डी व ई ग्रेड वाले छात्रों की लगेंगी अतिरिक्त कक्षाएं

Chhatarpur News - अर्द्धवार्षिक परीक्षा का परिणाम सुधारने की कवायद भास्कर संवाददाता| छतरपुर माध्यमिक शिक्षा मंडल ने बोर्ड...

Oct 13, 2019, 07:05 AM IST
अर्द्धवार्षिक परीक्षा का परिणाम सुधारने की कवायद

भास्कर संवाददाता| छतरपुर

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने बोर्ड परीक्षा को लेकर अभी से जिलास्तर पर कमर कसने को लेकर आदेश जारी कर दिए हैं।

खासकर डी व ई ग्रेड के विद्यार्थियों के लिए अतिरिक्त कक्षाएं लगाने को कहा है। जिले के छतरपुर, बड़ामलहरा, नौगांव, गौरिहार, लवकुशनगर, राजनगर, बिजावर और बकस्वाहा ब्लाक में हाईस्कूल, हायर सेकंडरी का संचालन होता है। इनमें दोनों बोर्ड कक्षाओं 10वीं व 12वीं के करीब 29 हजार छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। शैक्षणिक गुणवत्ता व रिजल्ट में सुधार को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग के आला अफसरों का पारा चढ़ा हुआ है।

आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री क्रियावत ने निर्देश जारी किए हैं कि रिजल्ट बिगड़ा तो प्राचार्य कार्रवाई के लिए तैयार रहें। संबंधित प्राचार्य समेत अन्य जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई तय होगी। आयुक्त लोकशिक्षण क्रियावत ने कहा कि इस बार हाईस्कूल व हायर सेकंडरी स्कूलों में त्रैमासिक परीक्षा के रिजल्ट में डी व ई ग्रेड के छात्रों को चिह्नित कर उनके लिए सभी स्कूलों में विशेष कक्षाओं का आयोजन किया जाए। ताकि कमजोर छात्रों को वार्षिक परीक्षा के पहले कोर्स कवर करने के लायक तैयार किया जा सके।

वहीं प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि अरुण शमी ने जिला शिक्षा अधिकारी व राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के परियोजना समन्वयक स्तर पर निर्देश जारी किए कि हायर सेकंडरी की 50 छात्राओं के लिए पैरा मिलिट्री की ट्रेनिंग जिला मुख्यालय पर जल्द शुरू कराएं। ताकि इंटर पास करने के बाद छात्राओं को फोर्स में रोजगार के अवसर मिल सकें।

मैन पावर व संसाधनों का उपयोग करें प्राचार्य

एक परिसर-एक शाला योजना पर आयुक्त लोकशिक्षण जयश्री क्रियावत ने कहा कि प्राचार्यों का फोकस मैन पावर व संसाधनों के बेहतर उपयोग पर रहे। साइंस लैब नियमित खोली जाए। उनमें छात्रों को प्रायोगिक कार्य कराएं। चूंकि अगले दिनों में यानि दीपावली के बाद स्कूलों में छमाही परीक्षा की जाना है, ऐसे में तिमाही परीक्षा के नतीजों को लेकर अभी से सक्रियता बरती जा रही है। ताकि छमाही परीक्षा से ही अध्यापन को लेकर बेहतर हालात बन सकें। स्कूलों में संकायवार स्थिति में भी सुधार कराया जाएगा।

फिर से अच्छी पोजीशन पाएगा जिला

Ãछतरपुर जिला फिर से बोर्ड कक्षाओं में अच्छी पोजिशन पाएगा। बीते 5 सालों से 10वीं, 12वीं बोर्ड में जिले का दबदबा रहा है। टॉप-3 में आने का सिलसिला तो बरकरार है। स्टेट मैरिट में भी नाम आए हैं। निश्चित ही समय रहते और बेहतर करेंगे। - जेएन चतुर्वेदी, सहायक संचालक, छतरपुर

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना