व्यापारी ने शेड हटाने की कार्रवाई रुकवाई, तो सर्किट हाउस के पास दो महिलाओं ने टीम पर कर दिया पथराव

Chhatarpur News - शहर में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन अतिक्रमण विरोधी मुहिम चली। दिन बीतने के साथ यह मुहिम निष्प्रभावी होती जा रही...

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:25 AM IST
Chhatarpur News - mp news the trader stopped the removal of the shade then two women near the circuit house made the stone throwing on the team
शहर में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन अतिक्रमण विरोधी मुहिम चली। दिन बीतने के साथ यह मुहिम निष्प्रभावी होती जा रही है। कार्रवाई के दौरान मौजूद रहने वाले दल के अधिकारी भी एक-एक कर गायब होते जा रहे हैं। शहर के व्यापारी भी इन अधिकारियों से कम नहीं हैं, वे भी अतिक्रमण दल को देखकर अपना अतिक्रमण हटा लेते हैं, अधिकारियों के मुह फेरते ही फिर से रोड पर अतिक्रमण कर लेते हैं। शुक्रवार की दोपहर दल ने चौक बाजर में एक शेड हटाने की कोशिश की पर व्यापारी ने विरोध करके कुछ देर के लिए कार्रवाई रुकवा दी। वहीं शाम के समय सर्किट हाउस के पास स्थाई निर्माण रुकवाने पहुंचे दल पर दो महिलाओं ने पथराव कर दिया।

बाद में पहुंची महिला पुलिस ने महिलाओं को हिरासत में तो ले लिया है पर अतिक्रमण को नहीं हटाया जा सका। पिछले तीन दिन से शहर के मुख्य बाजार सहित बस स्टैंड नंबर 1 और 2 में फैले अतिक्रमण को हटाया गया। इस मुहिम के लिए कलेक्टर मोहित बुंदस ने एक दल बनाया है। इस दल में छतरपुर एसडीएम अनिल सपकाले, नायब तहसीलदार श्रीपत अहिरवार, नगर पालिका सीएमओ अरुण पटेरिया और पुलिस बल की तैनाती की गई है। इस दल में शामिल कर्मचारी तो रोजाना अपनी ड्यूटी कर रहे हैं, पर जैसे-जैसे समय बीतता जा रहा है, अधिकारी गायब होते जा रहे हैं। शहर में फैले अतिक्रमण को हटाने की शुरूआत 12 जून को हुई। पहले दिन तो सभी अधिकारी मौके पर पहुंचे। पर दूसरे दिन 13 जून को छतरपुर एसडीएम अनिल सपकाले नहीं पहुंचे।

अब शुक्रवार को नगर पालिका सीएमओ अरुण पटेरिया कार्रवाई के दाैरान नदारत रहे। हालांकि इस मामले में कलेक्टर मोहित बुंदस का कहना है कि बाजार को हर हाल में अतिक्रमण मुक्त बनाया जाएगा। जब तक पूरी तरह अतिक्रमण नहीं हटेगा यह मुहिम जारी रहेगी। व्यापारियाें काे सड़कें खुली छाेड़ने की अादत बनाना पड़ेगी।

दुकानदार ने रुकवाई कार्रवाई तो बुलाने पड़ी अतिरिक्त पुलिस : शुक्रवार की दोपहर इस दल में अधिकारियों के नाम पर सिर्फ नायब तहसीलदार श्रपत अहिरवार और नगर पालिका के संजेश नायक सहित एक एसआई मौजूद था। चौक बाजार में शेड का अतिक्रमण हटाने के दौरान एक दुकानदार इस दल को ललकारने लगा। बात बढ़ते देख नायब तहसीलदार ने एसआई से और पुलिस बल को बुलाया। इसके बाद वह अतिक्रमण हट सका। इस विवाद से नाराज पुलिस ने चौक बाजार में रखी तीन बाइक जब्त करके यातायात थाने पहुंचाईं। इसके पहले यह दल फव्वारा चौक से चौक बाजार तक सिर्फ रोड की फेरी लगाता दिखा। इस एक किमी की दूरी में एक भी अतिक्रमण नहीं हटाया गया।

फिर गायब होने लगा कॉम्पलेक्स: गुरुवार को बस स्टैंड नंबर 2 से महोबा रोड की ओर जाने वाली रोड पर दल ने अतिक्रमण हटाते हुए कई गुमटियां हटवाईं। इन गुमटियों के हटने के बाद पीछे एक महिला और पुरुष प्रसाधन का कॉम्पलेक्स निकलकर सामने आया। शुक्रवार की दोपहर महोबा रोड के लिए जाने वाले इस स्थान पर दुकानदारो ने अपनी दुकानें फिर से जमाना शुरू कर दिया है। यात्रियों की सुविधा के लिए बना यह कॉम्पलेक्स दो-तीन दिन में फिर से अतिक्रमण होने से गायब हो जाएगा।

प्रभारी सीएमओ और पुलिस जवान छिपते रहे: अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान प्रभारी सीएमओ संजेश नायक कहीं इस दुकान पर तो कहीं उस दुकान पर बैठे नजर आए। वहीं दूसरी ओर पुलिस टीम की ओर से एक एसआई पूरे समय नायब तहसीलदार श्रीपत अहिरवार रहे। बाकी का पुलिसबल कहीं इस दुकान पर तो कहीं उस दुकान पर लोगों से बातें करता नजर आया। यही कारण है कि चौक बाजार में एक दुकानदार का अतिक्रमण हटाने के दौरान वह झगड़ा करने को तैयार हो गया। कुछ समय बाद पुलिस बल के आ जाने के बाद दुकानदार का गुस्सा अपने अाप ही निकल गया।

छतरपुर। शैट हटाते नपा कर्मी।

भास्कर संवाददाता| छतरपुर

शहर में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन अतिक्रमण विरोधी मुहिम चली। दिन बीतने के साथ यह मुहिम निष्प्रभावी होती जा रही है। कार्रवाई के दौरान मौजूद रहने वाले दल के अधिकारी भी एक-एक कर गायब होते जा रहे हैं। शहर के व्यापारी भी इन अधिकारियों से कम नहीं हैं, वे भी अतिक्रमण दल को देखकर अपना अतिक्रमण हटा लेते हैं, अधिकारियों के मुह फेरते ही फिर से रोड पर अतिक्रमण कर लेते हैं। शुक्रवार की दोपहर दल ने चौक बाजर में एक शेड हटाने की कोशिश की पर व्यापारी ने विरोध करके कुछ देर के लिए कार्रवाई रुकवा दी। वहीं शाम के समय सर्किट हाउस के पास स्थाई निर्माण रुकवाने पहुंचे दल पर दो महिलाओं ने पथराव कर दिया।

बाद में पहुंची महिला पुलिस ने महिलाओं को हिरासत में तो ले लिया है पर अतिक्रमण को नहीं हटाया जा सका। पिछले तीन दिन से शहर के मुख्य बाजार सहित बस स्टैंड नंबर 1 और 2 में फैले अतिक्रमण को हटाया गया। इस मुहिम के लिए कलेक्टर मोहित बुंदस ने एक दल बनाया है। इस दल में छतरपुर एसडीएम अनिल सपकाले, नायब तहसीलदार श्रीपत अहिरवार, नगर पालिका सीएमओ अरुण पटेरिया और पुलिस बल की तैनाती की गई है। इस दल में शामिल कर्मचारी तो रोजाना अपनी ड्यूटी कर रहे हैं, पर जैसे-जैसे समय बीतता जा रहा है, अधिकारी गायब होते जा रहे हैं। शहर में फैले अतिक्रमण को हटाने की शुरूआत 12 जून को हुई। पहले दिन तो सभी अधिकारी मौके पर पहुंचे। पर दूसरे दिन 13 जून को छतरपुर एसडीएम अनिल सपकाले नहीं पहुंचे।

अब शुक्रवार को नगर पालिका सीएमओ अरुण पटेरिया कार्रवाई के दाैरान नदारत रहे। हालांकि इस मामले में कलेक्टर मोहित बुंदस का कहना है कि बाजार को हर हाल में अतिक्रमण मुक्त बनाया जाएगा। जब तक पूरी तरह अतिक्रमण नहीं हटेगा यह मुहिम जारी रहेगी। व्यापारियाें काे सड़कें खुली छाेड़ने की अादत बनाना पड़ेगी।

दुकानदार ने रुकवाई कार्रवाई तो बुलाने पड़ी अतिरिक्त पुलिस : शुक्रवार की दोपहर इस दल में अधिकारियों के नाम पर सिर्फ नायब तहसीलदार श्रपत अहिरवार और नगर पालिका के संजेश नायक सहित एक एसआई मौजूद था। चौक बाजार में शेड का अतिक्रमण हटाने के दौरान एक दुकानदार इस दल को ललकारने लगा। बात बढ़ते देख नायब तहसीलदार ने एसआई से और पुलिस बल को बुलाया। इसके बाद वह अतिक्रमण हट सका। इस विवाद से नाराज पुलिस ने चौक बाजार में रखी तीन बाइक जब्त करके यातायात थाने पहुंचाईं। इसके पहले यह दल फव्वारा चौक से चौक बाजार तक सिर्फ रोड की फेरी लगाता दिखा। इस एक किमी की दूरी में एक भी अतिक्रमण नहीं हटाया गया।

फिर गायब होने लगा कॉम्पलेक्स: गुरुवार को बस स्टैंड नंबर 2 से महोबा रोड की ओर जाने वाली रोड पर दल ने अतिक्रमण हटाते हुए कई गुमटियां हटवाईं। इन गुमटियों के हटने के बाद पीछे एक महिला और पुरुष प्रसाधन का कॉम्पलेक्स निकलकर सामने आया। शुक्रवार की दोपहर महोबा रोड के लिए जाने वाले इस स्थान पर दुकानदारो ने अपनी दुकानें फिर से जमाना शुरू कर दिया है। यात्रियों की सुविधा के लिए बना यह कॉम्पलेक्स दो-तीन दिन में फिर से अतिक्रमण होने से गायब हो जाएगा।

प्रभारी सीएमओ और पुलिस जवान छिपते रहे: अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान प्रभारी सीएमओ संजेश नायक कहीं इस दुकान पर तो कहीं उस दुकान पर बैठे नजर आए। वहीं दूसरी ओर पुलिस टीम की ओर से एक एसआई पूरे समय नायब तहसीलदार श्रीपत अहिरवार रहे। बाकी का पुलिसबल कहीं इस दुकान पर तो कहीं उस दुकान पर लोगों से बातें करता नजर आया। यही कारण है कि चौक बाजार में एक दुकानदार का अतिक्रमण हटाने के दौरान वह झगड़ा करने को तैयार हो गया। कुछ समय बाद पुलिस बल के आ जाने के बाद दुकानदार का गुस्सा अपने अाप ही निकल गया।

छतरपुर। दुसरे दिन ही गुमटी अपने स्थान पर वापिस।

महिलाओं ने अतिक्रमण दल पर किया पथराव:

अतिक्रमण विरोधी दल शुक्रवार की शाम सर्किट हाउस के नीचे और छतरपुर तहसील कार्यालय के पास पहुंचा। यहां सरकारी जमीन पर कब्जा करके अवैध निर्माण किया जा रहा है। जैसे ही नगर पालिका अमले ने इस पक्के अतिक्रमण को हटाने का प्रयास किया। मौजूद दो महिलाओं ने इस दल पर पत्थरों से हमला कर दिया। इसके बाद निर्भया टीम को मौके पर बुलाकर इन दोनाें महिलाओं को हिरासत में लिया। पत्थरों के हमले और हिरासत में लेने में करीब साढ़े 5 बज गए और यह अतिक्रमण नहीं हट सका। नायब तहसीलदार श्रीपत अहिरवार ने बताया कि दोनों महिलाओं को गिरफ्तार कर कोतवाली भिजवा दिया गया है। इसके साथ ही दोनों महिलाओं पर शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया है।

Chhatarpur News - mp news the trader stopped the removal of the shade then two women near the circuit house made the stone throwing on the team
Chhatarpur News - mp news the trader stopped the removal of the shade then two women near the circuit house made the stone throwing on the team
X
Chhatarpur News - mp news the trader stopped the removal of the shade then two women near the circuit house made the stone throwing on the team
Chhatarpur News - mp news the trader stopped the removal of the shade then two women near the circuit house made the stone throwing on the team
Chhatarpur News - mp news the trader stopped the removal of the shade then two women near the circuit house made the stone throwing on the team
COMMENT