• Hindi News
  • Mp
  • Chhatarpur
  • Tikamgarh News mp news celebrations celebrated on the birth of lord bal adi kumar people lit lamps from house to house in ayodhya city

भगवान बालक आदि कुमार के जन्म पर मनाई गईं खुशियां, अयोध्या नगरी में लोगों ने घर-घर जलाए दीपक

Chhatarpur News - सुधा सागर रोड स्थित जैन कॉलोनी में मज्जिनेंद्र पंचकल्याणक महामहोत्सव का आयोजन 9 फरवरी से 14 फरवरी तक किया जा रहा...

Feb 12, 2020, 09:31 AM IST

सुधा सागर रोड स्थित जैन कॉलोनी में मज्जिनेंद्र पंचकल्याणक महामहोत्सव का आयोजन 9 फरवरी से 14 फरवरी तक किया जा रहा है। पंचकल्याणक महोत्सव गणाचार्य विराग सागर महाराज के शिष्य बाक्केसरी आचार्य विनिश्चय सागर महाराज के ससंघ सानिध्य में चल रहा है। ध्वजारोहण के बाद दूसरे दिन गर्भ कल्याणक संस्कार का चित्रण किया गया। बालक आदि कुमार का जन्म हुआ और घर-घर दीप जलाकर उत्सव मनाया गया।

प्रदीप जैन ने बताया कि 9 फरवरी दिन रविवार को पंचकल्याणक महोत्सव में ध्वजारोहण संजय लोहिया द्वारा किया गया। सोमवार को भगवान के गर्भ कल्याणक के संस्कार दिखाए गए। माता मरूदेवी गर्भ धारण करती हैं। संपूर्ण अयोध्या नगरी में 6 महीने तक र|ों की वर्षा होती है। मंगलवार को महोत्सव में बालक आदि कुमार का जन्म हुआ। अयोध्या नगरी में खुशी का माहौल था। घर-घर दीपक जलाए गए, अयोध्या नगरी में मिठाइयां बांटी गई। नगरी को दुल्हन की तरह सजाया गया। बालक आदि कुमार का पुण्य इतना तेज होता है कि कुछ समय के लिए तो नारकीय भी सुखी हो जाते हैं।

तप कल्याणक की होंगी क्रियाएं: पंचकल्याणक आयोजन समिति ने बताया कि बुधवार को श्रीजी का अभिषेक शांतिधारा नित्यम पूजन किया जाएगा। सुबह 10 बजे आचार्य विनिश्चय सागर महाराज के प्रवचन होंगे। दोपहर 2 बजे से तप कल्याणक की क्रियाएं प्रारंभ होंगी। राजा आदि कुमार का राज्य अभिषेक होगा। नीलांजना का नृत्य होगा।

नृत्य करते-करते नीलांजना की मृत्यु हो जाती है। यह सब देखकर राजा आदि कुमार को बैराग्य आ जाता है। राजा आदि कुमार अपना राजपाट छोड़कर मुनि दीक्षा ग्रहण कर लेते हैं। इस दौरान समिति के सदस्य ज्ञानेश जैन, मनोज जैन, वीर चंद्र जैन, विनोद जैन, प्रदीप जैन, भागचंद जैन शामिल रहे।

बालक आदि कुमार के जन्म पर निकली यात्रा

बालक आदि कुमार के जन्म की खुशियां मनाते हुए नगर में यात्रा निकाली। स्वर्ग से सौधर्म इंद्र एवं शचि इंद्राणी सफेद ऐरावत हाथी पर बैठकर एवं स्वर्ग से अनेक देवी देवता बालक आदि कुमार की जन्म की खुशियां मनाने के लिए अयोध्या नगरी आते हैं। सरस्वती देवी वीणा बजाती है, गंधर्व देव गाना गाते हैं। शचि इंद्राणी बालक आदि कुमार को माता मरू देवी के पास से उठा ले आती हैं। बालक आदि कुमार की जगह एक मायावी बालक माता मरू देवी के पास छोड़ आती है। जिससे कि माता को पता नहीं चले कि बालक आदि कुमार कहां है। इसके बाद सोधर्मइंद्र बालक आदि कुमार को सुमेरु पर्वत पर ले जाकर 1008 कलशों से आदि कुमार का अभिषेक करते है।


भगवान के पांच कल्याणक मनाए जाते हैं

आचार्य विनिश्चय सागर महाराज ने पंचकल्याणक महोत्सव के दौरान अपने मांगलिक प्रवचनों में कहा कि पंचकल्याणक महोत्सव पाषाण को भगवान बनाने का महोत्सव है। इसमें भगवान के पांच कल्याणक मनाए जाते हैं। गर्भ, जन्म, तप, ज्ञान, और मोक्ष कल्याणक मनाया जाता है। हम लोग भगवान का जन्म कल्याणक मना रहे हैं। आज माता मरूदेवी के गर्भ से बालक आदि कुमार का जन्म हुआ है।

टीकमगढ़। आयोजन में शामिल समाज के लोग।

टीकमगढ़। एेरावत पर बैठकर जाते इंद्र-इंद्राणी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना