न्यूज़

--Advertisement--

अब महिला गेस्ट टीचर ने कराया मुुंडन, रेगुलर करने की मांग को लेकर उठाया कदम

कर्मचारियों के अलग- अलग कैडर की मांगों को लेकर राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने का सिलसिला थम नहीं रहा है।

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 05:15 AM IST
महिला अध्यापकों के बाद अब अतिथ महिला अध्यापकों के बाद अब अतिथ

भोपाल. कर्मचारियों के अलग- अलग कैडर की मांगों को लेकर राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने का सिलसिला थम नहीं रहा है। महिला अध्यापकों के बाद कॉलेजों में कार्यरत महिला अतिथि विद्वानों ने मुंडन करवाकर गुस्से का इजहार किया। अतिथि विद्वान महासंघ के बैनर तले प्रदेश भर से आए ये कर्मचारी नियमित करने और पीएससी के जरिए की जा रही असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती निरस्त करने की मांग को लेकर नीलम पार्क में शनिवार से धरने पर डटे हैं। शनिवार को इन प्रदर्शनकारियों राहगीरों के बूट पॉलिश कर विरोध जताया था।

महिलाओं के अलावा कई पुरुष अतिथि विद्वानों ने भी सामूहिक मुंडन कराया। रायसेन के उदयपुरा में कार्यरत डॉ. पार्वती व्याघ्रे ने मुंडन करवाया। प्रदर्शन में उज्जैन, भोपाल, इंदौर, रीवा, सागर, होशंगाबाद, शहडोल समेत कई संभागों में अतिथि विद्वान शामिल हुए।


धरनास्थल पर हुई सभा को अध्यक्ष डॉ. देवराज सिंह, कार्यकारिणी के सदस्यों डॉ. नाहिद जहां, डॉ. सपना श्रीवास्तव, डॉ. ललित किशोरी, डॉ. वंदना मगरदे, डॉ. रचना श्रीवास्तव, डॉ. लीना दुबे, डॉ. यश कुमार, डॉ. श्रीकांत रिंगे सहित कई लोगों ने सभा को संबोधित किया। वक्ताओं ने कहा कि हम अपनी सेवाएं अनवरत दे रहे हैं लेकिन सरकार हमारी जायज मांगों पर ध्यान ही नहीं दे रही। इस वजह से हमें आंदोलन का रास्ता अख्तियार करना पड़ा। सभा में पहुंचकर युवा कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कुणाल चौधरी, संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष रमेश राठौर सहित कई नेताओं एवं कर्मचारी नेताओं ने भी संबोधित किया। आम आदमी पार्टी के संयोजक आलोक अग्रवाल भी अतिथि विद्वानों के समर्थन में धरनास्थल पर पहुंचे।

X
महिला अध्यापकों के बाद अब अतिथमहिला अध्यापकों के बाद अब अतिथ
Click to listen..