Hindi News »Madhya Pradesh »Chhatarpur» शिविर... आनंदम सहयोगियों को दिया गया 11 दिवसीय प्रशिक्षण

शिविर... आनंदम सहयोगियों को दिया गया 11 दिवसीय प्रशिक्षण

छतरपुर| मध्यप्रदेश में 13 जिलों के 16 आनंदम सहयोगियों का 11 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शनिवार को महाराष्ट्र के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:15 AM IST

छतरपुर| मध्यप्रदेश में 13 जिलों के 16 आनंदम सहयोगियों का 11 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शनिवार को महाराष्ट्र के पंचगनी स्थित नैतिक पुनरुत्थान संस्थान में सर्वधर्म प्रार्थना के साथ संपन्न हुआ। प्रशिक्षण के दौरान 5 दिनों तक मध्यप्रदेश के नवनियुक्त 42 डिप्टी कलेक्टर भी सम्मिलित हुए। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा चलाए जा रहे आनंद विभाग की विभिन्न गतिविधियों खासकर अल्पविराम कार्यक्रम के लिए आनंदम सहयोगियों को मास्टर ट्रेनर के रूप में प्रशिक्षित किया गया है। सागर संभाग के छतरपुर जिले से एलएल असाटी एवं दमोह जिले से रमेश कुमार व्यास भी इस कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। छतरपुर जिले में पदस्थ डिप्टी कलेक्टर प्रियांशी भवर, दमोह में पदस्थ भारती देवी मिश्रा और सागर में पदस्थ शशि मिश्रा पंचगनी के प्रशिक्षण कार्यक्रम में सम्मिलित रहे। इनिशिएटिव ऑफ चेंज संस्थान के डायरेक्टर डॉ. रवींद्र राव सहित जयश्री राव, सिद्धार्थ सिंह, लीना खत्री, सुरेश खत्री, सुधीर गोगटे, किरण गांधी, हिमांशु भारत, जितेश श्रीवास्तव, पराग शाह, प्रभाकर वर्तक ने विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से संबोधित किया। शासन की ओर से पर्यवेक्षक के रूप में पूर्व एडिशनल कमिश्नर एक्साइज इंद्रपाल सिंह एवं सरिता सिंह उपस्थित रहे। प्रशिक्षण सत्र के संयोजक संजय लेले ने प्रशिक्षण के बाद प्रमाण पत्र वितरित किए। सर्वधर्म प्रार्थना में प्रशिक्षकों एवं आनंदम सहयोगियों ने संकल्प लिया कि वे लगातार अपने खुद के सुधार के लिए शांत समय में अपनी आत्मा की आवाज सुनेंगे और उनके द्वारा पूर्व में की गई सभी गलतियों का पश्चाताप और प्रायश्चित करेंगे एवं सभी मास्टर ट्रेनर दूसरों के लिए प्रेरणा का स्रोत बनेंगे।

अिभयान... गायत्री मंदिर के सामने सांतरी तलैया में श्रमदान कर की सफाई

छतरपुर|स्वच्छता भारत अभियान के तहत राष्ट्रीय चेतना एवं विकास मंच तथा नगरपालिका के संयुक्त तत्वावधान में बस स्टैण्ड के समीप गायत्री मंदिर के सामने सांतरी तलैया एवं घाटों की सफाई के लिए श्रमदान कार्यक्रम चलाया गया। नमामि देवीनर्मदे प्रकल्प के जिला संयोजक एवं मुख्य स्वच्छता ब्रांडएम्बेस्डर डीडी तिवारी के निर्देशन में चलाए जा रहे स्वच्छता सेवा अभियान का शुभारंभ इंजीनियर राकेश त्रिपाठी एवं बालमुकुं‍द पौराणिक ने किया। इस अवसर पर शंकर सोनी, केएन सौमन, आरके मिश्रा, राकेश शर्मा, अनिल, मुकेश, रानी करोसिया एवं महिलाओं तथा सफाई कामगारों ने श्रमदान किया। घाटों की सफाई के बाद तालाब के अंदर से एक ट्राली गंदगी एवं कचरा एकत्रित कर नगरपालिका के वाहन से कचरा प्रसंस्करण केंद्र भेजा गया। मोहल्ले वालों एवं मंदिर आने वालों ने डीडी तिवारी से तलैया के सौन्दर्यीकरण नगरपालिका के माध्‍यम से कराने की मांग की। श्री तिवारी ने बताया कि आगामी शनिवार को महोबा रोड की विन्ध्यवासनी तलैया में सफाई अभियान चलाया जाएगा।

कार्यक्रम... हनुमान जयंती पर ब्रह्माकुमारीज ने सजाई मनोरम झांकी

छतरपुर|हनुमान जयंती के पावन मौके पर किशोर सागर तालाब स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय प्रांगण में श्री राम दरबार की चैतन्य झांकी का आयोजन किया गया। इसमें मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम, सीतामाता, भरत, शत्रुघ्न, लक्ष्मण एवं भक्त शिरोमणि अंजनी सुत पवन पुत्र हनुमान के चैतन्य स्वरूप ने भक्तों का मोह लिया। ब्रह्माकुमारी विद्यालय की सेवा केंद्र संचालिका ब्रह्माकुमारी शैलजा ने झांकी के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज के समाज में स्वार्थ, लालच, नफरत, ईर्ष्या और अहंकार जैसी बुराइयों ने प्रत्येक मनुष्य को अपने शिकंजे में जकड़ रखा है और यही बुराइयां मनुष्य जीवन में अनेक समस्याओं एवं दुरूख.अशांति का मूल कारण हैं। इस स्थिति में श्री राम एवं उनके परम भक्त हनुमान के जीवन चरित्र प्राचीन काल से ही मानव जीवन को श्रेष्ठ एवं चरित्रवान बनाने के प्रेरणा स्रोत रहे हैं। हनुमान जी के जीवन मे पवित्रता एवं भगवान श्री राम के लिए समर्पण की भावना मुख्य विशेषता के रूप में देखने में आती हैं। हनुमान का अर्थ ही है मान का हनन करने वाला अर्थात जिसने अपने मैं पन क्या किया हो। इसलिए हनुमान के जीवन चरित्र से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें भी अपने जीवन में मैं पन त्याग कर ईश्वर के प्रति समर्पण भाव रखना चाहिए। इस मौके पर नगर के कई गणमान्य नागरिकों ने झांकी के दर्शनों का लाभ लिया।

सम्मान...सेवानिवृत्त होने पर एपीसी काे दी विदाई

छतरपुर|युग में कर्तव्य के प्रति समर्पित व निष्ठावान कर्मचारियों की कमी के बीच संतोष पटेरिया जैसे कर्मचारियों के कार्य नि:संदेह अनुकरणीय है। यह बात शनिवार को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में आयोजित सेवानिवृत्ति विदाई कार्यक्रम में डीईओ जेएस बरकड़े ने कही। उन्होंने श्री पटैरिया को आत्मविश्वासी, धैर्यवान व्यक्ति की संज्ञा दी। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अतिरिक्त जिला समन्वयक एचएस दीक्षित ने श्री पटेरिया के कार्यों का उल्लेख करते हुए कहा कि वह इस कार्यालय के लिए एक मील का पत्थर थे। वह आज का काम कल पर नहीं छोड़ते थे। श्री पटैरिया को सभी ने शॉल श्रीफल, गीता, रामायण आदि भेंट कर सम्मानित करते हुए दीर्घायु होने की कामना की। सेवानिवृत्ति विदाई के इस अवसर पर केके खरे निज सहायक, रामहित व्यास एपीसी, केएन त्रिवेदी, बी अहिरवार, वशी उल्लाह, एसके उपाध्याय, सुराजीलाल मिश्रा, अनिल पटैरिया, ओमप्रकाश मिश्रा, जितेंद्र गौर, विपिन दीक्षित, जयप्रकाश लेखेरा, अखिलेश दीक्षित, जाकिर हुसैन, अर्जुन सिंह, शिवशंकर बेलदार, बीआरसीसी मुलायम सिंह सिसौदिया, कमलापत पिपरैया, राजकुमार शर्मा, सचिन खरे, उमेश श्रीवास्तव, राजकुमार भारती, रामकुमार रैकवार, रामचरन, राजेश, रामस्वरूप एवं संतोष सहित कार्यालयीन स्टॉफ उपस्थित रहा। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में लंबे समय तक आवक-जावक प्रभारी रहे संतोष पटैरिया शनिवार को अपनी अर्द्धवार्षिक आयु पूर्ण करते हुए सेवानिवृत्त हुए है। 5 मार्च 1956 को जन्में श्री पटैरिया ने अगस्त 1983 से अपनी शासकीय सेवा शुरू की थी।

समाज, धर्म, क्लब, एसोसिएशन, डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, नर्सेज, पुलिस, शिक्षक, चैम्बर ऑफ कॉमर्स

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Chhatarpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×