छतरपुर

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Chhatarpur News
  • Chhatarpur - एलएनटी मशीनों से गिराए बिजली के तार, करंट से तीन मवेशियों की मौत; जनता में आक्रोश
--Advertisement--

एलएनटी मशीनों से गिराए बिजली के तार, करंट से तीन मवेशियों की मौत; जनता में आक्रोश

भास्कर संवाददाता | छतरपुर/अालीपुरा आलीपुरा क्षेत्र से निकलने वाली धसान नदी को अब रेत माफिया छलनी कर रहे हैं।...

Danik Bhaskar

Sep 13, 2018, 02:26 AM IST
भास्कर संवाददाता | छतरपुर/अालीपुरा

आलीपुरा क्षेत्र से निकलने वाली धसान नदी को अब रेत माफिया छलनी कर रहे हैं। इनकी गुंडागर्दी इस तरह है कि गांव में बिजली के तार भी एलएनटी मशीन से गिरा दिए गए जिससे करंट लगने से चार गायों की मौत हो गई। भास्कर ने थाना प्रभारी से बात की तो उनका कहना है- लिखित शिकायत आने पर ही कार्रवाई होगी। इस घटना से यहां के लोगों में आक्रोश है।

आलीपुरा क्षेत्र से निकली धसान नदी के पास रेत है जिसकी खनिज विभाग ने लीज दी थी पर डंप से रेत उठाने की तय समय-सीमा निकल चुकी है, लेकिन पुलिस और कुछ राजनैतिक संरक्षण में अब भी रेत का कारोबार बदस्तूर जारी है तथा पहले से रखी रेत भी उप्र भेजी जा रही है।

किसान बोले - खेती काे भी हाे रहा है नुकसान

गौरतलब है रात में इसी लिंक मुरमीकरण रोड से रेत के ट्रक निकलते हैं। गांव के लोगों का कहना है कि रेत काराेबारियों ने सड़क पर रेत भरने वाली जेसीबी से लाइट के तार तोड़ दिए जिससे तार जमीन पर गिरे और करंट की चपेट में अाने से मवेशियों की मौत हो गई। इसके अलावा किसान सलीम मंसूरी, विजय चतुर्वेदी ने कहा कि माफिया द्वारा जबरन हमारे खेतों से ट्रक निकाले जा रहे हैं जिससे खेती काे नुकसान हाे रहा है।

नौगांव : वन विभाग की टीम ने धीरपुर में रेत से भरा ट्रैक्टर पकड़ा

अवैध रेत उत्खनन-परिवहन

छतरपुर/आलीपुरा। रेत से भरे ट्रकों की लगी लंबी कतार। इनसेट : डंपर में रेत लोड करती एलएनटी मशीन।

नौगांव | नौगांव थाना की लुगासी चौकी क्षेत्र के धीरपुर गांव में वन विभाग की टीम ने कार्रवाई करते हुए पहाड़ के पास निकले नाले के पास रेत भर रहे एक ट्रैक्टर ट्राली को पकड़कर अग्रिम कार्रवाई के लिए नौगांव रेंज ऑफिस रखवाया। पकड़े गए ट्रैक्टर ट्राली के मालिक पर वन अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई।

जानकारी के अनुसार मंगलवार की सुबह नौगांव थाना क्षेत्र के धीरजपुर गांव के जंगल में रेत खनन कर ट्रैक्टर ट्राली में रेत लोड करते हुए 4 लोगों को ट्रैक्टर ट्राली सहित पकड़ा। ट्रैक्टर धीरजपुर के ओमप्रकाश यादव का बताया जा रहा है जिसे पकड़कर वन रेंज कार्यालय नौगाँव में रखवाया गया है। जिस पर वन विभाग वन अधिनियम के तहत कार्यवाही की जा रही है।

मृत अवस्था में पड़ी गाय।

थाना प्रभारी का बेतुका जवाब

अलीपुरा थाना प्रभारी राजेश सिंह बघेल से भास्कर ने सवाल किए, तो उन्होंने बेतुका जवाब दिया। उन्होंने कहा- लिखित शिकायत करने पर केस दर्ज होगा। भास्कर ने सवाल किया कि रेत की नीलामी में ठेकेदार को रेत उठाने की समय-सीमा है या 12 माह रेत उठा सकते हैं। थाना प्रभारी बोले- 9 सितंबर 18 को रेत उठाने की समय सीमा खत्म हो गई है। अगर रेत का उठाव बंद नहीं किया तो कार्रवाई करेंगे।

ट्रैक्टर संचालक सहित रेत कारोबारी मामले को निपटाने की जुगाड़ में लगे रहे , लेकिन वन विभाग की टीम ने उनके मंसूबों पर पानी फेरते हुए कानूनी कार्यवाई की । डिप्टी रेंजर एसपी सिंह परमार ने बताया कि रोक के बावजूद वन क्षेत्र सरदारपुर से लगातार यह लोग खनन परिवहन कर रहे थे, मुखबिर की सूचना पर आज दबोच लिया गया है। जिसमे स्वराज ट्रैक्टर सहित 4 लोगों को पकड़ा गया है, रेत से भरी ट्रैक्टर- ट्राली वन रेंज में रखवायी गई है। कार्रवाई की जारी है। इस कार्रवाई में डिप्टी रेंजर एसपी सिंह परमार के साथ, आशोक कुमार बादल, भरत भूषण मिश्रा, रवि भूषण मिश्रा, राजावत सहित अन्य वन कर्मी शामिल रहे।

किसानों काे डरा-धमकाकर खेतों से निकाले ट्रक

रेत माफिया द्वारा एलएंडटी अाैर जेसीबी से अब भी रेत खुलेआम ट्रकों मे भरकर उत्तरप्रदेश भेज रहे हैं। अालीपुरा टीला से गर्रोली डामरीकरण मार्ग डाला गया था। इसी रोड से अलीपुरा स्टैंड से एक किमी आगे कुछ किसानों के खेतों में से लिंक रास्ता बना ली गई थी। उन किसानों को डरा-धमकाकर उनके खेतों में से गिट्टी मुरमीकरण का रोड डाल लिया गया था, जो जिसकी 1 माह का कहकर रोड डाला गया था कि केवल एक माह तक रेत निकालेंगे, लेकिन आज भी जबरन उन्हीं खेतों से रेत से भरे डंपर निकाले जा रहे हैं।

Click to listen..