धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ पर्यूषण पर्व संपन्न

Chhatarpur News - अब 15 को क्षमावाणी, 16 सितंबर को पालकी महोत्सव का जैन समाज करेगा आयोजन भास्कर संवाददाता। छतरपुर जिले के जैन...

Bhaskar News Network

Sep 13, 2019, 07:00 AM IST
Chhatarpur News - mp news paryushan festival concluded with religious and cultural programs
अब 15 को क्षमावाणी, 16 सितंबर को पालकी महोत्सव का जैन समाज करेगा आयोजन

भास्कर संवाददाता। छतरपुर

जिले के जैन धर्मावलंबियों का दस दिवसीय पर्युषण पर्व का गुरुवार की सुबह अनंत चतुर्दशी को समापन हो गया। इस वर्ष आचार्यश्री विद्यासागर महाराज की विदुषी शिष्या आर्यिका सकलमती माता के ससंघ सानिध्य में अतिशय क्षेत्र डेरापहाड़ी में चातुर्मास होने के कारण पर्युषण पर्व पर अत्यधिक उल्लास एवं धार्मिक प्रभावना देखी गई।

3 से 12 सितंबर तक चले पर्युषण पर्व के दौरान नगर के बड़े जैन मंदिर, डेरापहाडी जैन मंदिर, चैतगिरि मंदिर, हटवारा जैन मंदिर, ग्रीन एवेन्यू मंदिर आदि को सुंदर झालरों से सजाया गया। समाज के डॉ. सुमति प्रकाश जैन ने बताया कि पर्युषण पर्व के दौरान आत्मकल्याण के लिए दस धर्मों का पालन करने का प्रयास श्रद्धालुओं ने पूरे मनोयोग से किया, इस कारण पर्युषण पर्व को दश लक्षण पर्व भी कहते हैं। सह पावन दश धर्म उत्तम क्षमा, उत्तम मार्दव, उत्तम आर्जव, उत्तम शौच, उत्तम सत्य, उत्तम संयम, उत्तम तप, उत्तम त्याग, उत्तम आकिंचन और उत्तम ब्रह्मचर्य हैं। इसका पालन कर आत्मशुद्धि की ओर बढ़ा है। सभी जैन मंदिरों में श्रद्धालु पीले वस्त्र पहन कर गुरुवार की सुबह 7 बजे ही श्रीजी का पूजन, अभिषेक करने पहुंचते रहे और पूरे भक्तिभाव से धर्म ध्यान में लीन रहे। बड़े जैन मंदिर में पंडित र|ेश शास्त्री अाैर डेरापहाडी जैन मंदिर में माताजी के दश धर्मों पर प्रवचनों का लाभ श्रद्धालुओं ने उठाया। इन दस दिनों में नगर के मंदिरों में विविध धार्मिक, आध्यात्मिक अाैर सांस्कृतिक आयोजनों किया गया। सायंकाल सभी जैन मंदिरों में संगीतमयी मोहक आरती में भी सभी समाजजन भावविभोर होकर श्रीजी का मंगलगान किया।

आज से शुरू होंगे यह कार्यक्रम

डॉ. जैन ने बताया पर्यूषण पर्व के समापन कर बाद अब 13 सितंबर को बड़े जैन मंदिर में देवांगना नृत्य, 14 सितंबर को डेरापहाडी पर स्व रतनचंद जैन परमार्थिक ट्रस्ट द्वारा प्रतिभा सम्मान समारोह अाैर 15 सितंबर को क्षमावाणी कार्यक्रम होंगे। 16 सितंबर को श्रीजी का पालकी महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। जिसमे सुबह साढ़े 7 बजे श्री नेमिनाथ जिनालय से श्रीजी की पालकी अतिशय क्षेत्र डेरापहाड़ी पहुंचेगी। जहां धार्मिक विधिविधान से श्रीजी का मंगल पूजन, अभिषेक सहित अन्य कार्यक्रम होंगे। जैन समाज अध्यक्ष जयकुमार जैन, महामंत्री स्वदेश जैन सहित सभी कार्यकारिणी ने श्रद्धालुओं से इन सभी आयोजनों में आकर धर्म लाभ लेने की अपील की है।

X
Chhatarpur News - mp news paryushan festival concluded with religious and cultural programs
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना