• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Dabra News
  • जनता के पैसे का उपयोग अपनी इच्छा की पूर्ति के लिए नहीं कर सकते जनप्रतिनिधि
--Advertisement--

जनता के पैसे का उपयोग अपनी इच्छा की पूर्ति के लिए नहीं कर सकते जनप्रतिनिधि

ग्वालियर| जनप्रतिनिधियों के पास जनता का पैसा होता है। वे उसका उपयोग अपनी मर्जी व इच्छा की पूर्ति के लिए नहीं कर...

Dainik Bhaskar

Jul 10, 2018, 03:10 AM IST
ग्वालियर| जनप्रतिनिधियों के पास जनता का पैसा होता है। वे उसका उपयोग अपनी मर्जी व इच्छा की पूर्ति के लिए नहीं कर सकते। इस टिप्पणी के साथ न्यायमूर्ति आनंद पाठक ने डबरा नगरपालिका अध्यक्ष पद से हटाईं गईं सत्यप्रकाशी परसेड़िया की याचिका खारिज कर दी। कोर्ट ने कहा कि याची ने दुराचार से जनता का भरोसा तोड़ा है, ऐसे में जनहित व परिषद के हित देखते हुए याचिकाकर्ता को बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

बसपा नेता सत्यप्रकाशी परसेड़िया को आर्थिक अनियमितता करने का दोषी पाए जाने पर नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के प्रमुख सचिव ने डबरा नपाध्यक्ष पद से हटाने का आदेश दिया। साथ ही अगला चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित किया है। आदेश को उन्होंने हाईकोर्ट में चुनौती देकर कहा कि चूंकि वे दूसरे राजनीतिक दल से हैं, इससे वो सत्तारूढ़ दल की आंखों में चुभती हैं। प्रमुख सचिव ने उनका पक्ष सुने बिना हटाने का आदेश दिया।

ये है मामला: 25 जून 2012 को डबरा नपा ने प्रस्ताव पारित कर 59 पंप ऑपरेटरों का कार्यकाल बढ़ाया था। साथ ही प्रक्रिया का पालन नहीं करते हुए अपने चहेते 24 और पंप ऑपरेटरों को नियुक्त कर दिया। इसे लेकर लोकायुक्त में शिकायत की गई, जिस पर कार्रवाई करते हुए जांच का जिम्मा नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर को सौंपा गया। शिकायत सही पाए जाने पर सत्यप्रकाशी परसेड़िया को नगरपालिका अध्यक्ष पद से हटाने का आदेश दिया गया था।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..