विज्ञापन

बस और कार की भयानक टक्कर, चकनाचूर हो गई कार, ताश के पत्तों की तरह सड़क पर बिखर गए लोग...

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2019, 12:38 PM IST

मध्य प्रदेश न्यूज: टक्कर इतनी भयंकर थी कि ड्राइवर के शरीर से एक हड्‌डी निकलकर कार की सीट पर धंस गई

  • comment

छतरपुर/खजुराहो (मध्य प्रदेश)। बमीठा-खजुराहो मुख्य हाईवे पर होटल क्लार्क के पास बुधवार सुबह करीब 11 बजे मिनी टैंपों ट्रैवलर (टूरिस्ट बस) वाहन और मारूति स्विफ्ट डिजायर कार में भीषण भिड़ंत हो गई। हादसे में बस टकराकर पलट गई। कार बुरी तरह से चकनाचूर हो गई। 13 लोग ताश के पत्तों की तरह सड़क पर बिखर गए। यह भिड़ंत इतनी भयंकर थी कि कार के ड्राइवर के शरीर से एक हड्‌डी निकलकर कार की सीट के आरपार हो गई। घायलों में 8 लोगों की हालत गंभीर है, जबकि 2 को ग्वालियर रैफर किया गया है।

कार ड्राइवर की मौत


पश्चिम बंगाल से पर्यटकों का दल टैंपो ट्रैवलर वाहन से खजुराहो भ्रमण के लिए आया था। बुधवार सुबह करीब 11 बजे यह लोग अपने वाहन से खजुराहो से बमीठा की ओर जा रहे थे। तभी सामने से खजुराहो निवासी मुकेश रजक अपने परिवार सहित अपनी कार मारूति स्विफ्ट डिजायर से छतरपुर में एक शादी समारोह में शामिल होकर खजुराहो वापस आ रहे थे। जैसे ही दोनों वाहन होटल क्लार्क के पास पहुंचे तो तेज रफ्तार के चलते आपस में भिड़ गए। मारूति से भिड़ंत होने के बाद पर्यटकों का वाहन टैम्पो ट्रैवलर पेड़ से टकराया और फिर एक किनारे पलट गया। यह भिड़ंत इतनी भयंकर थी कि मारूति कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। वहीं टैम्पो का अगला हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। कार का ड्राइवर गणेश रैकवार की मौके पर ही मौत हो गई।

रात तक ड्राइविंग सीट में फंसी रही हड्‌डी

खजुराहो निवासी मुकेश रजक कार पर अपने परिवार के साथ छतरपुर से खजुराहो आ रहे थे। कार में उनके अलावा उनकी पत्नी द्रोपदी रजक, मां संतोषी रजक, बहन सविता रजक सवार थे। जबकि कार को गणेश रैकवार चला रहा था। ड्राइविंग सीट पर फंसी हड्‌डी रात तक पुलिस थाने में रखी कार में ही फंसी रही। पुलिस ने हड्‌डी को निकालकर जब्त भी नहीं किया है।

एंबुलेंस से पहुंचाया अस्पताल

भिड़ंत इतनी भयंकर थी कि दोनों वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए, जिन्हें थाना परिसर में रखवाया गया है। वहीं घटना की सूचना मिलते ही खजुराहो थाना और बमीठा थाना का पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। सभी घायलों को एंबुलेंस से खजुराहो थाना के एएसआई पूरन सिंह मरावी छतरपुर लेकर पहुंचे। जहां सभी को भर्ती कराया गया है।

X
COMMENT
Astrology
विज्ञापन
विज्ञापन