छतरपुर

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Chhatarpur News
  • संत समाज ने मठ मंदिरों की संपत्तियों को संतों और पुजारियों के जिम्मे करने सौंपा ज्ञापन
--Advertisement--

संत समाज ने मठ मंदिरों की संपत्तियों को संतों और पुजारियों के जिम्मे करने सौंपा ज्ञापन

अखिल भारतीय संत समिति की जिला इकाई के नेतृत्व में मध्य प्रदेश के साधु संत समाज के धार्मिक सामाजिक कार्यों को लेकर 8...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:25 AM IST
अखिल भारतीय संत समिति की जिला इकाई के नेतृत्व में मध्य प्रदेश के साधु संत समाज के धार्मिक सामाजिक कार्यों को लेकर 8 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम राजीव समाधिया को सौंपा गया।

ज्ञापन के जरिए उक्त समिति ने समस्त मठ मंदिरों का सरकारीकरण खत्म करते हुए कलेक्टर प्रबंधक पद बंद कर मंदिरों की व्यवस्था साधु संत पुजारियों अाैर समाज के हवाले करने शासकीय भूमि पर निर्मित मंदिर मठ को चिन्हित करने की मांग की।

उस चिन्हित भूमि के पट्टे उच्च न्यायालय के आदेश के परिपालन में मंदिर अाैर पुजारी के नाम संयुक्त रूप से करने संपत्तियों का सीमांकन मठ मंदिरों में स्थापित मूर्तियों अाैर साधू संतों पुजारियों पर हो रहे हमलों को लेकर सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने मठ मंदिरों की जमीनों, गौचर भूमि पर किए जा रहे अतिक्रमण को रोकने मठ मंदिरों की जमीनों की नीलामी रोकने अाैर कथित लोगो द्वारा धार्मिक स्थलों की जमीनें कूट रचित दस्तावेजों के माध्यम से की गर्इ बिक्री को निरस्त कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर उक्त जमीन मंदिर और पुजारी के नाम करने की मांग की है।

ज्ञापन सौंपने वालों में समिति के जिलाध्यक्ष महामंडलेश्वर रामकिशोर दास गढ़ीमलहरा के महंत परमेश्वर दास, संकट मोचन छतरपुर के महंत नागा राम दास, चोपरिया मंदिर के महंत रामेश्वर दास, टुंडे वार मंदिर के महंत रामदास, बिहारी जी मंदिर के पुजारी नीलेश तिवारी, मां मंशापूर्ण देवी मंदिर के पुजारी ज्ञानी तिवारी सहित अनेक साधु संत मौजूद रहे।

बड़ामलहरा। एसडीएम राजीव समाधिया को ज्ञापन सौंपते हुए संत समाज।

Click to listen..