• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Chhatarpur News
  • संभाग स्तरीय पिछड़ा वर्ग महाकुंभ 6 मई को सागर में, कलेक्टर ने की तैयारियों की समीक्षा
--Advertisement--

संभाग स्तरीय पिछड़ा वर्ग महाकुंभ 6 मई को सागर में, कलेक्टर ने की तैयारियों की समीक्षा

सागर के बामोरा गांव में 6 मई को संभाग स्तरीय पिछड़ा वर्ग महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है। इसमें मुख्यमंत्री शिवराज...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:30 AM IST
सागर के बामोरा गांव में 6 मई को संभाग स्तरीय पिछड़ा वर्ग महाकुंभ का आयोजन किया जा रहा है। इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आतिथ्य होगा। महाकुंभ की तैयारियों को लेकर कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल ने समीक्षा बैठक ली। बैठक में जनपद पंचायतों, नगरीय निकायों एवं प्राचार्यों को अधिक से अधिक संख्या में पिछड़ा वर्ग से संबंधित लाभार्थियों को उपस्थित कराने के निर्देश दिए गए। साथ ही महाकुंभ में अधिकतम उपस्थिति सुनिश्चित कराने के संबंध में सुझाव आमंत्रित किए गए एवं चर्चा की गई।

कलेक्टर ने बताया कि समाज के सभी लोगों से कहा कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए हमे व्यक्तिगत तौर पर आगे आना होगा। बैठक में उपस्थित ओबीसी वर्ग के पदाधिकारियों से सुझाव भी आमंत्रित किए। ओबीसी महाकुंभ में सागर संभाग के सागर, टीकमगढ़, दमोह, पन्ना एवं छतरपुर जिले के अन्य पिछड़ा वर्ग के अधिकाधिक हितग्राहियों को शासन की योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। इसमें पिछड़ा वर्ग विभाग की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना एवं अन्य हितग्राही मूलक योजनाओं के हितग्राहियों को मुख्यमंत्री के हाथों मंच से सम्मानित किया जाएगा। इस महाकुंभ में दिव्यांग, स्वसहायता समूह की महिलायें एवं अन्य हितग्राही शामिल होंगे। बैठक में कलेक्टर ने प्राइवेट एवं शासकीय कॉलेजों में अध्ययनरत पिछड़ा वर्ग छात्र-छात्राओं को कार्यक्रम स्थल पर पहुंचाने के निर्देश प्राचार्यों को दिए।

उन्होंने जिले के पिछड़ा वर्ग के प्रतिभावान युवक-युवतियों जिनके द्वारा उत्कृष्ट कार्य, खेल प्रदर्शन किया गया है उन्हें चिन्हित कर कार्यक्रम स्थल पर सम्मानित करने की उचित व्यवस्था करने के निर्देश बैठक में अधिकारियों को दिए। बैठक में बसों के प्वाइंट निर्धारित करने एवं व्यक्तियों की संख्या तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। हितग्राहियों को आयोजन स्थल तक लाने की बेहतर व्यवस्था की जाए। इसके लिए सरपंच एवं सचिव, रोजगार सहायक अपने-अपने ग्राम पंचायत में बैठक कर अधिक से अधिक हितग्राहियों को कार्यक्रम स्थल पर लाना सुनिश्चित करें।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..