भोजन करने से पहले प्रभु को अर्पण कीजिए, फिर अपने जीवन में परिवर्तन देखिए: संत योगेश्वरदास

Chhatarpur News - शहर में पुरानी गल्लामंडी स्थित मां अन्नपूर्णा मेला जलबिहार का शुभारंभ 76 वां श्रावण द्वादशी पर बद्रीनाथ से आए संत...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:27 AM IST
Chhatarpur News - mp news offer food to god before eating then watch the change in your life sant yogeshwardas
शहर में पुरानी गल्लामंडी स्थित मां अन्नपूर्णा मेला जलबिहार का शुभारंभ 76 वां श्रावण द्वादशी पर बद्रीनाथ से आए संत बालक योगेश्वरदास के सानिध्य में रिमझिम फुहारों के बीच नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने फीता काटकर किया। इसके साथ ही वे महाआरती में भी शामिल हुईं। इस अवसर पर महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष द्रोपती कुशवाहा, पार्षद स्वाति कुचया, सीता सिंह, गिरजा पाटकर, बच्ची राजा, आशीष पाठक भी मौजूद रहे।

समिति महासचिव दिलीप सेन ने बताया कि मेले के शुभारंभ पर संत बालक योगेश्वरदास महाराज ने अपनी अमृतमयी वाणी से उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि मेले में एक साथ इतनी संख्या में विमानों का विराजमान होना अद्वितीय एवं मनोरम दृष्य है। जिनके दर्शन मात्र से मन प्रसन्न हो गया। महाराज ने कहा कि यदि हम बड़े-बड़े हवन-पूजन, यज्ञ, धार्मिक आयोजन नहीं कर सकते तो कोई बात नहीं, लेकिन यदि हमें प्रभु से साक्षात्कार करना है और उनकी कृपा का पात्र बनना है तो एक काम करिए कि आप रोज जो सात्विक भोजन करते हुए हैं, उसे पहले प्रभु को भोग लगाईए। आप नये कपड़े लेते हैं तो उन्हें पहनने से पहले प्रभु को अर्पण कीजिए, फिर अपने जीवन में परिवर्तन देखिए। मुख्य अतिथि नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने कहा कि पारंपरिक मेले हमारी प्राचीन धरोहर हैं, जिन्हें सहेजना हमारा दायित्व है। मेला जलबिहार समिति बधाई की पात्र है, जो इतने बड़े आयोजन को बखूबी निरंतर कर रही है। उन्होंने कहा कि मेलों को लेकर महिलाओं में विशेष उत्साह रहता है। वे वर्षभर इन मेलों का इंतजार करती हैं, क्योंकि कई वस्तुएं ऐसी होती हैं, जो सिर्फ मेले में मिल सकती हैं और कहीं नहीं। श्रीमती सिंह ने मेला समिति को पूर्व की तरह नगर पालिका से 50 हजार रुपए देने की घोषणा की। मेला समिति की ओर से मंचासीन अतिथियों का स्वागत समिति अध्यक्ष राकेश रूसिया, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, केतन अवस्थी, बब्बू पिपरसानियां, रवि नीखरा, लखन रैकवार, अंकित दुबे, विक्की वाजपेयी ने किया।

समिति संरक्षक सदस्य देवकीनंदन मिश्रा, प्रभात अग्रवाल, रमाशंकर अवस्थी, अशोक गुप्ता, दयाशंकर अवस्थी, रवि शुक्ला, पप्पू पंसारी, महेंद्र गंधी, प्रवीण गुप्त ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। संचालन राजेश रूसिया और आभार अध्यक्ष राकेश रूसिया ने किया।

शहर में पुरानी गल्लामंडी स्थित मां अन्नपूर्णा मेला जलबिहार का शुभारंभ किया गया।

भास्कर संवाददाता। छतरपुर

शहर में पुरानी गल्लामंडी स्थित मां अन्नपूर्णा मेला जलबिहार का शुभारंभ 76 वां श्रावण द्वादशी पर बद्रीनाथ से आए संत बालक योगेश्वरदास के सानिध्य में रिमझिम फुहारों के बीच नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने फीता काटकर किया। इसके साथ ही वे महाआरती में भी शामिल हुईं। इस अवसर पर महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष द्रोपती कुशवाहा, पार्षद स्वाति कुचया, सीता सिंह, गिरजा पाटकर, बच्ची राजा, आशीष पाठक भी मौजूद रहे।

समिति महासचिव दिलीप सेन ने बताया कि मेले के शुभारंभ पर संत बालक योगेश्वरदास महाराज ने अपनी अमृतमयी वाणी से उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि मेले में एक साथ इतनी संख्या में विमानों का विराजमान होना अद्वितीय एवं मनोरम दृष्य है। जिनके दर्शन मात्र से मन प्रसन्न हो गया। महाराज ने कहा कि यदि हम बड़े-बड़े हवन-पूजन, यज्ञ, धार्मिक आयोजन नहीं कर सकते तो कोई बात नहीं, लेकिन यदि हमें प्रभु से साक्षात्कार करना है और उनकी कृपा का पात्र बनना है तो एक काम करिए कि आप रोज जो सात्विक भोजन करते हुए हैं, उसे पहले प्रभु को भोग लगाईए। आप नये कपड़े लेते हैं तो उन्हें पहनने से पहले प्रभु को अर्पण कीजिए, फिर अपने जीवन में परिवर्तन देखिए। मुख्य अतिथि नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने कहा कि पारंपरिक मेले हमारी प्राचीन धरोहर हैं, जिन्हें सहेजना हमारा दायित्व है। मेला जलबिहार समिति बधाई की पात्र है, जो इतने बड़े आयोजन को बखूबी निरंतर कर रही है। उन्होंने कहा कि मेलों को लेकर महिलाओं में विशेष उत्साह रहता है। वे वर्षभर इन मेलों का इंतजार करती हैं, क्योंकि कई वस्तुएं ऐसी होती हैं, जो सिर्फ मेले में मिल सकती हैं और कहीं नहीं। श्रीमती सिंह ने मेला समिति को पूर्व की तरह नगर पालिका से 50 हजार रुपए देने की घोषणा की। मेला समिति की ओर से मंचासीन अतिथियों का स्वागत समिति अध्यक्ष राकेश रूसिया, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, केतन अवस्थी, बब्बू पिपरसानियां, रवि नीखरा, लखन रैकवार, अंकित दुबे, विक्की वाजपेयी ने किया।

समिति संरक्षक सदस्य देवकीनंदन मिश्रा, प्रभात अग्रवाल, रमाशंकर अवस्थी, अशोक गुप्ता, दयाशंकर अवस्थी, रवि शुक्ला, पप्पू पंसारी, महेंद्र गंधी, प्रवीण गुप्त ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। संचालन राजेश रूसिया और आभार अध्यक्ष राकेश रूसिया ने किया।

जवाबी कीर्तन आज

मंच से 14 सितंबर शुक्रवार को जवाबी कीर्तन नीलम विश्वकर्मा लवकुशनगर और शंभू हलचल कानपुर के बीच शानदार मुकाबला आयोजित किया जाएगा। वहीं 15 सितंबर रविवार को लोकगीतों की रंगारंग प्रस्तुति चिरईया एंड पार्टी द्वारा दी जाएगी।

भास्कर संवाददाता। छतरपुर

शहर में पुरानी गल्लामंडी स्थित मां अन्नपूर्णा मेला जलबिहार का शुभारंभ 76 वां श्रावण द्वादशी पर बद्रीनाथ से आए संत बालक योगेश्वरदास के सानिध्य में रिमझिम फुहारों के बीच नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने फीता काटकर किया। इसके साथ ही वे महाआरती में भी शामिल हुईं। इस अवसर पर महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष द्रोपती कुशवाहा, पार्षद स्वाति कुचया, सीता सिंह, गिरजा पाटकर, बच्ची राजा, आशीष पाठक भी मौजूद रहे।

समिति महासचिव दिलीप सेन ने बताया कि मेले के शुभारंभ पर संत बालक योगेश्वरदास महाराज ने अपनी अमृतमयी वाणी से उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि मेले में एक साथ इतनी संख्या में विमानों का विराजमान होना अद्वितीय एवं मनोरम दृष्य है। जिनके दर्शन मात्र से मन प्रसन्न हो गया। महाराज ने कहा कि यदि हम बड़े-बड़े हवन-पूजन, यज्ञ, धार्मिक आयोजन नहीं कर सकते तो कोई बात नहीं, लेकिन यदि हमें प्रभु से साक्षात्कार करना है और उनकी कृपा का पात्र बनना है तो एक काम करिए कि आप रोज जो सात्विक भोजन करते हुए हैं, उसे पहले प्रभु को भोग लगाईए। आप नये कपड़े लेते हैं तो उन्हें पहनने से पहले प्रभु को अर्पण कीजिए, फिर अपने जीवन में परिवर्तन देखिए। मुख्य अतिथि नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ने कहा कि पारंपरिक मेले हमारी प्राचीन धरोहर हैं, जिन्हें सहेजना हमारा दायित्व है। मेला जलबिहार समिति बधाई की पात्र है, जो इतने बड़े आयोजन को बखूबी निरंतर कर रही है। उन्होंने कहा कि मेलों को लेकर महिलाओं में विशेष उत्साह रहता है। वे वर्षभर इन मेलों का इंतजार करती हैं, क्योंकि कई वस्तुएं ऐसी होती हैं, जो सिर्फ मेले में मिल सकती हैं और कहीं नहीं। श्रीमती सिंह ने मेला समिति को पूर्व की तरह नगर पालिका से 50 हजार रुपए देने की घोषणा की। मेला समिति की ओर से मंचासीन अतिथियों का स्वागत समिति अध्यक्ष राकेश रूसिया, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, केतन अवस्थी, बब्बू पिपरसानियां, रवि नीखरा, लखन रैकवार, अंकित दुबे, विक्की वाजपेयी ने किया।

समिति संरक्षक सदस्य देवकीनंदन मिश्रा, प्रभात अग्रवाल, रमाशंकर अवस्थी, अशोक गुप्ता, दयाशंकर अवस्थी, रवि शुक्ला, पप्पू पंसारी, महेंद्र गंधी, प्रवीण गुप्त ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। संचालन राजेश रूसिया और आभार अध्यक्ष राकेश रूसिया ने किया।

X
Chhatarpur News - mp news offer food to god before eating then watch the change in your life sant yogeshwardas
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना