--Advertisement--

सुबह से दोपहर तक गुरु पूजन, फिर बंद हो जाएंगे पट

Dabra News - ग्वालियर | गुरु पूर्णिमा को लेकर शहर के सभी मंदिरों, आश्रमों व आयोजन स्थलों पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।...

Dainik Bhaskar

Jul 27, 2018, 03:10 AM IST
सुबह से दोपहर तक गुरु पूजन, फिर बंद हो जाएंगे पट
ग्वालियर | गुरु पूर्णिमा को लेकर शहर के सभी मंदिरों, आश्रमों व आयोजन स्थलों पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। शुक्रवार को दोपहर 2.54 बजे से खग्रास चंद्रग्रहण का सूतक लगने के कारण ज्यादातर स्थानों पर गुरु पूजन के मुख्य कार्यक्रम सुबह के समय ही आयोजित किए जाएंगे। इसके बाद मंदिरों के पट बंद कर दिए जाएंगे। गिर्राज जी की परिक्रमा लगाने जाने वाले श्रद्धालुओं की गुरुवार को रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड पर खासी भीड़ रही। यही स्थिति पीतांबरा और दंदरौआ जाने वाले श्रद्धालुओं की रही। मंशापूर्ण हनुमान मंदिर में स्वामी अवधेशानंद महाराज की चरण पादुका का पूजन शनिवार को शाम 5.30 बजे होगा। वहीं कई स्थानों पर गुरुवार को गुरु पूर्णिमा मनाई गई। लक्ष्मीनारायण मंदिर में भगवान लक्ष्मीनारायण का अभिषेक कर उनकी पूजा की गई।

गिर्राज जी, पीतांबरा व दंदरौआ जाने वाले श्रद्धालुओं की रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड पर रही भीड़

1. विश्व जागृति संगठन





सुधांशु महाराज

2. ऑर्ट ऑफ लिविंग





श्री श्री रविशंकर महाराज

3. पतंजलि योग समिति





स्वामी बाबा रामदेव

4. दंदरौआ सरकार पब्लिक ट्रस्ट





स्वामी रामदास महाराज

लक्ष्मीनारायण मंदिर में भगवान का अभिषेक किया गया। दूसरे चित्र उपस्थित श्रद्धालु।

प्रभु प्रेमी संघ (स्वामी अवधेशानंद महाराज)



स्वामी अवधेशानंद

5. रामाश्रम सत्संग





डॉ. चतुर्भुज सहाय महाराज

6. मानव उत्थान सेवा समिति





श्री सतपाल महाराज

7. श्रीरामशरणम् सत्संग





स्वामी सत्यानंद महाराज

8. श्री साईं भक्त मंडल ट्रस्ट





साईं बाबा मंदिर विकास नगर

8. गायत्री परिवार





9. महामाया शक्ति पीठ





महर्षि बालकृष्ण महाराज

10. बालाजीधाम धर्मार्थ समिति





11. श्री विजय राघव सरकार ट्रस्ट



करहधाम



गुरुओं का हुआ सम्मान

गुरु ही शिष्य में जीवन जीने की योग्यता विकसित करता है

संस्कार मंजरी के कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि।

ग्वालियर | शिष्य को संस्कारित कर उसमें मानवीय जीवन जीने के लिए योग्यता विकसित करने का काम गुरु ही करते हैं। यह कहना था एसपी नवनीत भसीन का। वह गुरु पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर आयोजित सम्मान समारोह में बोल रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन माधव संगीत एवं ललित कला संस्थान में गुरुवार को किया गया। कार्यक्रम का आयोजन संस्कार मंजरी संस्था ने कराया।

इनका हुआ सम्मान

गुरु सम्मान में गायन के क्षेत्र में डॉ. प्रभाकर गोहदकर, साहित्य में रामप्रकाश अनुरागी, कथक में पुुरुषोत्तम नायक, भरतनाट्यम में पद्मजा पिल्लई, योग में गजानन दुबे, चिकित्सा में डॉ. अजय गौड़, नाटक में डॉ. आलोक शर्मा, तबला में डॉ. मुकेश सक्सेना और चित्रकला में डॉ. मधुसूदन शर्मा का सम्मान किया गया।

भगवान लक्ष्मी नारायण का अभिषेक कर किया विशेष शृंगार

जनकगंज स्थित श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर में गुरुवार को गुरु पूर्णिमा उत्सव श्रद्धाभाव के साथ मनाया गया। इस अवसर पर बाबा महाराज ने भगवान लक्ष्मी नारायण का दूध-दही से अभिषेक करने के बाद विशेष शृंगार किया। इसके उपरांत श्रद्धालुओं ने आरती उतारी। अंत में मंदिर में उपस्थित बाबा महाराज के शिष्यों ने बाबा महाराज की चरण पादुका का पूजन कर उनसे आशीर्वाद लिया।

X
सुबह से दोपहर तक गुरु पूजन, फिर बंद हो जाएंगे पट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..