• Hindi News
  • Mp
  • Chhatarpur
  • Chhatarpur News mp news co operative bank gave attachment notices to about fifty thousand farmers speeded up the recovery process

करीब पचास हजार किसानों को सहकारी बैंक ने दिए कुर्की के नोटिस, वसूली प्रक्रिया तेज की

Chhatarpur News - प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने छतरपुर जिले के 95 हजार से अधिक किसानों को कर्ज माफी का मोबाइल पर सरकार बनने के बाद मैसेज...

Sep 13, 2019, 07:05 AM IST
प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने छतरपुर जिले के 95 हजार से अधिक किसानों को कर्ज माफी का मोबाइल पर सरकार बनने के बाद मैसेज भेजकर कर्जमाफी की सूचना देते हुए बाहवाही लूटी। कर्ज माफी के बाद किसानों से तीन प्रकार के फार्म भरवाए।

अब बैंकों ने वसूली तेज की तो किसान परेशान हैं। जिला सहकारी बैंक छतरपुर में 50 हजार रुपए तक के ऋणी किसानों की कर्जमाफी की प्रक्रिया पूरी हो गई है। पर 50 हजार से लेकर 2 लाख रुपए तक कर्जदार 49 हजार 430 किसानों के संबंध में सरकार ने अब तक कोई फैसला नहीं लिया है। इन किसानों के न तो कर्जमाफी आदेश बैंक को दिए गए हैं और न ही बैंक को यह राशि मिली है। इस कारण जिला सहकारी बैंक शाखाओं ने इन किसानों से वसूली की प्रक्रिया तेज कर दी है। मध्य भारत ग्रामीण बैंक अौर निजी बैंकों ने तो पहले ही किसानों से वसूली की कार्रवाई कर रहे हैं। इससे किसान परेशान हैं। प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद सरकार ने जिला सहकारी बैंक छतरपुर के 95,526 किसानों को ऋण माफ करने के लिए उपयुक्त पाया था। जय किसान ऋण माफी योजना का इन किसानों को लाभ दिया जाना था। प्रदेश सरकार ने पिछले दिनों जिले के 95,526 ऋणी किसानों में से 50 हजार तक के 46,096 किसानों की ऋण माफी की सूची जिला सहकारी बैंक छतरपुर को राशि के साथ भेज दी गई है। इस कारण इन किसानों की कर्जमाफी हो गई है। इसके बाद प्रदेश सरकार ने एक भी किसानों के ऋण माफी की न तो सूची भेजी है और न ही उनके ऋण की राशि बैंक को दी गई। इस कारण जिले में 50 हजार से 2 लाख तक के 49,430 किसान पिछले 8 माह से ऋण माफ होने का इंतजार कर रहे हैं।

अब जिले के इन किसानों को संबंधित बैंकों ने ऋण चुकाने के लिए नोटिस जारी करके वसूली की प्रक्रिया तेज कर दी है। इस कारण किसानों की चिंताएं बढ़ना शुरू हो गई है।

सरकार ने नहीं दी है बैंक को राशि

इस मामले में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित के प्रबंधक सुरेश रावत ने बताया कि पिछले दिनों प्रदेश सरकार ने जिले के किसानों का 50 हजार तक का ऋण माफ करने की सूची भेजी थी। इसकी राशि भी बैंक को मिल गई है। 50 हजार रुपए तक के किसानों की कर्जमाफी की प्रक्रिया पूरी हो गई है। इसके बाद 50 हजार से लेकर 2 लाख रुपए तक कर्जदार किसानों की ऋणमाफी की दूसरी सूची जारी नहीं हुई है। इसमें जिले में 49 हजार 430 किसान हैं। न तो सरकार ने इन किसानों के कर्जमाफी का आदेश दिया है और न ही बैंक को राशि दी है। उनका कहना है कि इस मामले में जिला स्तर से तो कर्ज वसूली का आदेश जारी नहीं हुआ है। पर शाखाएं अपने अनुसार कुछ कर रही हैं तो उन्हें जानकारी नहीं है।

केस -1 बैंक अधिकारी सख्ती से वसूली करने की दे रहे चेतावनी

55 वर्षीय किसान बृजभान सिंह ने बताया कि पिछले दिनों मध्यांचल ग्रामीण बैंक से फसल के लिए ऋण लिया। पिछले दिनों प्रदेश सरकार ने घोषणा करते हुए सभी किसानों का ऋण माफ कर दिया। पर अब बैंक के इस ऋण को चुकाने के लिए नोटिस जारी कर दिया है। बैंक ने लिखा है कि यदि ऋण नहीं चुकाया गया तो ब्याज पर ब्याज लेने के साथ ही सख्ती से वसूली की जाएगी।

केस -2 : सहकारी बैंक ने कुर्की करने की दी चेतावनी

किसान गोकुल यादव ने बताया कि पिछली खरीफ फसल के लिए जिला सहकारी बैंक से खाद-बीज के लिए सवा लाख का ऋण लिया। वर्तमान सरकार की घोषणा के बाद कुछ दिनों तक तो संबंधित बैंक ने इस रुपए के बारे में चर्चा तक नहीं की, पर अब बैंक ने जल्द से जल्द ऋण चुकता करने के लिए वसूली का नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही बैंक ने मकान और जमीन की कुर्की कर रुपए वसूल करने की भी चेतावनी दी है।

केस -3 : खाद-बीज नहीं दिया अब वसूली का दबाव

किसान शिशिर माेहन चौरसिया ने बताया कि ऋण माफी की घोषणा के बाद बैंक का कर्ज नहीं चुकाया, इसलिए गढ़ीमलहरा सहकारी समिति ने खरीफ फसल के लिए खाद-बीज नहीं दिया। अब स्थानीय बैंक ने उस ऋण को चुकाने के लिए नोटिस जारी किया है। रुपए ब्याज सहित न चुकाने पर बैंक ने सख्त कार्रवाई के लिए भी लिखा है।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना