लोकसभा चुनाव से पहले नियमितीकरण कराने की मांग को लेकर संविदा अधिकारी-कर्मचारियों ने खोला मोर्चा

Chhatarpur News - मप्र संविदा संयुक्त संघर्ष मंच के कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर बुधवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर एडीएम को...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 04:55 AM IST
Tikamgarh News - mp news regarding the demand for regularization before the lok sabha elections contract officials and employees opened the rally
मप्र संविदा संयुक्त संघर्ष मंच के कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर बुधवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर एडीएम को ज्ञापन सौंपा। संविदा कर्मचारियों का कहना है कि कांग्रेस सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। जब तक मांगे पूरी नहीं होती है तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

संविदा अधिकारी-कर्मचारी नियमितीकरण का आदेश आचार संहिता से पहले जारी करने की मांग रहे है। कर्मचारियों ने कलेक्टोरेट पहुंचकर नारेबाजी करते हुए एडीएम एसके अहिरवार को अपनी मांगो को पूरा कराने ज्ञापन सौंपा। जिला संयोजक अनुपम दीक्षित ने बताया कि ज्ञापन देने की खबर ट्विटर पर शेयर की थी। जिसके चलते कांग्रेस पदाधिकारियों से फोन पर चर्चा कर हमारी समस्याओं को जानने की कोशिश की। आश्वासन दिया कि जल्दी ही उनकी बात सीएम कमलनाथ के समक्ष रखेंगीं। दीक्षित ने बताया कि विधानसभा चुनाव के दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने घोषणा की थी कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही समस्त संविदा कर्मचारियों और आउटसोर्स कर्मचारियों का नियमितीकरण किया जाएगा। निष्कासित कर्मचारियों की बहाली की जाएगी। संविदा कर्मियों के विरोध के चलते ही प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ है। आचार संहिता से पहले नियमितीकरण के आदेश जारी हों। इस दौरान संविदा अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।

तरीचर कलां में गेहूं खरीद केन्द्र बनाए जाने की मांग की

निवाड़ी | प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति तरीचर कलां को गेहूं खरीद केन्द्र बनाए जाने की मांग को लेकर किसानों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया है कि तरीचर कलां सहकारी समिति के साथ अधिकारियों ने पक्षपात कर गेहूं खरीदी केन्द्र नहीं बनाया है। जिससे किसानों को अपनी उपज लेकर दूर दराज की समितियों पर जाना पड़ेगा। ज्ञापन देने वालों में कमलेश्वर देवलिया, ज्ञान सिंह पटेल, दिवाकर आदि शामिल हैं।





, उमाशंकर, संजीव कुमार शामिल हैं।

X
Tikamgarh News - mp news regarding the demand for regularization before the lok sabha elections contract officials and employees opened the rally
COMMENT