

भाद्रपद शुक्ल पक्ष की अनंत चतुर्दशी पर गणेश प्रतिमा के विसर्जन का महत्व है, क्योंकि शुक्रवार से 15 दिन के लिए श्राद्ध पक्ष की शुरुआत हो रही है। ऐसे में सभी प्रकार के शुभ काम वर्जित माने गए हैं। परंपरानुसार लालबाग क्षेत्र में गुरुवार को चल समारोह निकाला गया। रात करीब 11 बजे से अखाड़े सागर टावर क्षेत्र पहुंचे। ढपलों की थाप पर लेझिम के साथ अखाड़ा सदस्य जमकर झूमे। गुरुवार सुबह से भक्तों ने नम आंखों से बप्पा को विदाई दी। किसी ने आंगन में बाल्टी, टब तो किसी ने गमलों में प्रतिमा का विसर्जन किया। दोपहर बाद ताप्ती नदी के सभी घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ने लगी। शुरुआत में लोगों ने राजघाट, सतियारा घाट के कुंड में गणेशजी को विसर्जित किया। देरशाम तक पूरा कुंड भरा गया। गायक नील तलरेजा ने श्रद्धालुओं से कहा नदी का प्रदूषण रोक नहीं सकते तो इसे दूषित भी मत करो। गायत्री परिवार से जुड़े साधकों ने श्रद्धालुओं को नदी में फूलमालाएं डालने से रोका। करीब एक ट्रॉली फूल-माला सहित अन्य निर्माल्य एकत्रित किया। खड़कोद स्थित गुरुकुल ले जाकर इसकी जैविक खाद बनाई जाएगी। नागझिरी और पीपलघाट पर भी भक्तों ने प्रतिमाओं का विसर्जन किया। घरों में विराजित प्रतिमाओं का भी विसर्जन देर रात तक चलता रहा।

अपडेट रात 1 बजे : लालबाग सागर टावर चौराहे पर प्रतिमाओं को देखने पहुंचे लोग

राजघाट पर ताप्ती कुंड में देररात तक श्रद्धालुओं ने गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया। अगले बरस तू जल्दी आ के जयघोष लगाए।

5 हजार परिवारों ने बाल्टी, 300 ने गमले में किया विसर्जन, पौधे रोपे

नदी को स्वच्छ रखने के लिए अधिकांश लोगों ने घरों में ही बाल्टी या गमले में प्रतिमा का विसर्जन किया। करीब 5 हजार से ज्यादा परिवारों ने बाल्टियों में प्रतिमा विसर्जित कर नदी को दूषित होने से बचाया। 300 परिवारों ने गमले में विघ्नहर्ता की प्रतिमा का विसर्जन कर पर्यावरण का संदेश दिया। भास्कर के अभियान से प्रेरित होकर दापोरा सहित अन्य स्कूलों में भी गमले में विसर्जन किया गया। जमुना नगर निवासी विदुषी तिवारी, विभुति तिवारी, इंदिरा कॉलोनी , लोधीपुरा के हरीश सोलंकी सहित अन्य क्षेत्रों में भी परिवारों ने गमले में विसर्जन के साथ इसमें तुलसी और बिल्व पत्र तो किसी ने फूलों के पौधे रोपे।

Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
X
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
Burhanpur News - mp news the tradition of broken night fair in the city since 2009 still the same beauty in lalbagh 20 idols released at night immersed by small bridge
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना