--Advertisement--

बनगांय के हृदयेश का कृषि वैज्ञानिक पद पर हुआ चयन

नौगांव रोड में बनगांय गांव के एक युवक ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा आयोजित कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल की...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:30 AM IST
नौगांव रोड में बनगांय गांव के एक युवक ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा आयोजित कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल की एआरएस परीक्षा उत्तीर्ण कर अपने गांव, जिला और क्षेत्र का नाम रोशन किया है। इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने से उन्हें कृषि वैज्ञानिक बनाया जाएगा। वैज्ञानिक बन जाने से गांव सहित पूरे जिले का नाम रौशन किया है।

कृषि वैज्ञानिक चयन मंडल द्वारा जारी चयन सूची में रामदयाल अनुरागी व लीला देवी के बेटे हृदयेश अनुरागी का चयन कृषि वैज्ञानिक पद पर किया गया है। हृदयेश अनुरागी वर्तमान में चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय हिसार, हरियाणा में पीएचडी कर रहे हैं। वे अनुवांशिकी और पादप प्रजनन विषय से अध्ययन कर दलहन मूंग पर गहन शोध कार्य कर रहे हैं। हृदयेश ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने गांव बनगांय के स्कूल से और हायर सेकंडरी की पढ़ाई जवाहर नवोदय स्कूल नौगांव से की है। उनकी इस सफलता पर जनसंपर्क कार्यालय के दशरथ कोरी, ठेकेदार कृपाल कोरी, लक्ष्मण कोरी, हरिराम मिस्त्री, बाबूलाल वर्मा, लक्ष्मीप्रसाद वर्मा, सहित शुभचिंतकों ने उज्जवल भविष्य की कामना की है।

फ्रांस और जर्मनी में हो

चुके सम्मानित

हृदयेश ने आचार्य एनजी रंगा कृषि विश्वविद्यालय हैदराबाद से वर्ष 13 में स्नातक की डिग्री, गुजरात के आनंद कृषि विश्वविद्यालय से वर्ष 15 में स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की। हृदयेश को राज्यपाल ओपी कोहली द्वारा 5 फरवरी 16 को विवि में गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया। हृदयेश को आईसीबीएन समारोह 18 में जर्मनी के प्रोफेसर डॉ. मेनफ्रेड केर्न और फ्रांस के प्रोफेसर आर्थर रेडकर द्वारा भी सम्मानित किया गया। भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा उन्हें डीएसटी इंस्पायर अवार्ड से भी सम्मानित होने का गौरव मिला।