--Advertisement--

एएसपी करेंगे बकस्वाहा में ढाबा ढहाए जाने के मामले की जांच

बकस्वाहा स्थानीय पुलिस ने नगर के बलभद्रराय का ढाबा ढ़हाने के साथ ही उसके खिलाफ आपराधिक प्रकरण भी दर्ज किया है।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:40 AM IST
बकस्वाहा स्थानीय पुलिस ने नगर के बलभद्रराय का ढाबा ढ़हाने के साथ ही उसके खिलाफ आपराधिक प्रकरण भी दर्ज किया है। बलभद्र के पत्रकार होने के कारण छतरपुर मंे पत्रकारों ने कार्रवाई की निदंा करते हुए डीआईजी अनिल माहेश्वरी से मुलाकात कर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग थी। इसके साथ ही दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की। इस पर डीआईजी ने एडिशनल एसपी से मामले की जांच कराने के आदेश दे दिए हैं।

बकस्वाहा के अधिमान्य पत्रकार बलभद्र राय के पर स्थानीय पुलिस ने सत्ताधारी दल के नेताओं के इशारे पर अमानवीय तरीके से कार्रवाई की। पत्रकारों ने बताया कि राय ने नगर परिषद अध्यक्ष के लिए भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ा था। इसी तरह बलभद्र के मित्र राजेश तिवारी ने भी पार्षद पद के लिए अपनी प|ी को चुनाव मैदान में उतारा था।

27 मार्च को की थी कार्रवाई

अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिए दोनों नगर में एक ढाबा चलाते हैं। 27 मार्च को पुलिस ने ढ़ाबा पर कार्रवाई की। साथ ही बलभद्र को गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ 3 घंटे तक पुलिस ने मारपीट की। ज्ञापन के सौंपने के दौरान बड़ी संख्या में जिले के पत्रकारों के साथ बक्स्वाहा के पत्रकार मौजूद रहे। पत्रकारों की मांग पर डीआईजी ने मामले मंे जांच के आदेश दे दिए हैं। अब एडीशनल एसपी जयराज कुबेर मामले की जांच करेंगे।