खोपरा गोला 200, कालीमिर्च 100 रुपए मंदी

Chhatarpur News - इंदौर | लगातार वर्षा होने से किराना बाजार में ग्राहकी एकदम ठप पड़ी है। ऐसा आभास हो रहा है कि जब तक मौसम साफ नहीं...

Bhaskar News Network

Sep 13, 2019, 07:10 AM IST
DEREE News - mp news copra gola 200 pepper 100 recession
इंदौर | लगातार वर्षा होने से किराना बाजार में ग्राहकी एकदम ठप पड़ी है। ऐसा आभास हो रहा है कि जब तक मौसम साफ नहीं ग्राहकी निकलना मुश्किल है। शहरों की बजाय ग्रामीण क्षेत्रों की हालत काफी अधिक खराब है। कुछ गांवों से तो आने-जाने के साधन ही नहीं है। ऐसे में ग्राहकी निकलने की आशा कैसे की जा सकती है। खोपरा- गोला के टेंडर नीचे जाने के साथ ग्राहकी लगभग ठप रहने की वजह से भावों में 200 की कमी की गई है। मांग के अभाव में कालीमिर्च के भावों में भी 100 रुपए घटाए गए हैं। खोपरा बूरा में मांग कमजोर पड़ गई है। नवरात्रि की मांग निकलने में काफी समय शेष है। नारियल की आवक भी सुगम होती जा रही है। इससे आगे-पीछे खोपरा बूरा के भावों में गिरावट आ सकती है। नारियल की आवक 5 ट्रक की रही। भाव लगभग स्थिर रहे। साबूदाना में नवरात्रि की मांग बनी हुई है। अगले 2-4 दिन तक जोरदार मांग बनी रहने की आशा रखी जाती है।

हापुड़ में नया गुड़ सितंबर में

नए गुड़ का निर्माण हापुड़ में सितंबर में जबकि मुजफरनगर में अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में शुरू होने की आशा है। उप्र के शीतगृहों से गुड़ की बिक्री बड़ी मात्रा में हो रही है, जबकि मप्र में गुड़ का कारोबार पूरी तरह से बैठा हुआ है। गुड़ में शहरी- ग्रामीण क्षेत्रों की मांग का अभाव बना हुआ है। उप्र की अन्य मंडियों नया माल दीपावली बाद ही आना शुरू होगा। गुड़ का स्टॉक गत वर्ष से अधिक था, अत: यदि निर्माण में देरी हुई तब भी तेजी के संयोग कम है। देश के कुछ भागों में हो रही वर्षा से ग्राहकी एकदम ठप पड़ गई है। कुछ क्षेत्रों का शहरों से संपर्क ही टूट गया है। मुजफ्फरनगर के शीतगृहों में 2 सितंबर तक गुड़ का स्टॉक 5.45 लाख कट्‌टों का है, जबकि पिछले वर्ष 4.39 लाख कट्‌टों का था। कुल स्टॉक में से चाकू गुड़ 2.94 लाख, राबटिन 1.5 लाख खुरपा 3363 कट्‌टे, रसकट 26267 कट्‌टों का स्टॉक है। चौरसा गुड़ का स्टॉक 37473 कट्‌टों का रह गया, जबकि गत वर्ष 57 हजार कट्‌टों का था।

सियागंज किराना बाजार में शकर 3440 से 3470 गुड़ कटोरा 4100 नया छोटा लड्‌डू 4200 से 4250 हल्दी काढ़ी 9800 से 11200 लाल गाय 135 से 136 हल्दी पावडर-501 1571 सुपर क्राउन 751 मयूर 1391 खोपरा गोला 150 से 172 खोपरा बूरा व्हील 3425 सनगोल्ड 2250 ताज 2825 साबूदाना 6200 से 6400 मीडियम 6700 से 6800 बेस्ट 7000 से 7200 ग्लास 8000 से 8200 वरलक्ष्मी 7800 1 किलो पैकिंग में 8500 सोल्जर 7350 सच्चामोती रायलर| 7300 1 किलो 7875 सच्चासाबू 7880 1 किलो में 8400 कालीमिर्च गारवल 345 से 350 एटम 352 से 356 मटरदाना 385 से 405 जीरा राजस्थान 188 से 192 ऊंझा हल्का 195 से 198 मध्यम 205 से 212 बेस्ट 215 से 221 सौंफ मोटी 90 से 95 मीडियम 115 से 125 बेस्ट 140 से 200 बारीक 160 से 175 नारियल मद्रास नया पानी 120 भरती 1500 से 1650 160 भरती 1500 से 1550 200 भरती 1500 से 1550 250 भरती 1550 से 1600 लौंग चालू 490 से 525 बेस्ट 560 से 570 दालचीनी 275 से 280 जायफल 550 से 625 बेस्ट 650 से 675 जावत्री 1950 से 2000 बड़ी इलायची 585 से 625 मध्यम 650 से 675 बेस्ट 750 से 825 पत्थर फूल 360 से 425 बेस्ट 440 बाद्यान फूल 525 से 560 शाहजीरा 340 से 365 ग्रीन 520 से 530 तेजपान 75 से 82 तरबूज मगज 168 से 170 नागकेसर 640 से 660 सौंठ 240 से 280 खसखस चालू 850 से 900 मीडियम 950 से 975 बेस्ट 1000 से 1050 एक्स्ट्रा बेस्ट 1125 से 1200 धौली मूसली 775 से 850 वनदेवी दाना 751- 2600 वनदेवी पाउच में 2640 121 न. दाना 2400 पाउच 2440 111 न. डिब्बी 2200 पाउच 2240 पीला पावडर 750 सिंदूर 6200 पूजा बादाम 70 से 75 बेस्ट 140 से 155 अरीठा 60 से 65 सिंघाड़ा 100 से 105 बड़ा 135 से 140 मोरधन अल्पाहार 9310 हरी इलायची 2700 से 2750 मीडियम बोल्ड 2850 से 2975 बोल्ड 3075 से 3450 एक्स्ट्रा बोल्ड 3550 से 3700 काजू-240 750 से 760 काजू डब्ल्यू 320- 640 से 650 काजू डब्ल्यू 1 630 से 635 एस डब्ल्यू 300- 620 से 625 एसएस डब्ल्यू 610 से 615 काजू जेएच 625 से 635 टुकड़ी 590 से 615 बादाम मगज 695 से 700 नकद 705 से 710 मोटी 760 टॉच 550 से 570 किशमिश कंधारी 300 से 375 बेस्ट 400 से 450 इंडियन 140 से 175 बेस्ट 185 से 210 चारोली 725 से 750 बेस्ट 800 से 815 मुनक्का 300 से 450 बेस्ट 550 से 600 अंजीर 750 से 950 बेस्ट 1150 से 1225 मखाना 625 से 750 बेस्ट 800 से 850 केसर 78 से 105 ऊपर में 115 से 128 मैदा कट्‌टे में 1280 से 1330 रवा कट्‌टे में 1280 से 1330 आटा कट्‌टा 1230 से 1350 बेसन 2800 से 3000 पोहा 3500 से 3700 सच्चामोती पोहा 3950 रुपए।

बड़ी इलायची की फसल तैयार

नेपाल में बड़ी इलायची की फसल तैयार हो गई है। किसानों ने इसकी तुड़ाई भी प्रारंभ कर दी है। नेपाल के गड़की प्रांत में बड़ी इलायची की खेती 1200 हेक्टेयर के आसपास होती है। नेपाल भारत के अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं खाड़ी देशों को निर्यात करता है। बड़ी इलायची का उत्पादन 3-4 किस्मों का होता है। जीरामल और सोनकिस्मों की कटाई अगस्त मध्य के बाद से शुरू हो जाती है।

X
DEREE News - mp news copra gola 200 pepper 100 recession
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना