• Hindi News
  • Mp
  • Chhatarpur
  • Tikamgarh News mp news 12 crore rupees dividers and roads destroyed food supply in the name of screwwork

12 करोड़ रुपए के डिवाइडर और सड़कें हुईं खस्ताहाल, पेंचवर्क के नाम पर खाना पूर्ति

Chhatarpur News - शहर की तंग गलियों से ज्यादा हाल ही में बनी डिवाइडर की सड़कों ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। वाहन चालक सड़क के...

Feb 15, 2020, 09:40 AM IST
Tikamgarh News - mp news 12 crore rupees dividers and roads destroyed food supply in the name of screwwork

शहर की तंग गलियों से ज्यादा हाल ही में बनी डिवाइडर की सड़कों ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। वाहन चालक सड़क के गड्‌ढों के झटके खाने को मजबूर हंै। इतना ही नहीं इस मार्ग से अधिकारी रोजाना आफिस जा रहे है, लेकिन अधिकारियों को सड़क पर गड्‌ढे नजर नहीं आ रहे। पूर्व में हुए पेंचवर्क कराकर खाना पूर्ति करा दी गई लेकिन गड्‌ढे जस के तस बने हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि नगर पालिका द्वारा 12 करोड़ रुपए की लागत से डिवाइडर मार्ग तैयार कराया गया। जो सिंधी धर्मशाला से कलेक्टोरेट रोड और अस्पताल चौराहा से नए बस स्टैंड तक अधोसंरचना योजना के तहत निर्माण हुआ। पांच साल भी पूरे नहीं हुए और डिवाइडर की सड़कें जवाब देने लगी हैं। सड़कों के बीच बड़े-बड़े गड्ढे हो गए। ऐसे में भारी वाहनों के निकलने में हादसे का अंदेशा बना रहता है। नए बस स्टैंड रोड स्थित खादी आश्रम के पास करीब आठ फीट तक पूरी तरह से सड़क उखड़ चुकी है। पांच इंच तक सड़क ऊपर-नीचे हो गई। वाहन निकलने के दौरान मिट्टी में फिसलने का भी डर बना रहता है। ऐसे ही अस्पताल चौराहे से कलेक्टोरेट तक हर जगह गड्ढे ही गड्ढे नजर आ रहे हैं। यहां पेंचवर्क के बाद भी पूरी सड़क उखड़ी पड़ी है।

पेंचवर्क के नाम पर खानापूर्ति: डिवाइडर मार्ग की सड़कों पर पूर्व में पेंचवर्क कराए गए थे। कुछ ही समय तक पेंचवर्क चल सके, अब वहीं पेंचवर्क गड्‌ढाें में तब्दील हो गए, लेकिन संबंधित अधिकारी इन गड्‌ढाें को भरवाने में रूचि तक नहीं ले रहे है। जिससे राहगीरों को खस्ताहाल सड़कों से गुजरे के लिए रोजाना जूझना पड़ रहा है।

रात के अंधेरे में बने परेशानी का सबब : नए बस स्टैंड रोड पर रात में खुला रोड होने पर अक्सर लोग वाहनों को तेज रफ्तार में लेकर गुजरते हैं, लेकिन उन्हें सामने से आने वाले गड्‌ढे अचानक दिखाई नहीं देता और बचाने के चक्कर में वाहन का संतुलन खो देते हैं, जिससे वाहन डैमेज के साथ-साथ सड़क हादसा होने का डर बना रहता है। ऐसे में अनहोनी का शिकार भी हो सकते हैं।

इन्हीं गड्‌ढाें से गुजरकर रोजाना जाते हैं अधिकारी

अजय सोनी ने बताया कि डिवाइडर मार्ग बनने से लोग फर्राटे से वाहन दौड़ते हैं। कलेक्टोरेट कार्यालय जाने वाले अधिकारी भी इसी मार्ग से गुजरते हैं, लेकिन उन्हें यह डिवाइडर की सड़क में पड़े गड्ढे नजर नहीं आ रहे हैं। जब अधिकारी ही नजर अंदाज करेंगे, संबंधित ठेकेदार लगाम कैसे कसेगी और न ही पेंचवर्क हो जाएगा।

सड़कों को पूरी तरह से दुरुस्त कराया जाएगा


टीकमगढ़। खस्ताहाल हुई डिवाइडर की सड़कें।

X
Tikamgarh News - mp news 12 crore rupees dividers and roads destroyed food supply in the name of screwwork
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना