जलस्तर गिरा, हैंडपंप व बोर से पानी मिलना बंद, पंचायत टैंकर से भी नहीं कर रही प्रदाय

Burhanpur News - ग्राम पांचईमली में भूमिगत जलस्तर गिरने से हैंडपंप और कुओं से भी पानी मिलना बंद हो गया है। इस कारण ग्रामीणों को...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:40 AM IST
Nepanagar News - mp news water level fall hand pumps and bore stop water supply not even from panchayat tanker
ग्राम पांचईमली में भूमिगत जलस्तर गिरने से हैंडपंप और कुओं से भी पानी मिलना बंद हो गया है। इस कारण ग्रामीणों को पानी की खासी किल्लत झेलना पड़ रही है। बावजूद इसके पंचायत सहित कोई भी जिम्मेदार समस्या की ओर ध्यान नहीं दे रहा है। पंचायत में शिकायत करने पर व्यवस्था जुटाने का सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। पंचायत भी टैंकर के माध्यम से पानी प्रदाय नहीं कर रही है। ऐसे में ग्रामीणों को पानी के लिए दूर खेतों तक भटकना पड़ रहा है। वे पीने के पानी की जैसे-तैसे व्यवस्था कर रहे हैं। लेकिन कपड़े धोने के लिए उन्हें खेतों में जाना पड़ रहा है। यहीं कपड़े धोए जा रहे हैं। लोगाें का कहना है तापमान और गर्मी लगातार बढ़ रही है। मानसून अभी दूर है। ऐसे में आने वाले दिनों में परेशानी और बढ़ेगी।

गांव में करीब 300 मकान हैं। इनमें 1200 के करीब लोग रहते हैं। ऐसे में सभी के लिए पानी लाना संभव नहीं हो पा रहा है। पीने का पानी तो जैसे-तैसे जुटाकर काम चला रहे हैं। लेकिन उपयोग के पानी के लिए खासी मशक्कत करना पड़ रही है। खेतों पर ही कपड़े ले जाकर धोने से यहां भी पानी उपलब्ध कराने वाले किसानों की नाराजी झेलना पड़ रही है। उनका कहना है पानी पीने के लिए दे रहे हैं, कपड़े धोने के लिए नहीं। ग्रामीणों का कहना है ऐसे में हम करें तो क्या करें।

बैलगाड़ी पर कैन और ड्रम भरकर ला रहे हैं पानी।

ढाई लाख रुपए की लागत से डलेगी नई बिजली लाइन

िबजली की समस्या को लेकर तीन सप्ताह पूर्व डाभियाखेड़ा के ग्रामीण विद्युत वितरण कंपनी के अफसर से मिले थे। उन्हें बताया था कि पूर्व में 24 घंटे बिजली मिलती थी। ऐसे में पानी की भी परेशानी नहीं होती थी। लेकिन वर्तमान में जलस्तर गिरने से परेशानी बढ़ गई है। सिंचाई फीडर 6-6 घंटे ही चलते हैं। ऐसे में लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है। विद्युत वितरण केंद्र के जयंत मोगे ने कहा था इसके लिए नई अतिरिक्त बिजली लाइन डालना होगी। इस पर करीब ढाई लाख रुपए का खर्चा आएगा। इन हालात में ग्रामीणों के सामने परेशानी कम नहीं हो रही है।

उपयोग के लिए नहीं मिल रहा पानी, खेतों में धो रहे कपड़े

ग्रामीण बैलगाड़ियों पर कैन और ड्रम रखकर खेतों से पानी ला रहे हैं। पानी के लिए उन्हें दिन में कई बार खेतों के चक्कर लगाना पड़ रहे हैं। खेतों में जाकर कपड़े धोने से सबसे अधिक परेशानी महिलाओं को हो रही है। गांव के िवजय चौधरी, रितेश लोखंडे, कुंदन लोखंडे और गुलाब सिंग ने बताया एक महीना हो गया है। सभी ग्रामीण पानी के लिए परेशान हो रहे हैं। लेकिन समस्या की ओर ध्यान देकर कोई भी सुनवाई नहीं कर रहा है। पानी की पूर्ति के लिए एक ही ट्यूबवेल है। गर्मी के कारण इसका भी जलस्तर कम होता चला गया। इससे अब पूरी तरह से पानी मिलना बंद हो गया है। पानी के लिए अब खेतों के जलस्रोतों पर ही पूरी तरह निर्भर हैं। पंचायत सचिव रीना इंद्रास को समस्या बताई है। वे कहती हैं समस्या होगी तो टैंकर से पानी देंगे। इतनी परेशानी होने के बाद भी टैंकर से पानी नहीं दिया जा रहा है।

ट्यूबवेल की सफाई करने के बाद भी नहीं मिल रहा पानी

इसी तरह बड़ीखेड़ा मेंं भी ग्रामीण पानी को लेकर परेशानी उठा रहे हैं। गांव में 150 के लगभग मकान है। इनकी पेयजल सुविधा के लिए एक ही ट्यूबवेल है। तीन सप्ताह से इसने भी दम तोड़ दिया है। यहां भी सिंचाई फीडर से पानी प्रदाय किया जाता है। दो सप्ताह पहले पीएचई विभाग के कर्मचारियों ने पहुंचकर ट्यूबवेल की सफाई की थी। इसके बाद भी इससे पानी नहीं मिल रहा है। ग्रामीणों की समस्या जस की तस बनी हुई है।

शेड्यूल बदलने से होती है परेशानी

ग्रामीणों ने बताया गांव की लाइन सिंचाई फीडर से जुड़ी है। ऐसे में हर सप्ताह शेड्यूल बदलने से परेशानी और बढ़ जाती है। वर्तमान में सुबह 6 से दोपहर 12 बजे तक सिंचाई फीडर की बिजली चालू होने से अभी पानी मिल रहा है। लेकिन सोमवार से यह शेड्यूल रात 12 से सुबह 6 बजे तक का हो जाएगा। इतनी रात को मजबूरी में लोगों को मुश्किल उठाकर पानी लाने जाना पड़ता है।

Nepanagar News - mp news water level fall hand pumps and bore stop water supply not even from panchayat tanker
X
Nepanagar News - mp news water level fall hand pumps and bore stop water supply not even from panchayat tanker
Nepanagar News - mp news water level fall hand pumps and bore stop water supply not even from panchayat tanker
COMMENT