• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Chhatarpur News
  • ये है जिला अस्पताल: जमीन पर भी जगह नहीं ताे बरामदे की दीवार पर भर्ती मरीज, प्रबंधन बेखबर
--Advertisement--

ये है जिला अस्पताल: जमीन पर भी जगह नहीं ताे बरामदे की दीवार पर भर्ती मरीज, प्रबंधन बेखबर

छतरपुर। जिला अस्पताल के बुरे हाल हैं। अस्पताल में भर्ती मरीजों के हालात इस कदर खराब हैं कि पलंग तो दूर जमीन पर भी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:00 AM IST
छतरपुर। जिला अस्पताल के बुरे हाल हैं। अस्पताल में भर्ती मरीजों के हालात इस कदर खराब हैं कि पलंग तो दूर जमीन पर भी जगह नहीं मिल पा रही है। ट्रोमा वार्ड वार्ड की गैलरी में भी जमीन नहीं मिली तो एक मरीद बरामदा की दीवार पर ही भर्ती होकर लेटा है। बीमार मरीज के कोई चूक होने पर यहां कोई नया हादसा भी हो सकता है। फिर भी अस्पताल प्रबंधन बेखबर बना हुआ है।

भावांतर के अंतर्गत कृषि उपज मंडियों में भी पंजीयन कार्य शुरू

भास्कर संवाददाता | छतरपुर

भावांतर भुगतान योजना के तहत रबी 2017-18 की फसलों का पंजीयन कार्य कृषि उपज मंडी समितियों में 28 फरवरी से प्रारंभ हो गया है।

पूर्व में किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा भावांतर भुगतान योजना के तहत चना, मसूर, सरसों एवं प्याज विक्रय का निःशुल्क पंजीयन धान एवं गेहूं का ई.उपार्जन करने वाली समस्त प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों में 12 फरवरी से 12 मार्च तक करने के निर्देश जारी किए गए थे। किन्तु वर्तमान में सहकारी समितियों में पंजीयन कार्य रुकने से अब शासन द्वारा कृषि उपज मण्डियों के स्तर पर भी निशुल्क पंजीयन करने का निर्णय लिया गया है। विभाग के उप संचालक मनोज कश्यप ने बताया कि किसानों के पंजीयन का कार्य 28 फरवरी से प्रारंभ हो गया है। जो कि आगामी 12 मार्च तक निरंतर जारी रहेगा।