लुहरगुवां ममौरा मार्ग कीचड़ में तब्दील / लुहरगुवां ममौरा मार्ग कीचड़ में तब्दील

Chhatarpur News - भास्कर संवाददाता| पृथ्वीपुर जनपद के तहत आने वाली ग्राम पंचायत लुहरगुवां से ग्राम पंचायत ममौरा पहुंच मार्ग इस...

Bhaskar News Network

Aug 04, 2018, 02:35 AM IST
लुहरगुवां ममौरा मार्ग कीचड़ में तब्दील
भास्कर संवाददाता| पृथ्वीपुर

जनपद के तहत आने वाली ग्राम पंचायत लुहरगुवां से ग्राम पंचायत ममौरा पहुंच मार्ग इस बारिश के मौसम में कीचड़ में तब्दील हो गई है। जिससे यहां से निकलने वाले ग्रामीणों और वाहन चालकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ग्राम पंचायत लुहरगुवां के अवधशरण पाण्डेय, मनोहर भौंडेले, नरेन्द्र नायक, अटल नायक, मनोहर बुन्देला, महेन्द्र नायक सहित कई ग्रामीणों ने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी का ध्यान आपेक्षित कर मांग की है यह कच्ची सड़क सालों से गड्ढों में तब्दील है। इसपर निर्माण कार्य नहीं किए जाने से जगह-जगह भारी मात्रा में बड़े-बड़े गड्ढे हो जाने से कीचड़ हो रहा है। आए दिन यहां से निकलने वाले चार पहिया वाहन एवं दो पहिया वाहन चालकों को वाहन निकालने में परेशानी होती है। चार पहिया वाहन तो दिन मे कई बार फंस जाते हैं जिन्हें दूसरे वाहन एवं ग्रामीणों की मदद से निकाला जाता है। ग्रामीणों ने जल्दी ही सड़क सुधार की मांग की है।

बारिश के मौसम में जगह-जगह मिट्‌टी डली होने के कारण आवागमन में फंस रहे वाहन

ममौरा पहुंच मार्ग में कीचड़ होने से वाहन चालक हो रहे परेशान।

विधायक ने चौपाल लगाकर सुनी लोगों की समस्याएं

छतरपुर| भाजपा किसान मोर्चा द्वारा शुक्रवार को प्रदेश की सभी विधानसभाओं में किसान चौपाल आयोजित की गई। छतरपुर विधानसभा के धमोरा व लुगासी गांव में जिलाध्यक्ष पुष्पेंद्र प्रताप सिंह मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद रहे। इस दौरान उन्होंने भाजपा सरकार द्वारा किए गए कार्याें के बारे में बताते हुए सरकार की उपलब्धियों गिनाईं। प्रदेश में बिजली पानी और सड़क के अभाव में खेती, किसानी चौपट हो रही थी। बड़ी संख्या में किसान खेती से पलायन कर गए थे, सड़कें गायब होकर गड्ढों में तब्दील हो गई थी।

2004 में भाजपा ने बागडोर संभाली तो किसान पुत्र मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में असंभव को संभव करते हुए सड़क, पानी पर ध्यान दिया। अभूतपूर्व परिवर्तन के साथ चमत्कारी परिणाम प्रस्तुत किए। गरीब के जीवन में जन्म से लेकर मृत्यु तक की चिंता शिवराज सरकार ने की है। सरकार गरीब को एक रुपए किलो गेहूं, चावल और नमक दे रही है। मुख्यमंत्री ने दिन-रात के परिश्रम से मध्य प्रदेश को बीमारू राज्य की श्रेणी से निकालकर विकासशील राज्य में खड़ा कर दिया। जिससे देश में मप्र का सम्मान बढ़ा है।

संबल योजना में छोटे किसानों को भी जोड़ा गया है, संबल योजना से छोटे किसानों को पढाई प्रसूति सहायता, अंत्येष्टि स्वास्थ्य दुर्घटना व 200 रुपए में फ्लैट रेट पर बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। ना सिर्फ कृषि बल्कि बिजली, सड़क, सिंचाई, पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित सभी क्षेत्रों में ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए प्रदेश को शून्य से शिखर पर पहुंचाया है। नीति और नेतृत्व ठीक हो तो विकास की राह निकल ही आती है। चौपाल में जिला अध्यक्ष ने सभी किसानों का साल, श्रीफल से सम्मान किया। इस अवसर पर भाजपा जिला मंत्री हरिश्चंद्र द्विवेदी, किसान मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य महेश मातौल, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जिला प्रभारी गीता पटेरिया, ममता यादव, पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिला अध्यक्ष छबिलाल पटेल, युवा मोर्चा महामंत्री बॉबी राजा, तुलसीदास विश्वकर्मा, किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष मोहनलाल तिवारी, मंडल अध्यक्ष बाके महाराज, ठाकुरदास पटेल, युवा मोर्चा के गौरव गोस्वामी सहित किसान व कार्यकर्ता चौपाल में मौजूद रहे।

X
लुहरगुवां ममौरा मार्ग कीचड़ में तब्दील
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना