• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Chhatarpur
  • लेनदेन के विवाद पर गोली मारने वाले आरोपी को न्यायालय से सुनाई पांच साल की कठोर कैद
--Advertisement--

लेनदेन के विवाद पर गोली मारने वाले आरोपी को न्यायालय से सुनाई पांच साल की कठोर कैद

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:30 AM IST

Chhatarpur News - पुरानी रंजिश के चलते अवैध कट्टे से हमला करने के एक मामले में प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश आरके गुप्त की अदालत ने...

लेनदेन के विवाद पर गोली मारने वाले आरोपी को न्यायालय से सुनाई पांच साल की कठोर कैद
पुरानी रंजिश के चलते अवैध कट्टे से हमला करने के एक मामले में प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश आरके गुप्त की अदालत ने सोमवार को फैसला सुनाया। कोर्ट ने मामले के आरोपी को 5 साल की कठोर कैद के साथ 6 हजार रुपए जुर्माने की सजा दी है। वहीं मामले के सह आरोपी को साक्ष्य के अभाव में न्यायालय ने बरी कर दिया।

सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में महल रोड के शालू उर्फ वसीम ने में 30 दिसंबर 15 को रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह बड़े तालाब की मछली का ठेका लिए है।

तालाब की देखरेख के दौरान पुलिस लाईन रोड के किनारे प्रशांत के टपरा में चाय पी रहा था। करीब दो साल पहले मुक्कू और हुकुम कुशवाहा से मछली के लेनदेन पर से विवाद हो गया था। इसी बात को लेकर मुक्कू बगैरह बुराई मानते हैं। जैसे ही वह चाय पीकर टपरा से बाहर निकला उसी दौरान हुकुम पल्सर बाइक से आया और प्रशांत की दुकान से गुटका लिया। इस दौरान मुक्कू ने हुकुम से कट्टा लेकर जान से मारने के लिए गोली चला दी। गोली शालू के बांय हाथ की हथेली में लगी।

वह जान बचाकर भागने लगा तभी मुक्कू ने दूसरी गोली उसके पैर के घुटने में मार दी। जुल्फी उसे बाइक पर बैठाकर जिला अस्पताल ले आया। एडवाेकेट लखन राजपूत ने बताया कि थाना पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया। पुलिस ने आरोपी मुक्कु के कब्जे से कट्टा कारतूस जब्त कर उसे और हुकुम को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया।

न्यायाधीश आरके गुप्त की कोर्ट ने सुनाई सजा

अभियोजन की ओर से एजीपी अरुणदेव खरे ने पैरवी करते हुए मामले के सभी सबूत एवं गवाह कोर्ट में पेश किए। अवैध कट्टे से गोली चलाकर प्राणघातक हमला करने के आरोप में प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश आरके गुप्त की अदालत ने आरोपी मुक्कू उर्फ मुकीम को दोषी करार दिया। कोर्ट ने आरोपी मुक्कू को आईपीसी की धारा 307 में 5 साल की कठोर कैद, चार हजार रुपए जुर्माना और आर्मस एक्ट की धारा 25 में एक साल की कठोर कैद, एक हजार रुपए जुर्माना धारा 27 में तीन साल की कठोर कैद के साथ एक हजार रुपए के जुर्माना की सजा सुनाई। साथ ही मामले के सह आरोपी हुकुमचंद्र कुशवाहा को साक्ष्य के अभाव में न्यायालय ने बरी कर दिया।

X
लेनदेन के विवाद पर गोली मारने वाले आरोपी को न्यायालय से सुनाई पांच साल की कठोर कैद
Astrology

Recommended

Click to listen..