छतरपुर

--Advertisement--

चुपके-चुपके शादी का पंजीयन कराने कोर्ट पहुंचे दो आईएएस

महोबा उप्र के एडीएम कोर्ट में एक खास नजारे ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया। दो आईएएस अफसरों ने कोर्ट में पहुंचकर...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 02:35 AM IST
चुपके-चुपके शादी का पंजीयन कराने कोर्ट पहुंचे दो आईएएस
महोबा उप्र के एडीएम कोर्ट में एक खास नजारे ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया। दो आईएएस अफसरों ने कोर्ट में पहुंचकर बेहद ही सादगी पूर्ण तरीके से शादी कर ली। दोनों ने दहेज रहित शादी के बंधन में बंधकर समाज को एक नेक संदेश देने का भी काम किया है।

इस नवदंपति ने अपर जिला मजिस्ट्रेट कोर्ट में जाकर शादी का रजिस्ट्रेशन कराया। शादी का रजिस्ट्रेशन कराने से पहले तक इस विवाह की जानकारी महोबा के जिलाधिकारी को भी नहीं थी। इस सादगीपूर्ण शादी में दूल्हा बने आईएएस मृदुल चौधरी और दुल्हन बनीं आईएएस प्रेरणा शर्मा की अनोखी शादी पूरे जिले में चर्चा का विषय बनी हुई है। दोनों 2014 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। दुल्हन असम कैडर की आईएएस प्रेरणा शर्मा हैं तो दूल्हा यूपी कैडर के आईएएस मृदुल चौधरी हैं। मृदुल वर्तमान में महोबा एसडीएम हैं। कोर्ट में शादी के बाद दोनों अधिकारी महोबा जिलाधिकारी सहदेव के पास पहुंचे तो वो भी चौंक गए। फिर यहां मौजूद एसपी सहित समाजसेवियों ने नव जोड़े को बधाई दी।

डीएम बोले यादगार हो सकती थी शादी

महोबा के डीएम सहदेव ने बताया कि ये शादी और भी यादगार बन सकती थी। अगर दोनों अधिकारियों ने पहले से विवाह की सूचना दी होती। डीएम ने बताया कि दोनों अधिकारीयों ने शादी का रजिस्ट्रेशन कराकर समाज को एक नेक संदेश दिया है। दोनों 2014 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। दोनों ने आईएएस एकेडमी में एक साथ ट्रेनिंग लिया था। यहीं दोनों की मुलाकात हुई और एक-दूसरे को पसंद करने लगे।

महोबा में बिना दहेज सादगी पूर्ण हुई शादी, अपर जिला मजिस्ट्रेट कोर्ट में पंजीयन कराके विवाह किया

छतरपुर। महोबा डीएम कार्यालय में मौजूद नवविवाहित जोड़ा।

गोहाटी में पोस्टेड हैं प्रेरणा शर्मा

ट्रेनिंग के दौरान इन दोनों का रिश्ता आगे बढ़ने लगा और यूपी के महोबा में एसडीएम मृदुल चौधरी और असम के गोहाटी सचिवालय में पोस्टेड प्रेरणा शर्मा के बीच ये प्रेम संबंध विवाह के बंधन में बंध गया। समाज सेवी शरद तिवारी ने बताया कि ये विवाह समाज के लिए बड़ा संदेश है। जहां दोनों ने विवाह का रजिस्ट्रेशन कराया, ये जिले में पहला और ऐतिहासिक पल था।

X
चुपके-चुपके शादी का पंजीयन कराने कोर्ट पहुंचे दो आईएएस
Click to listen..