--Advertisement--

108 एंबुलेंस घायलों के लिए परेशानी का कारण बनी

ग्वालियर| प्रदेश की लाइफ लाइन कही जाने वाली 108 एंबुलेंस अब घायलों के लिए परेशानी का सबब बन रही है। मरीज कहीं का भी हो,...

Dainik Bhaskar

Aug 10, 2018, 02:25 AM IST
108 एंबुलेंस घायलों के लिए परेशानी का कारण बनी
ग्वालियर| प्रदेश की लाइफ लाइन कही जाने वाली 108 एंबुलेंस अब घायलों के लिए परेशानी का सबब बन रही है। मरीज कहीं का भी हो, उसे लेने के लिए पास की एंबुलेंस न भेजकर दूर की एंबुलेंस भेजी जा रही है। यही कारण है कि मरीज के परिजन इंतजार करके जब थक जाते हैं तो वह अपने साधन से मरीज को ले जाते हैं। ऐसा ही एक मामला बीते रोज देखने में आया। आकाशवाणी तिराहे पर एक छात्रा घायल हो गई। एक राहगीर ने 108 पर फोन लगाया। कॉल सेंटर में बैठे कर्मचारी ने कहा कि वह गिरवाई नाका की एंबुलेंस भेज रहे हैं। राहगीर राघवेंद्र शर्मा ने उसे यह भी बताया कि गिरवाई नाका बहुत दूर है, आसपास की एंबुलेंस भेजें। इसके बाद भी कॉल सेंटर के कर्मचारी ने उस एंबुलेंस को भेजा जो घाटीगांव से मरीज लेकर जेएएच आ रही थी। घाटीगांव में यह एंबुलेंस बारादरी लोकेशन से भेजी गई थी। आधा घंटे तक एंबुलेंस नहीं आई। इसी बीच छात्रा के परिजन आ गए और वे उसे अपने साथ अस्पताल ले गए। उधर, डबरा लोकेशन की एंबुलेंस गैरेज में खड़ी है। कोई एक्सीडेंट होने पर कॉल करता है तो उसके लिए भितरवार, टेकनपुर या फिर ग्वालियर से एंबुलेंस भेजी जा रही है।

X
108 एंबुलेंस घायलों के लिए परेशानी का कारण बनी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..